लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा गठित करनेवाले शिवपाल सिंह यादव को उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा खाली किया गया बंगला आवंटित किया है. शिवपाल का नया पता 6, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग, लखनऊ होगा.

मायावती ने पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित बंगलों से बेदखली के उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में इसे खाली किया था. कांग्रेस ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के इस कदम को शिवपाल को भाजपा की मदद का इनाम करार दिया है. वहीं, सत्तारूढ़ भाजपा का कहना है कि शिवपाल को वरिष्ठ सदस्य होने के नाते ही वह बंगला आवंटित किया गया है. इसमें कोई राजनीति नहीं है. शिवपाल ने कहा कि वह समाजवाद के प्रणेता राम मनोहर लोहिया की विचारधारा को आगे बढ़ायेंगे और भाजपा से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं करेंगे.

बहरहाल, शिवपाल ने खुद को यह बंगला आवंटित किये जाने को तर्कसंगत बताते हुए कहा, खुफिया रिपोर्ट थी कि मुझे खतरा है, इसलिए हम चाहते थे कि सरकार हमें एक सुरक्षित मकान दे. उन्होंने कहा कि वह पांच बार के विधायक हैं. उन्हें यह मकान वरिष्ठ विधायक के तौर पर तमाम नियम-कायदों का पालन करने के बाद आवंटित हुआ है. शिवपाल के एक करीबी सूत्र ने बताया कि अभी तक विक्रमादित्य मार्ग पर आवंटित बंगले में रहनेवाले शिवपाल अब अपने इस बंगले को मोर्चे के कार्यालय के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं. गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने गत सात मई को अपने आदेश में प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित बंगले खाली करने का आदेश दिया था. इसके अनुपालन में मायावती, मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, नारायण दत्त तिवारी तथा राजनाथ सिंह ने अपने-अपने सरकारी बंगले खाली किये थे.

कांग्रेस के मीडिया समन्वयक राजीव बख्शी ने आरोप लगाते हुए कहा कि शिवपाल की भाजपा से सांठगांठ है. उन्हें सत्तारूढ़ पार्टी की मदद करने का इनाम मिला है. शिवपाल भाजपा के ही इशारे पर सपा से अलग हुए हैं. अब भाजपा ने उन्हें नया बंगला देकर उसका प्रतिफल दिया है. हालांकि, भाजपा प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने कहा कि शिवपाल बेहद वरिष्ठ विधायक हैं. सरकार ने वरिष्ठता देखकर ही उन्हें बंगला आवंटित किया होगा. इसमें किसी तरह की राजनीति नहीं है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।