जबलपुर. कभी मुख्यमंत्री पद का ख्वाब देखने वाले नेताजी की आज ऐसी हालत है कि उन्हे चुनाव लडऩे के लिए जगह नहीं मिल पा रही है, यहां तक कि ग्रामीण क्षेत्र में रायशुमारी में नेताजी का नाम तक दिया गया, ऐसे में नेताजी के लिए शहर की चार विधानसभा में सेंध मारने के अलावा कोई चारा नहीं रह गया है. नेताजी ने शहर के दो विधानसभा क्षेत्र उत्तर-मध्य व पश्चिम की ओर निगाह दौड़ाई है लेकिन वहां पर दावेदारों की भीड़ पहले से ज्यादा है, जो नेताजी को आते देख खदेडऩे के लिए तैयार हो जाएगें. इसलिए कहते है कि भईया थोड़ा कम आरारोट पिया करो, वक्त किसी का कभी नहीं हुआ है, जो आपका हो जाएगा.

देखो ज्यादा गुस्सा राजनैतिक चाल बिगाड़ देगा

लगातार जीत का परचम लहराने भईया की राह में रोड़ा अटकाने वालों ने अभी से अपने स्तर पर प्रयास शुरु कर दिए है, आलम यह है कि ऐसे लोगों के नाम की चर्चा होते ही भईया को बहुत जोर से गुस्सा आ जाता है यहां तक कि वे उस नाम को काफी भला-बुरा कहने से भी पीछे नहीं हटते है. भईया की यही आदत पिछले दिनों राष्ट्रीय अध्यक्ष के आगमन के समय नजर आई, इसके बाद से ही भईया को समझाइश दी जाने लगी है कि भईया अभी माहौल ठीक नहीं है, ज्यादा गुस्सा सेहत के लिए तो नुकसानदेह तो है, इसके अलावा राजनैतिक भविष्य पर भी आपका गुस्सा प्रश्रचिन्ह लगा सकता है. भईया को भी कुछ बात समझ आई और उन्होने अपने आप को सम्हाल लिया है, लेकिन क्या करे क्षेत्र ही ऐसा है जहां पर बिना गुस्सा किए काम भी नहीं बनता है.

अचानक बढ़ी सक्रियता चिंता का विषय

चिकित्सकीय पेशे में जबलपुर सहित पूरे महाकौशल क्षेत्र में अपना नाम रोशन करने वाले साहब, नेतागिरी में भी किसी से पीछे नहीं है, विरासत में मिली राजनीति को भी साहब ने हमेशा तब्बजो दी है लेकिन वक्त आने पर, लेकिन इस बात के विधानसभा चुनाव में साहब की सक्रियता ने कई दावेदारों की नींद उड़ाकर रख दी है. हर तरफ यही चर्चा है कि साहब चुनाव लड़ेगें तो हमारा क्या होगा, खैर जो भी हो अच्छा ही होगा, साहब के चुनाव लडऩे से राजनीति में एक और वर्ग जुड़ जाएगा.

- अजय श्रीवास्तव, प्रदीप मिश्रा, शिशिर दुबे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।