मुंबई. मोबाइल फोन का प्ले स्टोर भी एक बड़ा खतरा बन चूका है. खास तौर पर महिलाओं के लिए. अगली बार से जब भी आप अपने मोबाइल प्ले स्टोर से एप्लिकेशन डाउनलोड करें तो ज़रा सम्भल कर क्योंकि ये आपकी निजता के लिए घातक हो सकता है, मुंबई में एक ऐसा ही अनोखा मामला सामने आया है. 

समाचार वेबसाइट न्यूज़ 24 ऑनलाइन में प्रकशित खबर के मुताबिक  मुंबई सायबर सेल ने मुंबई के बांद्रा इलाके में रहने वाले अनंस आसिफ अंसारी नामक युवक को गिरफ्तार किया है. जिसको किसी ने बताया की गर्लफ्रेंड चाहिए तो एक खास एप्लिकेशन है उसे डाउनलोड कर लो. अनस ने प्ले स्टोर से "Girl friend Search for WhatsApp नामक एप्लिकेशन डाउनलोड कर लिया.

जिसके बाद शुरू हुआ लड़कियों को परेशान करने वाला गंदा खेल, इस एप्लिकेशन को जब एक चैनल के संवाददाता  ने भी डाउनलोड किया तो एक दो नहीं बल्कि 500 से ज्यादा अज्ञात नंबर अपने आप मोबाइल में सेव हो गए, सबसे हैरानी वाली बात है की इनमे से अधिकतर नंबर लड़कियों के ही है, इसी तरह इस आरोपी अनस ने जब एप्लिकेशन "Girl friend Search for WhatsApp "डाउनलोड  तो उसके कॉन्टेक्ट लिस्ट अचानक बढ़ गए, उसने सभी नंबर को बारीकी से खंगाला, जिन लड़कियों ने व्हाट्सअप डीपी लगायी थी, जो लड़कियां इसे खूबसू रत  और अच्छी लगी उन सभी को कॉल और मैसेज करना शुरू कर दिया. क्राइम ब्रांच के डीसीपी अकबर पठान के अनुसार इस एप्लिकेशन कि जांच की जा रही है.

आखिर ये कैसे किसी का नंबर इस एप्लीकशन में मर्ज हुआ डाऊनलोड होते है, "Girlfriend Search For Whats App" पुलिस की जांच में तब सामने आया जब मुंबई क्राइम ब्रांच ने 22 अक्टूबर को 23 साल के आरोपी अनस अंसारी को गिरफ्तार किया. यह अश्लील मैसेज और अश्लील फोटोज भी लड़कियों को भेजता था, जांच में पता चला इसने तकरीबन 35 से 40 लड़कियों को अब तक अश्लील मैसेज, और कॉल कर चूका है, कई लड़कियों ने तो इसके नंबर को ब्लॉक कर दिया, पर एक पीड़िता को जब इसने जरूरत से ज्यादा परेशांन करना शुरू कर दिया तो उसने इसकी शिकायत 14 अक्टूबर को कस्तूरबा पुलिस की सायबर सेल को कर दी.

पीड़िता की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को ढूढ़ना शुरू कर दिया.

पुलिस ने अलग अलग टीमें बनायीं, शुरुआत के कुछ दिनों में आरोपी पुलिस की पहुंच से बाहर था, क्यूंकि इसने अपना घर का एड्रेस बदल लिया था फिर पुलिस ने सीडीआर के जरिये आरोपी का लोकेशन ट्रेक कर लिया, मुंबई के बांद्रा नौपाडा इलाके में पुलिस को आरोपी का लोकेशन मिला, अलग अलग पुलिस ने टीम बनायीं और ट्रेप लगाकर आरोपी अनस  अंसारी को गिरफ्तार कर लिया, पुलिस भी हैरान है.आखिर एक एप्लिकेशन एप डाऊनलोड होने पर कैसे किसी का नंबर लिंक हो सकता है यह वाकई में लड़कियों के लिए ज्यादा खतरा है

वहीं सूत्रों के मुताबिक़ जब पीड़िता आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराने गयी थी तब उसका पति भी उसके साथ गया था पति को पत्नी पर ही शक होने लगा था की उसकी पत्नी का पर्सनल नंबर आखिर कैसे किसी के पास हो सकता है, गनीमत रही पीड़िता की तरफ से कोई भी जवाब और मैसेज नहीं किया गया.  आरोपी पीड़िता को जुलाई 2018 से अश्लील मैसेजेस अश्लील फोटोज भेज रहा था.

डीसीपी क्राइम ब्रांच अकबर पठान ने उन सभी महिलाओ से अपील की है जिस किसी के साथ इसने ऐसा किया हो वो सभी पीड़िता सामने आये और पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाए, पुलिस ने सायबर सेल का नंबर भी साझा किया है 09820810007"

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।