पलपल संवाददाता, जबलपुर. विधानसभा चुनाव में एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए अभी तक तो रुपया खर्च किया जाता रहा, लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव में राजनीतिक समीकरण कुछ अलग ही अंदाज में सामने आ रहे है, शहर के एक विधानसभा क्षेत्र में तो चुनावी सरगर्मी का यह आलम है कि नेताजी ने ठान लिया है कि यदि उन्हे कांग्रेस से टिकट नहीं दिया गया तो वे दूसरी पार्टी में इन्ट्री मारकर चुनाव लड़ जाएगें, खासबात तो यह है कि चुनाव लडऩे का उद्देश्य जीतना नहीं है बल्कि अपने पुराने खास भईया को हराना है. अब देखना यह है कि भईया को हराने का उद्देश्य रखने नेताजी अपने मंसूबों में कितना कामयाब हो पाते है.

हाथ, पैर तो हर तरफ मार रहे नेताजी

कभी भाजपा में एक तरफा सत्ता चलाने वाले नेताजी की हालत इन दिनों न घर के रहे, न घाट के, जैसी है. नेताजी ने एक बार चुनाव क्या हारे, दोबारा चुनाव लडऩे के लिए विधानसभा क्षेत्र ही नजर नहीं आ रहा है, ग्रामीण की राजनीति में सक्रिय नेताजी ने इस बार शहर की राजनीति में हाथ, पैर मार रहे है, जिन्होने पश्चिम व उत्तर-मध्य विधानसभा में अपनी नजरें गड़ा दी है, जहां पर पहले से ही भाजपा के अन्य नेताजी लोग अपनी नजरें जमाए बैठे है. ऐसे में सफे दी की चमकार लिए नेताजी का क्या होगा, खैर जो भी, नेता जी ने टिकट पाने के लिए भोपाल से लेकर दिल्ली तक अपनी पहुंच के घोड़े दौड़ा दिए है.

महिला नेत्री की सक्रियता ने उड़ दी नींद-

भाजपा का गढ़ मानी जाने वाली पूर्व विधानसभा सीट से पहले तो भाई साहब का नाम ही फाइनल ही है लेकिन पिछले कुछ दिनों में अचानक सक्रिय हुई महिला नेत्री ने भाई साहब की नींद उड़ा दी है. भाजपा में सक्रियता से कार्य करने वाली महिला नेत्री ने संगठन से अपने लिए टिकट मांगकर सारे समीकरण बिगाड़ दिए है. बिगड़ते हुए समीकरणों के बीच भईया की हालत क्या होगी, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा. यह बात जरुर है कि इस बदलाव हुए तो इसका फायदा दूसरे वाले भाई साहब को मिलने के आसार जरुर बढ़ जाएगें. खैर मामला जो भी मैडम जी की टिकट वितरण में हुई इन्ट्री ने भईया की नींद जरुर उड़ाकर रख दी है.

अभी मौके और मिलेगें-

शारदेय नवरात्र का पर्व इस बार चुनाव लडऩे वाले दावेदारों के लिए काफी फलदायक रहा, दावेदारों ने अपनी अपनी विधानसभा क्षेत्र में दुर्गा पंडालों में जाकर मातारानी का आर्शीवाद प्राप्त तो किया, साथ ही दुर्गा समिति के सदस्यों को भी यह कहकर खुश कर दिया कि चिंता न करना हम आपके साथ है. इस मौके का दावेदारों ने भरपूर फायदा उठाया और अभी आने वाले दिनों में एक और मौका मिलेगा, जिसमें क्षेत्र के लोगों को मिठाई के साथ पटाखे भी मिलेगें, खैर अच्छा है कम से कम त्यौहारों के बीच चुनाव का माहौल क्षेत्र की जनता के लिए तो फायदेमंद है, आगे तो नेताजी लोगों का रवैया कैसा रहेगा यह बात तो किसी से छिपी नहीं है.

अजय श्रीवास्तव, प्रदीप मिश्रा, शिशिर दुबे

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।