नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष जर्मनी के बाद ब्रिटेन के दौरे पर हैं जहां वह मोदी सरकार पर लगातार हमला बोल रहे हैं. लंदन के स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में बोलते हुए राहुल ने कहा कि देश में रोजगार बड़ी समस्या है, और पहले इसे स्वीकार करना होगा, लेकिन सरकार इसको स्वीकार नहीं कर रही. उन्होंने कहा कि मुख्य बात यह है कि युवा होने के नाते आपको देखना चाहिए कि जो लोग आपसे असहमत हैं, वो कहां से आ रहे हैं. भारत अपने अहिंसक विचारों और उन लोगों के प्रति सहानुभूति दिखाने की क्षमता रखता है जो हमसे सहमत नहीं हैं, ये हमारी संस्कृति का हिस्सा है. उन्होंने कहा, मैं काफी हद तक हिंसा का सामना किया है.

उन अनुभवों ने मुझे लोगों के प्रति दयालु बना दिया. मैं उन लोगों के प्रति सहानुभूति महसूस करता हूं जो कमजोर और सताये हुए होते हैं. राहुल गांधी ने कहा, 'मैं अर्थव्यवस्था, समाजशास्त्र और राजनीति को अलग-अलग नहीं देखता. ये सब एक प्रक्रिया है जो एक साथ काम करती है. भारत में इस प्रक्रिया ने 100 वर्षों में 1.3 अरब लोगों को बदल दिया. रोजगार पर बोलते हुए उन्होंने कहा, 'भारत में रोजगार की बड़ी समस्या है और भारत सरकार इसे मान नहीं रही है. चीन जहां एक दिन में 50 हजार नौकरियां दे रहा है, वहीं हमारे यहां एक दिन सिर्फ 450 नौकरियां दी जा रही हैं.

यह एक आपदा की तरह है. देश में रोजगार बड़ी समस्या है, और पहले इसे स्वीकार करना होगा, लेकिन सरकार इसको स्वीकार नहीं कर रही. उन्होंने कहा, मैं विभिन्न समुदायों के पास जाना पसंद करता हूं. एक सामान्य भारतीय किसान किसी कृषि विशेषज्ञ से ज्यादा ज्ञान रखता है.' सामाजिक न्याय के मामले पर बोलते हुए उन्होंने कहा, 'मैं सरकार को अधिकार देने वाले के तौर पर देखता हूं. सामाजिक न्याय केवल तभी संभव है जब लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत किया जाए.' विदेश नीति पर उठाए सवाल इससे पहले राहुल गांधी ने लंदन स्थित थिंक टैंक इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्ट्रैटेजिक स्टडीज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति पर सवाल उठाए.

लोगों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी के लिए डोकलाम विवाद एक इवेंट है. गांधी ने कहा कि डोकलाम कोई अलग मुद्दा नहीं है. यह एक के बाद एक कई घटनाओं का हिस्सा था. यह एक प्रक्रिया थी. प्रधानमंत्री मोदी डोकलाम को महज एक इवेंट के रूप में देखते हैं. अगर उन्होंने ध्यान से पूरी प्रक्रिया को देखा होता, तो वो इसे रोक सकते थे. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह हकीकत है कि डोकलाम में आज भी चीन की मौजूदगी है.

पाक को लेकर रणनीति नहीं इस दौरान राहुल गांधी ने पाकिस्तान को लेकर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान को लेकर पीएम मोदी के पास कोई गहराई से सोची-समझी रणनीति नहीं है. पाकिस्तान के साथ बातचीत करना बहुत मुश्किल है, क्योंकि वहां कोई भी ऐसी संस्था नहीं है, जो सर्वोच्च हो. हम तब तक प्रतीक्षा करेंगे, जब तक कि वो कोई सुसंगत ढांचा नहीं बनाते हैं.'

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।