इनदिनों. वर्ष 2013 में हुए राजस्थान विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पूर्ण बहुमत हांसिल करते हुए 200 में से 163 सीटों पर जीत दर्ज करवाई थी, जबकि कांग्रेस को महज 21 सीटें मिली थी.

इन पांच वर्षों में कई राजनीतिक बदलाव आए हैं, जिनके नतीजे में राजस्थान की सियासी तस्वीर बदल गई है. भाजपा के बड़े नेता रहे घनश्याम तिवाड़ी भाजपा से अलग होकर नई पार्टी बना चुके हैं तो 2013 में भाजपा से अलग हो कर चुनाव लड़ने वाले किरोड़ी लाल मीणा अब भाजपा के साथ हैं, बावजूद इसके वर्ष 2013 के सापेक्ष इस वक्त कांग्रेस बेहतर स्थिति में नजर आ रही है तो भाजपा के सामने अपनी सीटें बचाने की चुनौती है.

कांग्रेस की जीती हुई सीटों के अलावा कई ऐसी सीटें हैं जहां भाजपा ने दस हजार से कम वोटों से जीत दर्ज करवाई थी, इन कच्ची सीटों को कांग्रेस हांसिल करने की उम्मीद कर सकती है तो कई ऐसी सीटें हैं जिन पर भाजपा ने तीस हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज करवाई थी, ऐसी पक्की सीटों पर जीत दर्ज करवाना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती है!

भाजपा की कच्ची सीटें जिन पर भाजपा ने दस हजार से कम वोटों से जीत हांसिल की थी, हैं- सार्दुलपुर, करणपुर, खाजूवाला, बीकानेर वेस्ट, श्रीमाधोपुर, फतेहपुर, विराट नगर, शाहपुरा, किशनपोल, आदर्श नगर, रामगढ़, कामा, बयाना, धौलपुर, हिंडौन, बामनवास, निवाई, मसूदा, केकड़ी, नागौर, शेरगढ़, जैसलमेर, आहोर, गोगंुदा, झाड़ोल, धरियावद, डंूगरपुर, सागवाड़ा, ेुशलगढ़, निंबाहेड़ा, पीपलदा, अंता आदि.

ये सीटें जीतना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती है, जहां भाजपा ने तीस हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज करवाई थी- हनुमानगढ़, बीकानेर इस्ट, सूरजगढ़, धौद, खंडेला, नीम का थाना, चैमू, दूदू, जमवारामगढ़, विद्याधर नगर, मालवीया नगर, बगरू, तिजारा, अलवर शहर, मालपुरा, किशनगढ़, पुष्कर, ब्यावर, मेड़ता, जैतारण, सुमेरपुर, फलौदी, भोपालगढ़, लूणी, बिलाड़ा, झालरपाटन, पोकरण, खानपुर, शिव, रामगंज मंडी, गुढ़ामलानी, जालौर, शाहपुरा, भीनमाल, छबड़ा, रानीवाड़ा, डग, पिंडवाड़ा-आबू, रेवदर, मनोहर थाना, सलूंबर, कपासन, कोटा दक्षिण, प्रतापगढ़, राजसमंद, मांडल, भीलवाड़ा आदि.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।