दैत्यआचार्य शुक्रदेव अपनी मूल त्रिकोण राशि तुला मे प्रवेश करने वाले है जहाँ देवगुरु बृहस्पति पिछले 10 माह से विद्यमान है, इस बार इन दो महागुरुओं का मिलन लम्बे समय तक होगा, तुला राशि मे यह मिलन अनोखा और चमत्कारीक परिणाम देने वाला है इस मिलन के समयावधि को सभी राशि के जातको को विशेषरुप से ध्यान रखना चाहिये, क्योंकि यह विश्वस्तर पर मौसम, राजनीति, धर्म आदि पर खास प्रभाव डालने वाले है चूंकि दोनो ग्रह नीतिज्ञ और परम विद्वान है इसीलिये इसका शुभप्रभाव विश्व जनमानस के लिये विशेषरुप से प्रभावकारी होगा.

*मिलन काल*-

शुक्र महराज तुला राशि मे 123 दिन  रुकेंगे, गुरु से तुला राशि मे उनका मिलनकाल 1सितम्बर से 11अक्टूबर तक रहेगा, 6अक्टूबर से शुक्र देव वक्री तथा 13अक्टूबर से अस्त हो जायेंगे, 31अक्टूबर से शुक्रदेव पूर्व मे  उदय होंगे, 16 नवम्बर से शुक्र महाराज मार्गी हो जायेंगे, इसके बाद 1 जनवरी 2019 को ये वृश्चिक राशि मे प्रवेश करते ही पुनः देवगुरु से 26 जनवरी तक मिलन करेंगे.

*दोनो को शिव का वरदान*

इस नवग्रह मंडल मे दो गुरु है एक है दैत्य गुरु दूसरे देवगुरु, दोनो ने भगवान शिव की साधना से महान वरदान पाये और नवग्रहमंडल मे दैत्य और देवगुरु का पद ग्रहण किया, आध्यात्मिक चिंतन, धर्म, मोक्ष, पवित्रता, दिव्य ज्ञान गुरुग्रह की कृपा से ही मिलता है, वही धन, माया, विलासिता, ऐश्वर्य और भोग शुक्र ग्रह की कृपा से मिलता है, एक नीचे ले जाता है तो दूसरा ऊपर शुक्र प्रधान व्यक्ति संसार मे नाम पैसा कमाता है परंतु प्रपंच और कर्मजाल मे फंसकर अंत मे पतित भी होता है वही देवगुरु के आशीर्वाद से जातक ज्ञान के द्वारा अपने आत्मस्वरूप को समझकर मुक्ति और परमार्थ के मार्ग मे जाता है, शुक्र की दृष्टि वाला व्यक्ति के लिये संसार ही सबकुछ है वही गुरु प्रधान व्यक्ति के लिये संसार नश्वर है.

*शुक्र की प्रिय राशि मे देवगुरु से मिलन*

तुला राशि शुक्र की मूलत्रिकोण राशि है, इस राशि मे बैठा शुक्र जातक को सभी सुख सुविधा भोग और ऐश्वर्य देता है, लेकीन शुक्र की राशि मे बैठा

गुरु अपने आपको असहज पाता है, वैसे ही जैसे किसी संन्यासी को नई फैशन के कपड़े और आचरण को परिस्तिथियों के कारण स्वीकार करना पढ़े, गुरु शुक्र का तुला राशि मे आने से विश्व, मौसम

व्यापार तथा सभी राशियों मे प्रभाव:

*विश्वस्तर मे ज्ञान और ऐश्वर्य का समन्वय देखने को मिलेगा.

*पाश्चात्य जगत मे भारतीय ज्ञान का परचम लहरायेगा.

*विद्या या ज्ञान के क्षेत्र मे महिलाओ का डंका बजेगा.

*भारतीय महिलाओ का पश्चिम मे किसी क्षेत्र विशेष मे नाम होगा.

*मुस्लिम महिलाओ का धर्म ज्ञान और विद्वता के क्षेत्र मे रुचि मे वृद्धि होंगी.

*पाश्चात्य, अरब और हिन्दू धर्म गुरुओं का मिलन होगा.

*किसी भारतीय आध्यात्मिक गुरु का पश्चिम अरब जगत मे सम्मान होगा.

*कीमती धातु, वस्त्र, विलासिता के वस्तुओं के दाम मे कमी आयेगी.

*इलेक्ट्रॉनिक्स वस्तुओं का व्यापार बडेगा.

*विशेष*-उपरोक्त तारीखों मे शुक्र ग्रह वक्री मार्गी अस्त और उदय होंगे, इस समयावधि मे सोना , चाँदी, जवाहरात, वस्त्र फैशन, फिल्म, मॉडलिंग, कला वाहन उद्योग मे काफी उतारचढ़ाव शासकीय नीतियों के कारण देखने को मिलेगा सतर्कता से व्यापार करने वाले व्यक्ति श्रेष्ठ लाभ पा सकते है.

*विश्व स्तर मे मौसम खुशगवार होगा, पर्यटन के क्षेत्र को बढ़ावा  मिलेगा.

*वृषभ, मिथुन, कर्क, कन्या तुला, धनु, मकर, कुम्भ राशि के लिये शानदार परिणाम मिलेंगे.

*मेष, सिंह के लिये सामान्य.

*मीन राशि वालो को सावधानी रखनी होंगी.

*मेष*-इस राशि के अविवाहित लोगो के लिये स्वर्णिम समय, प्रेम  रोमांस मे वृध्दि का योग, आमोदप्रमोद मे समय व्यतीत होगा.

*वृषभ*-रोग, ऋण शत्रु से परेशानी का योग, स्वास्थय की ओर विशेष ध्यान दें, गुप्त यौन रोग के प्रति सावधानी बरतें.

*मिथुन*-प्रेम सम्बंधों मे वृध्दि का योग, विपरीत लिंगियो के प्रति झुकाव बडेगा, कलात्मक कार्यौ मे खास सफलता का योग.

*कर्क*-नवीन वाहन भवन आदि का योग, समाज मे ऐश्वर्य विलासिता और मान मे वृध्दि होंगी.

*सिंह*-पर्यटन आमोदप्रमोद से जुड़ी यात्रा होंगी, नीतिगत कार्यों मे सफलता का योग.

*कन्या*-संचितधन वृध्दि के योग, आर्थिक कार्यों मे खास सफलता के योग, व्यापार मे विशेष लाभ के योग.

*तुला*-स्वास्थय मे सुधार होगा, ऐश्वर्य वृध्दि और मान सम्मान के योग, विवाह सम्बंध, पिकनिक उत्सव आदि मे समय व्यतीत होगा.

*वृश्चिक*-नीतिगत समस्याओं मे समय व्यतीत होगा, आर्थिक

व्यापारिक पारिवारिक समस्याओं को सुलझाने मे समय व्यतीत होगा.

*धनु*-आर्थिक लाभ प्राप्ति के योग, मुकदमे, रोग, विवाद आदि मे सफलता और लाभ के योग.

*मकर*-राज्य से मान सम्मान वृध्दि के योग, कर्मक्षेत्र रोजगार मे खास सफलता के योग, वरिष्ठ जनो से मदद मिलेगी.

*कुम्भ*-आर्थिक क्षेत्र मे भाग्यवर्धक सफलता के योग, आर्थिक, व्यापारिक तथा अन्य क्षेत्रों मे भाग्य से विशेष मदद के योग.

*मीन*-गुप्त और जटिल समस्याओं की ओर ध्यान जायेगा, अनुसंधान से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग.

*प.चंद्रशेखर नेमा "हिमांशु"*

9893280184, 7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।