लंदन. अपना आखिरी टेस्ट मैच खेल रहे एलिस्टेयर कुक और कप्तान जो रूट के शतकों की मदद से भारत के सामने विशाल लक्ष्य रखने वाले इंग्लैंड ने सोमवार को यहां शुरू में ही तीन महत्वपूर्ण विकेट हासिल करके पांचवें और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में जीत की तरफ कदम बढ़ाये.

इंग्लैंड ने चौथे दिन चाय के विश्राम के कुछ देर बाद अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 423 रन बनाकर समाप्त घोषित की और भारत के सामने जीत के लिये 464 रन का लक्ष्य रखा. भारत ने इसके जवाब में चोटी के तीन विकेट दो रन पर गंवा दिये थे. उसने दिन का खेल समाप्त होने तक तीन विकेट पर 58 रन बनाये हैं और वह लक्ष्य से 406 रन पीछे है.

कुक ने अपनी अंतिम टेस्ट पारी में 147 रन बनाये. इसके लिये उन्होंने 286 गेंदें खेली तथा 14 चौके लगाये. बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने इस दौरान रूट (125) के साथ तीसरे विकेट के लिये 259 रन की साझेदारी निभाकर भारत की मुश्किलें बढ़ायी. भारतीय टीम शुरू में ही लड़खड़ा गयी और केवल 20 गेंद के खेल में उसने शिखर धवन (एक), चेतेश्वर पुजारा (शून्य) और कप्तान विराट कोहली (शून्य) के विकेट गंवा दिये. जेम्स एंडरसन (23 रन देकर दो) ने धवन और पुजारा को तीसरे ओवर में पगबाधा आउट किया जबकि स्टुअर्ट ब्राड (17 रन देकर एक) ने अगले ओवर में कोहली को विकेट के पीछे कैच कराया जो अपने करियर में तीसरी बार गोल्डन डक (पारी की पहली गेंद पर आउट) बने. एंडरसन ने इसके साथ ही ग्लेन मैकग्रा के 563 विकेटों की बराबरी भी कर ली है.

इसके बाद केएल राहुल (नाबाद 46) और अंजिक्य रहाणे (नाबाद 10) ने आगे कोई झटका नहीं लगने दिया. इनमें से राहुल स्वच्छंद होकर खेले और उन्होंने कुछ करारे शॉट लगाये. भारत के लिये हालांकि टूटती पिच पर पांचवें दिन बल्लेबाजी करना आसान नहीं होगा. इससे पहले कुक ने अपना आखिरी टेस्ट मैच यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. उन्होंने 161 टेस्ट मैचों में 12472 रन बनाकर अपने टेस्ट करियर का अंत किया जिसकी शुरुआत उन्होंने 2006 में नागपुर में भारत के खिलाफ की थी. उनकी पारी बेदाग रही लेकिन रूट को 46 अैर 94 रन के निजी योग पर क्रमश: रहाणे और पुजारा ने जीवनदान दिये. भारत को लंबे इंतजार के बाद हनुमा विहारी (37 रन देकर तीन विकेट) ने सफलता दिलायी जिन्हें कोहली ने काफी देर बाद आक्रमण पर लगाया.

विहारी ने अपने आठवें ओवर की पहली दो गेंदों पर रूट और कुक को आउट किया. रूट ने तेजी से रन बनाने के प्रयास में स्लॉग स्वीप खेला लेकिन गेंद देर से बल्ले तक पहुंची और ऊपरी किनारा लेकर डीप मिडविकेट पर खड़े हार्दिक पांड्या के पास पहुंच गयी जो चोटिल इशांत शर्मा की जगह क्षेत्ररक्षण कर रहे थे. विहारी का यह पहला टेस्ट विकेट था. विहारी ने अगली गेंद पर कुक को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया और इसके साथ ही विश्व क्रिकेट के बेजोड़ बल्लेबाजों में से एक के करियर का अंत हो गया. भारतीय खिलाड़ियों ने हाथ मिलाकर कुक को विदाई दी जबकि दर्शकों ने खड़े होकर उनका अभिवादन किया.

इनमें उनकी पत्नी और बेटियां भी शामिल थी. भारत ने इसके तुरंत बाद नयी गेंद ली. मोहम्मद शमी (110 रन देकर दो) ने जॉनी बेयरस्टॉ (18) को बोल्ड किया जबकि अगले ओवर में जोस बटलर (शून्य) ने रविंद्र जडेजा (179 रन देकर तीन) की गेंद पर हवा में लहराता कैच दिया. चाय के विश्राम के बाद जडेजा ने बेन स्टोक्स (37) का भी विकेट लिया.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।