इस्लामाबाद. आतंकवाद को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमेरिका जैसे बड़े देशों की फटकार झेल चुके पाकिस्तान के तेवर अब कुछ नरम पड़ते नजर आ रहे हैं. शायद यही वजह है कि पाकिस्तान की सेना ने अब बातचीत के लिए भारत से संपर्क किया है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की ओर से यह संपर्क गुपचुप तरीके से किया गया है. इस बात की जानकारी एक पश्चिमी कूटनीतिक और पाकिस्तान के वरिष्ठ अधिकारी ने दी है. उन्होंने कहा है कि फिलहाल भारत की ओर से इस पर कुछ खास प्रतिक्रिया नहीं दी गई है. 

खबरों से प्राप्त जानकारी की मानें तो पाकिस्तान की ओर से ये संपर्क अभियान चुनावों से पहले ही शुरु हो गया था. इसकी पहल पाकिस्तान की आर्मी चीफ जनरल कमर जावीद बाजवा की ओर से की गई थी. गौर करने लायक बात ये भी है कि पाकिस्तान की ओर से ये संपर्क ऐसे समय में किया गया है, जब दोनों देश की सीमा पर रिश्ते बेहद खराब दौर में हैं. बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच साल 2015 से ही बातचीत ठप्प पड़ी है और इसी को दोबारा शुरु करने के लिए पाकिस्तान ने हाथ आगे बढ़ाया है.

बता दें कि आतंकवाद की जड़ कहे जाने वाला पाकिस्तान इन दिनों आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है. भारत के साथ व्यापार में पाकिस्तान को अच्छी-खासी कमाई होती है और इससे देश के वित्तीय हालात पर भी साकारात्मक असर पड़ता है. लेकिन दोनों देशों के रिश्तों में आई खटास का असर व्यापार पर भी पड़ा है. जानकारों की मानें तो पाकिस्तान ने बातचीत की पेशकश भी इसलिए की है, ताकि दोनों देशों के बीच व्यापार गतिरोध को खत्म किया जा सके.  

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने भी कहा है कि उनका मुल्क भारत समेत अपने सभी पड़ोसियों से बेहतर संबंधों के लिए आगे बढ़ना चाहता है. उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा का कहना है कि पाकिस्तान को कमजोर कर भारत भी फल-फूल नहीं सकता. पाक आर्मी चीफ बाजवा ने अपने एक अहम भाषण के दौरान पाकिस्तान की इकॉनमी को क्षेत्र की सिक्यॉरिटी से जोड़ा था.

जवा इससे पहले यह भी कह चुके हैं कि दोनों देशों के बीच विवाद को सुलझाने का एकमात्र तरीका बातचीत है. किसी पाकिस्तानी आर्मी चीफ की तरफ से ऐसा बयान कम ही देखने को मिला है. डिप्लोमैट्स का कहना है कि बाजवा ने बातचीत शुरू करने के लिए जनरल रावत से संपर्क की कोशिश की थी. हालांकि उनके इस प्रयास का कोई खास रेस्पॉन्स नहीं मिला.  

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।