नवग्रहों में मंगल को उच्च स्थान प्राप्त है साथ ही ज्योतिष शास्त्र में भी मंगल को काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानंद शास्त्री के अनुसार वैदिक ज्योतिष में मंगल को क्रूर और ऊर्जा प्रदान करने वाले ग्रह के रूप में जाना जाता है. यह जातक के मन और बुद्धि को तेज़ करने वाला ग्रह है.इसके प्रभाव से मनुष्य अपने जीवन यात्रा में साहसी कार्य को अंजाम देता है, क्योंकि मंगल ग्रह साहस का कारक है. 7 नवंबर यानी बुधवार को मंगल मकर से कुंभ राशि में प्रवेश कर चूका है. मंगल के राशि परिवर्तन से चार राशियों मेष, कर्क, धनु, कुंभ राशि वालों का अच्छा समय आने वाला है. मंगल का 12 राशियों पर अलग-अलग तरीके से प्रभाव डालेगा. जानिए सभी राशियों पर कैसा होगा मंगल का प्रभाव ….

मेष : मेष राशि में मंगल एकादश भाव में होगा. यहां मंगल लग्नेश व अष्टमेश होता है. ये शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने का योग बनाता है. कोई शुभ समाचार भी मिल सकता है.

वृषभ : वृषभ राशि में मंगल दशम भाव में होगा. वृषभ राशि में मंगल सप्तमेश एवं व्ययेश होने के कारण द्वितीय मारकेश है. फलत: यह अशुभ फलदायी होगा. जातक को संतान के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है. यदि जातक नौकरी की तलाश में है, तो यह समय शुभ होगा. उपाय हेतु मंगल चंडिका स्त्रोत पढ़ें, लाभ होगा.

मिथुन : इस राशि में मंगल नवम भाव में होगा. यहां मंगल षष्ठेश व लाभेश होने के कारण अशुभ फलदायक है. इस समय जातक का स्वास्थ खराब हो सकता है लेकिन बच्चों की तरफ से कोई खुशखबरी मिल सकती है.

कर्क : कर्क राशि में मंगल अष्टम भाव में रहेगा. यहां मंगल लाभ स्थान में होगा. इस समय जातक को कानूनी रुप से सफलता मिलने के संकेत मिल रहे हैं.

सिंह : सिंह राशि में मंगल सप्तम भाव में होगा. यहां मंगल केंद्र और त्रिकोण दोनों का स्वामी है. ऐसे में जातक के विवाह जीवन में कलह हो सकती है. शांति के लिए हनुमान जी की पूजा करें.

कन्या : कन्या राशि में मंगल षष्ठ भाव में होगा. यहां यह तृतीयेश एवं अष्टमेश होने से परम पापी है. कन्या राशि के जातकों के लिए यह नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा. जातक को कोर्ट से संबंधित कोई परेशानी हो सकती है. इस दौरान शत्रुओं से विशेष रूप से सावधान रहने की आवश्यकता है.

तुला : तुला राशि में मंगल पंचम स्थान में होगा. तुला लग्न में मंगल द्वितीयेश एवं सप्तमेश होने से मुख्य मारक ग्रह हैं. जातक को संतान की ओर से दुःख प्राप्त होगा. 

वृश्चिक : वृश्चिक राशि में मंगल चतुर्थ भाव में होगा. यहां मंगल लग्नेश एवं षष्ठेश है लेकिन लग्नेश होते हुए भी यह पापी है. यदि कुंडली में मंगल बली है, तो शुभ फल देगा अन्यथा अशुभ फल देगा. यदि इस राशि के जातक सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं, तो यह इनके लिए शुभ समय है.

धनु : धनु राशि में मंगल तृतीय भाव में होगा. धनु राशि में मंगल पंचमेश व खर्चेश है. मंगल खर्चेश होते हुए भी शुभ योग प्रदाता है, क्योंकि यह गुरु का मित्र है. बच्चों से लाभ होगा.

मकर : मकर राशि के जातकों के द्वितीय भाव में मंगल उपस्थित होगा. मकर राशि में मंगल चतुर्थेश या लाभेश होने से अशुभ है. ऐसे में संतान की ओर से सतर्क रहें. मंगल के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए दोपहर के समय बच्चों में चना – गुड़ आदि बांटे, लाभ होगा.

कुम्भ : कुम्भ राशि के जातकों के प्रथम भाव में उपस्थित होगा. कुम्भ राशि में मंगल तृतीयेश एवं राज्येश है. कुम्भ राशि में मंगल शुभ एवं अशुभ दोनों फल देता है. विवाह में अचानक से रुकावट या विलंब होने संभावना है.

मीन : मीन राशि में यह मंगल द्वादश भाव में होगा. मीन राशि में मंगल धनेश एवं भावेश दोनों है. यहां मंगल शुभ फल दायी है लेकिन जातक के विवाह में विलम्ब हो सकता है. विवाह विलम्ब की स्थिति में जातक घट विवाह करें, लाभ होगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।