पलपल संवाददाता, जबलपुर. आगामी दिनों में जबलपुर में मुख्यमंत्री जन-आशीर्वाद यात्रा होने जा रही है. इस यात्रा को सफल बनाने में संगठन पूरी तरह से जुट गया है, इसी यात्रा की तैयारियों के लिए आज शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा जबलपुर पहुंचे, जहां पर उन्होंने जबलपुर संभाग के जन-आशीर्वाद यात्रा प्रभारी प्रभात साहू व अन्य नेताओं के साथ आयोजन के संबंध में विस्तार से चर्चा की. चर्चा यह है कि श्री झा ने स्पष्ट कर दिया है कि मुख्यमंत्री जन-आशीर्वाद यात्रा को हरहाल में सफल बनाना ही होगा और इसी की सफलता पर टिकट के दावेदारों की सक्रियता भी सामने आयेगी. इस यात्रा पर दो प्रभात (प्रभात झा व प्रभात साहू) दोनों की प्रतिष्ठा दांव पर है, लेकिन जानकारों की माने तो श्री झा से ज्यादा प्रतिष्ठा जबलपुर के पूर्व महापौर साहू की लगी हुई है, क्योंकि वे लगातार विधानसभा की टिकट के लिए दावेदारी जता रहे हैं. इसलिए उन्होंने यात्रा को सफल बनाने मेें तन-मन-धन सब कुछ झोंक दिया है, ताकि यात्रा सफल हो तो इसका राजनीतिक रूप से लाभ उन्हें मिले, अब देखना यह है कि बड़े प्रभात की छत्रछाया में छोटे प्रभात का राजनीतिक सूर्य उदय होता है या फिर..?

चाहे कुछ हो जाए, टिकट तो अपुन को ही मिलेगी..

- भैया, अब तो दशहरा का त्यौहार भी निपट गओ, बताओ टिकट किसे मिलेगी, यह सवाल कार्यकर्ता अपने-अपने नेताओं से पूछ रहे हैं. नेताजी भी अंदर ही अंदर भले ही टेंशन में हों, लेकिन कार्यकर्ताओं का मॉरल डाउन नहीं होने दे रहे, वे कार्यकर्ताओं को बार-बार यही कहकर आश्वस्त कर रहे हैं कि चाहे कुछ भी हो जाए, कितने भी दावेदार सामने आएं, लेकिन टिकट तो अपने को ही मिलेगी, इसलिए जुट जाओ चुनाव लडऩे की तैयारी में, कोई कोर-कसर नहीं छोड़ो. अब कार्यकर्ता काफी होशियार, वह सब कुछ जान-समझ रहा है कि नेताजी चाहे कुछ भी बोलें, लेकिन इस बार जब तक टिकट फाइनल न हो, तब तक ऊंट किस करवट बैठेगा, यह कोई भी नहीं कह सकता.

सोशल मीडिया पर आ रही लिस्टों से बढ़ रही दावेदारों की धड़कनें

- सूत न कपास, जुलाहों में लट्ठम-लट्ट, कुछ इसी तरह की स्थिति इन दिनों विधानसभा टिकट के दावेदारों में मची हुई है. कमोबेश इस तरह की स्थिति से कोई भी राजनीतिक दल अछूता नहीं बचा है. आखिरकार ऐसा हो भी क्यों नहीं, सोशल मीडिया में आये दिन नई-नई लिस्ट जारी हो रही हैं, इस लिस्ट की सत्यता जाने-परखे बगैर इस पर प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है, जिन लोगों का नाम लिस्ट में है, वे और उनके कार्यकर्ता जश्न मनाने लगते हैं, जिनका नाम नहीं होता, वे मायूस होकर सामने वाले को कोसने में जुट जाते हैं. इस लिस्ट की सत्यता के बारे में संगठन द्वारा लगातार स्पष्टीकरण देकर मामले को शांत कराने का प्रयास कर रहा है, किंतु एक बार जिसका नाम लिस्ट में आ जाता है, वे अपने को टिकट की दौड़ में सबसे आगे तो मान ही रहा है.

नेताओं का खजाना दुर्गा समितियों के लिए खुला रहा, दिया भरपूर चंदा

इस बार दुर्गात्सव का आयोजन विधानसभा चुनाव की घोषणा के बीच हुआ, सो हो गई समितियों की बल्ले-बल्ले, पिछले चार सालों में इन नेताओं के द्वार पर पहुंंचने वाले कार्यकर्ताओं को चंदा के लिए नेताजी की कंजूसी का सामना करना पड़ता रहा, लेकिन जैसे ही चुनाव आया, टिकट के दावेदार अचानक दानवीर के रूप में नजर आने लगे, उनके पास जो समिति वाले पहुंच रहे थे, उन्हें तो भरपूर चंदा दिया ही गया, साथ ही जो समिति वाले नहीं पहुंचे थे, उनके पास पहुंचकर लिफाफा दिया गया, यह सब इसलिए कि चुनाव के दौरान समिति के कार्यकर्ता उनके पक्ष में जमकर प्रचार-प्रसार करें. अब देखने वाली बात यह है कि चंदा तो कांग्रेस व भाजपा दोनों दलों के नेताओं द्वारा दिया गया, समिति के कार्यकर्ताओं में भी असमंजस है कि दोनों में से किसका समर्थन किया जाए.

- रिपोर्ट- प्रदीप मिश्रा, अजय श्रीवास्तव.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।