आज भी अगर आप बुजुर्गों को देखेंगे तो वह नए कपड़े को पहनने से पहले कई नियम-कानून का बखान करने लग जाते है, जैसे कि – नए कपड़ों पर सबसे पहले गंगा जल के छींटे मार लो और सूर्य को नमस्कार करके पहन लो.

ज्यादातर लोग भारतीय परंपराओं को अंधविश्वास का नाम दे देते हैं और उनसे किनारा कर लेने में ही अपनी भलाई समझते हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि इन भारतीय परंपराओं के पीछे कोई न कोई वैज्ञानिक कारण भी छिपी होती है.

दरअसल, वास्तव में नए कपड़े या परिधान को हमेशा धोकर ही पहनना चाहिए. बता दें कि गंगा जल को पवित्र जल माना गया है, इसीलिए हर धार्मिक कार्यों या मृत्यु आदि के समय, इसे छिड़कने या फिर प्रयोग करने की सलाह दी जाती रही है.

नए कपड़ों को हमेशा धोकर ही पहने, क्योंकि कपड़ों के धागों में कई प्रकार के रंग, रसायन आदि का इस्तेमाल किया जाता है जिसके कारण आपको स्कीन की बीमारी, खारिश या रिएक्शन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

वहीं, कुछ कपड़े कलर के कारण इतना सख्त हो जाते हैं कि आपकी त्वचा को काट देते है. जान लें कि कोई भी कपड़े रैडीमेड खड़े पैक होने से पहले कई मशीनों, प्लास्टिक, गंदे हाथों, रसायनों से गुजरते हुए पैक होते हैं.

यह भी संभव है कि दुकान आदि में कई लोगों ने उसी ड्रैस को ट्राई भी किया हो और उसकी दुर्गंध या उसकी कोई त्वचा का संक्रमण या फिर नकारात्मक ऊर्जा उससे आपके शरीर में आकर चिपक जाए और आप उसके कारण बीमार भी हो जाएं. छोटे बच्चों की त्वचा तो बहुत नर्म और संवेदनशील होती है, अत: इस बात का खास ध्यान रखें कि कभी उन्हें सीधे ही शो-रूम से ली गई या किसी की उपहार दी गई ड्रेस को बिना धोकर भूलकर भी ना पहनाएं.

ज्योतिषीय गणना की मानें तो नए कपड़े पहनने का दिन और नक्षत्र दोनों ही बातों का साफ उल्लेख किया गया है. किस राशि वाले को किस दिन और किस रंग का कपड़ा पहनना चाहिए या आपका लक्की रंग कौन-सा है, अशुभ कौन-सा है… इन सबका ज्ञान किसी अनुभवी ज्योतिषी से आपको ज़रूर से ले लेना चाहिए.

बहुत बार आपने शायद गौर किया होगा कि किसी एक रंग के परिधान को पहनने से मन काफी अशांत हो उठता है या बनते-बनते काम बिगड़ जाते हैं. कई लोग कोर्ट जाते समय विशिष्ट ड्रैस ही पहनते हैं. वहीं, साधु समाज भगवे, धर्म प्रचारक सफेद, राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ता एक विशेष रंग की वेशभूषा पर ही टिके रहते हैं.

नए कपड़ों के लिए कौन सा दिन शुभ अशुभ

मान्यता यह है कि नए कपड़े मंगल या फिर शनिवार को गलती से भी न पहने जाएं. अगर पहनना ही है तो नए कपड़ो का शुभ दिन है – बुधवार, बृहस्पतिवार व शुक्रवार.

नए कपड़ों के लिए कौन सी तारीख शुभ अशुभ

बात अगर हिन्दी तिथि की करें तो 4, 9,14, को नए कपड़े पहनना बहुत अशुभ माना जाता है. वहीं, अश्विनी, रोहिणी व पुष्य रेवती आदि नक्षत्रों में नए कपड़े पहनना बेहद लाभप्रद रहता है. कोशिश करें कि नए वस्त्र आप भरणी कृतिका, मृगाशिरा, आद्र्रा आदि नक्षत्रों में ना पहनने की. यही नहीं, खासकर जब आप विवाह के लिए कोई नई ड्रेस बनवाते हैं तो उसे एक बार शुभ मुहूर्त में ज़रूर से पहन लें और फिर शादी वाले दिन उसे पहनें.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।