पहाड़ों की सुंदरता के अलावा शिमला में घूमने की बहुत सी जगहें हैं जिन्हे आप अपने सूची में शामिल कर सकते हैं. संग्रहालय, थिएटर और औपनिवेशिक लॉज से लेकर चलने के लिए अनोखे रास्ते, चहल-पहल वाले मॉल, गोथिक शैली में बने चर्च और हेरिटेज होटल ये ऐसे स्थान हैं, जहां आप अपने आप को व्यस्त रख सकते हैं. ये हिल स्टेशन आपकी व्यापक आवश्यकताओं को पूरा करता हैं. यदि आप खेल के शौकीन हैं, इतिहास में दिलचस्पी है या इनके अलावा आप खरीददारी जैसी जगहों की तलाश कर रहे हैं, तो हम आपको बतातें हैं कि आपको कहां जाना है और क्या करना है. यहां हम आपको शिमला के प्रमुख पर्यटन स्थलों की जानकारी दे रहे हैं. 

द माल 

शिमला का माल रोड सभी कार्यकलापों और गतिविधियों का केन्द्र है. शॉप, कैफे, थिएटर, रेस्तरां और सभी प्रकार के मनोरंजन जैसी सभी दिलचस्प जगह इस रोड पर है. यहां के रेस्तरां व्यंजनों की व्यापक श्रृंखला की पेशकश करते हैं और शिमला में सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए गेयटी थिएटर जा सकते हैं. यदि आप शॉपिंग की जगह की तलाश कर रहे है तो माल रोड पर एक से बढ़कर एक बड़ी दुकानें, शोरूम और स्टोरहाउस (माल-गोदान) जैसी जगहें मौजूद है. जहां शॉल और ऊनी कपड़ों से लेकर आभूषण, मिट्टी के बर्तन और किताबें उपलब्ध है. पूर्व में बार्न्स कोर्ट तक फैला और पश्चिम में वाइसरीगल कोर्ट तक फैला माल रोड वो जगह है जो दिनभर आपका मनोरंजन करता रहेगा. 

शिमला

वाइसरीगल लॉज 

शिमला में ऑव्सर्वेटरी हिल के ऊपर विरासत कालीन इमारत वाइसरीगल लॉज स्थित है, जिसे राष्ट्रपति निवास के नाम से भी जाना जाता है. अंग्रेजों के जमाने में यह भारत के वायसराय का मूल निवास था, लेकिन अब इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडी (आईआईएएस) का गढ़ है, यहां दुनियाभर के शोधार्थी इस अनुसंधान में वाद-विवाद और विचार-विमर्श के लिए इकठ्ठा होते है. इस इमारत की बनावट स्कॉटिश शैली वास्तुकला में की गई है जो चीड़ और देवदार की लकड़ी द्वारा निर्मित है.

p>शिमला

 

चीड़ के पेड़ और विशाल उद्यानों के बीच घिरे लॉज में एक पुस्तकालय, एक बरोन और आग जलाने की जगह उपलब्ध है. यहां की बालकॉनी से चारों तरफ पहाड़ों का खूबसूरत नज़ारा दिखाई देता है. 

स्टेट म्यूजियम 

स्कैंडल प्वाइंट से पश्चिम में लगभग दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित, शिमला के स्टेट म्यूजियम में कांगड़ा और राजस्थान के लघु चित्र और चंबा की कढ़ाई, सिक्के, आभूषण, मंदिर की नक्काशी और हथियार आदि चीज़ों का विशाल संग्रह है. यह संग्रहालय एक पुराने विक्टोरियन हवेली के अंदर स्थित है, पहाड़ी पर स्थित यहां का माहौल बेहद शांत है. यह वायसराय विलियम बेरसफोर्ड का निवास स्थान था. इसके बाद यह स्थान भारत सरकार के अधिकारियों द्वारा इस्तेमाल किया जाने लगा. 1974 में खुला यह म्यूजियम तब से सांस्कृतिक विरासत को सहेज कर रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. 

अनानदले

यह पिकनिक स्थान कभी रेसिंग, क्रिकेट और पोलो का मैदान हुआ करता था. हरे-भरे जंगलों के बीच घिरा यह स्थान 121 बीघा में फैला हुआ है. रिज से चार किलोमीटर ऊपर यह समुद्र तल से 6,117 फीट ऊंचाई पर घनी विशाल घाटी पर स्थित है. जिसे कैथु गांव के नाम से भी जाना जाता है. 1830 दशक से यह खेल का मैदान और रेस-कोर्स शिमला के निवासियों के लिए आमोद और मनोरंजन का केंद्र रहा है. 

वुडविल पैलेस 

शिमला के पूर्वी भाग में स्थित वुडविल पैलेस का इतिहास 1865 वर्ष से चला आ रहा है और यहां के पहले निवासी ब्रिटिश सेना के कमांडर-इन-चीफ सर विलियम मैन्सफील्ड थे. 1938 में इस पैलेस का पुननिर्माण किया गया, शिल्प कौशल के उच्चतम गुणवत्ता वाले 100 कुशल कारीगरों को इसके पुननिर्माण के लिए लाया गया था. 1977 में पैलेस को एक हेरिटेज होटल में बदल दिया गया. अगर आप यहां ठहरने नहीं आ रहें तो भी यह जगह घूमने के लायक है.

चार एकड़ में फैली हरियाली शिमला में ठहरने के लिए सबसे बेहतरीन स्थानों में से एक है. 1930 के दशक की थीम पर आधारित हॉलीवुड बार में ड्रिंक के लिए आ सकते हैं. इसकी अंदरुनी दिवारों पर हॉलीवुड फिल्मी सितारों जैसे क्लार्क गैबल, लॉरेल और हार्डी, कैथरीन हेपबर्न की हस्ताक्षर की गई तस्वीरें लगी हैं. यहां खूबसूरती से बनाए गए बहु-स्तरीय गुलाब का बगीचा और सुंदर सुव्यस्थित हरे लॉन हैं जहां आप सर्द शाम की हवाओं में टहल कर आनंद ले सकते हैं. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।