मुंबई. सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव आज बुधवार की शाम रांची पहुंचेंगे. वे कहां ठहरेंगे यह स्पष्ट नहीं है. हालांकि राजद के भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि दिन के तीन बजे पटना से रांची के लिए लालू प्रसाद की फ्लाइट है. बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से सीधे वे रिम्स (राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) जायेंगे. रात्रि विश्राम स्टेट गेस्ट हाउस में करेंगे. लालू को गुरुवार को सीबीआई कोर्ट में सरेंडर करना है.

झारखंड हाईकोर्ट ने 25 अगस्त को लालू यादव की प्रोविजनल बेल की अवधि तीन माह बढ़ाने की अपील को खारिज करते हुए 30 अगस्त तक सरेंडर करने का आदेश दिया था. इससे पहले 26 अगस्त को लालू प्रसाद को मुंबई एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट से डिस्चार्ज कर दिया गया. वहां से वे पटना लौट गये थे. लालू के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने झारखंड हाईकोर्ट से प्रोविजनल बेल और 3 महीने बढ़ाने की मांग की थी. उन्होंने हाईकोर्ट को बताया था कि पिछले महीने मुंबई में उनके फिस्टुला का ऑपरेशन हुआ है. घाव जिंदा है.

उन्हें बीपी, शुगर और किडनी की भी समस्या है. इस पर झारखंड हाईकोर्ट के जज अपरेश कुमार सिंह ने कहा था कि वे रिम्स आयें और यहीं इलाज करायें. सजायाफ्ता लालू को इलाज के लिए 11 मई को कोर्ट ने छह हफ्ते की जमानत मंजूर की थी. इसे बढ़ाकर 14 और फिर 27 अगस्त तक कर दिया गया था. इसके बाद तीन माह और अवधि बढ़ाने की अपील को खारिज कर दिया गया. चारा घोटाला के देवघर ट्रेजरी केस में 23 दिसंबर 2017 को दोषी करार दिये जाने के बाद से लालू यादव रांची जेल में थे. इस केस में 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गयी थी. उन पर 10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया.

तबीयत बिगड़ने पर लालू यादव को 17 मार्च को रिम्स में भर्ती किया गया. सुधार नहीं होने पर 28 मार्च को एम्स (नयी दिल्ली) रेफर कर दिया गया था. एम्स से उन्हें 30 अप्रैल को डिस्चार्ज कर रिम्स भेज दिया गया. फिर लालू को हाईकोर्ट ने छह हफ्ते की प्रोविजनल बेल दी थी.

चाईबासा ट्रेजरी केस में 30 सितंबर 2013 को कोर्ट ने लालू यादव को दोषी माना. पांच साल जेल की सजा हुई. 25 लाख रुपये का जुर्माना भी उन पर लगाया गया था. इस मामले में लालू को जमानत मिल चुकी है. देवघर ट्रेजरी केस में 23 दिसंबर 2017 को दोषी करार दिये गए.

6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल जेल की सजा सुनाई गई. लालू पर 10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया. चाईबासा ट्रेजरी केस में 24 जनवरी 2018 को लालू दोषी करार दिये गए. इसी दिन उन्हें पांच साल की सजा भी सुनाई गई. दस लाख रुपये जुर्माना भी हुआ. दुमका ट्रेजरी केस में मार्च 2018 में लालू यादव को दोषी माना गया.

पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र बरी हुए. 24 मार्च को लालू को 7-7 साल की सजा सुनाई गई. दोनों सजाएं अलग-अलग चलेंगी. यानी कुल 14 साल की सजा. लालू पर 60 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया. इन तीनों मामलों में लालू सजा काट रहे हैं. दो मामलों में अभी सुनवाई चल रही है. चारा घोटाले में डोरंडा ट्रेजरी केस की सुनवाई भी रांची में तथा भागलपुर ट्रेजरी केस की सुनवाई पटना की सीबीआई कोर्ट में चल रही है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।