खबरार्थ. अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद प्रमुख प्रवीण तोगड़िया ने राजनीति में उतरने का एलान कर दिया है. वे लगातार राम मंदिर निर्माण को लेकर पीएम मोदी सरकार पर आक्रामक रूख अपनाए हुए हैं तथा राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लेकर अयोध्या पहुंचे एएचपी के प्रमुख प्रवीण तोगड़िया ने नई राजनीतिक पार्टी- अंतरराष्ट्रीय जनता पार्टी, बनाने की घोषणा कर दी है.

प्रवीण तोगड़िया कामयाब होंगे, यह अभी कहना जल्दीबाजी होगी, लेकिन इतना तय है कि पीएम नरेन्द्र मोदी की सत्ता की राह जरूर मुश्किल कर देंगे! वजह? इस वक्त दो तरह के भाजपा समर्थक हैं, एक... जो सरकारी नजरिए से हक हांसिल करना चाहते हैं, और दो... जो हर हाल में हक पाना चाहते हैं, मतलब... नरम दल और गरम दल! 

वर्ष 2014 तक गरम दल की पहली पसंद पीएम नरेन्द्र मोदी थे, किन्तु समय गुजरने के साथ यह पसंद बदल रही है? जाहिर है, गरम दल का साथ तोगड़िया को मिल सकता है!

ऐसी स्थिति में तोगड़िया भले ही कामयाब नहीं हों, परन्तु एक नई ताकत बन कर जरूर उभर सकते हैं, और उनके कारण 2019 में केन्द्र की सत्ता फिर से हांसिल करने का पीएम मोदी का सपना, सपना ही रह जाएगा?  

भाजपा के भीतर बैठे पीएम मोदी विरोधियों का साथ और शिवसेना जैसे समान विचार वाले राजनीतिक दलों का साथ, यदि तोगड़िया को मिल गया तो 2019 के आम चुनाव में पूरी सियासी तस्वीर ही बदल जाएगी!

खबर है कि... नई पार्टी की घोषणा के साथ ही तोगड़िया ने लोकसभा चुनाव लड़ने और केन्द्र में सरकार बनने के तीन महीने के भीतर राम मंदिर के निर्माण का भी दावा किया है!  

उल्लेखनीय है कि... प्रवीण तोगड़िया कुछ समय से पूरे देश के दौरे कर रहे थे, यही नहीं बहुत पहले से ही- इस बार हिंदू सरकार! का नारा बुलंद कर रहे थे, और इसीलिए माना जा रहा था कि वे जल्दी ही राजनीतिक दल बनाएंगे!

अयोध्या में एएचपी समर्थकों की मौजूदगी में तोगड़िया ने इस नई पार्टी के गठन की घोषणा की और आम चुनाव- 2019 में सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान किया. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि सरकार बनते ही अल्पसंख्यक जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाएंगे! 

प्रेस रिपोर्ट्स की माने तो... अयोध्या में उस समय तनाव की स्थिति बन गई जब अचानक काफी संख्या में एएचपी कार्यकर्ता रामकोट परिक्रमा के लिए आगे बढ़ने लगे और अयोध्या की तरफ जाने वाले एक बैरियर को धकेलकर समर्थकों ने जबरन घुसने की कोशिश की. बताया जाता है कि... इस दौरान पुलिस से उनकी झड़प भी हो गई. 

सवाल यह है कि यदि अयोध्या में 6 दिसंबर जैसा माहौल फिर से बनता है तो पीएम मोदी और सीएम योगी क्या करेंगे?

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।