हिन्दू पंचांग के अनुसार सावन का महीना खत्म होने के बाद भादो आता है जिसे भाद्रपद भी कहते हैं. भादों महीना श्रीकृष्ण से सम्बंधित होता है, शास्त्रों के अनुसार इस महीने में भगवान कृष्ण ने जन्म लिया था. सावन महीने की तरह भादो का महीना भी पवित्र माना जाता है. भगवान श्री कृष्ण को ये महीना भुत प्रिय होता है. श्रीकृष्ण का जन्म कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को हुआ था. भाद्रपद महीना शुरू हो चुका है तो 22 सितम्बर को समाप्त होगा. हिन्दू ग्रन्थों में भाद्रपद से जुड़ी बहुत सी बातें बताई गई हैं जिन्हें लेकर इस माह में सावधानियां बरती चाहिए. कुछ ऐसी चीज़े होती हैं जिन्हें हम अनजाने में कर देते हैं. इस पवित्र महीने में कुछ ख़ास बातों और नियमों का ध्यान रखना चाहिए.

भाद्रपद मास क्यों है खास

बता दें कि मन को शुद्ध करने और पवित्र भाव भरने में यह महीना काफी कारगर साबित होता है. इसी खास महीने में गणेश चतुर्थी का भी बड़ा पर्व मनाया जाता है. यही नहीं, भगवान श्रीकृष्ण का जन्म उत्सव और कलंक चतुर्थी भी इसी शुभ महीने में आती है.

भाद्रपद मास के नियम और सावधानियां 

• शास्त्रों के अनुसार इस पवित्र महीने में पलंग पर सोने के लिए माना किया गया है.  भाद्रपद मास के दौरान जमीन पर चटाई बिछाकर सोने का नियम शास्त्रों में बताया गया है.

• भाद्रपद मास के दौरान पत्नी से दूरी बनाकर रखें और किसी भी व्यक्ति से झूठ बोलने से बचें.

• भाद्रपद के महीने में शहद, गुड़, मूली, मांस, हरी सब्जी और बैंगन नहीं खाना चाहिए. इन चीज़ों को इस महीने में खाने से स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हो सकती हैं.

• इस महीने में नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए जैसे शराब, तंबाकू, भंग आदि. इन चीज़ों के सेवन से माँ लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं और स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या भी हो सकती हैं.

• भाद्र पद मास में बीमारियों से बचने के लिए दूध, दही और घी का सेवन ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए.

• भादो के महीने में तेल से बनी चीज़ों का सेवन कम करना चाहिए.

• इस खास महीने में कच्ची चीज़ों को खाने से बचें.

• वहीं, दही का प्रयोग भूलकर भी ना करें क्योंकि इसका इस्तेमाल करना पूर्ण रूप से वर्जित होता है.

• ध्यान रहें कि इस महीने में रक्तचाप बढ़ने की सम्भावना ज्यादा होती है और इसका ध्यान ज़रूर से रखना चाहिए.

• कोशिश करें कि शीतल जल से दोनों समय यानि कि सुबह व शाम स्नान अवश्य करें ताकि आपका आलस्य दूर हो जाए.

• यही नहीं भगवान श्री कृष्ण को तुलसी दल अर्पित करना और साथ ही तुलसी दल को चाय या दूध में उबालकर पीना बहुत अच्छा माना जाता है.

भाद्रपद मास से जुड़ें व्रत और त्यौहार

• जान लें कि इस शुभ महीने में गणेश चतुर्थी और गणेश महोत्सव जैसे बड़े पर्व आते हैं.

• बता दें कि इसी खास महीने में श्रीकृष्ण, बलराम और राधा का जन्मोत्सव भी आता है.

• यही नहीं, इस महीने में महिलाओं के सौभाग्य का पर्व यानि कि हरितालिका तीज भी आता है.

• और इसी महीने में अनंत पुण्य प्राप्त करने का पर्व “अनंत चतुर्दशी” भी आता है.

• यूं तो इस महीने में दही के प्रयोग को वर्जित माना जाता है, लेकिन अगर इस पूरे माह आप भगवान श्री कृष्ण को पंचामृत से स्नान कराते हैं तो आपकी सारी मनोकामनाएं ज़रूर पूरी होगी.

• वहीं, जिन लोगों को संतान सुख नहीं है, उन लोगों को इस माह या तो कृष्ण का जन्म कराना चाहिए या कृष्ण जी के जन्मोत्सव में अवश्य से शामिल होना चाहिए.

• जो लोग इस महीने अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना चाहते हैं उन्हें श्रीमदभगवदगीता का पाठ शुभ परिणाम दे सकता है.

• यही नहीं, इस महीने में लड्डू गोपाल और शंख की स्थापना करने से भी घर में धन और सम्पन्नता दिल खोलकर आती है.

भगवान गणेश के आशीर्वाद के लिए क्या करे

• अगर आप विद्या, बुद्धि और ज्ञान चाहते हैं तो इस माह श्री गणेश की उपासना ज़रूर करें.

• हो सके तो पीले रंग के भगवान् गणेश की स्थापना करें.

• रोज सुबह भगवान गणपति को दूर्वा और मोदक का भोग लगायें.

• कोशिश करें कि इस पूरे माह आप सात्विक रहें.

* याद रहे कि भगवान श्री कृष्ण और गणपति बप्पा की कृपा से आपकी ज़िंदगी में मौजूद सारी बाधाओं का नाश हो जाएगा और आप एक खुशहाल जीवन व्यतित करेंगे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।