भारत की विविधता ही उसकी शान है. यहां के लोगों के बीच जितनी विविधता उनके  सांस्कृतिक, भाषायी और रहन-सहन में दिखती है उनती ही उनके खान-पान में भी दिखती है. आप एक राज्य से दूसरे राज्य में जाएंगे, आपका खान-पान भी बदल जाएगा. हर क्षेत्र के अपने मशहूर व्यंजन हैं. तो स्वतंत्रता दिवस की सालगिरह के अवसर पर हम क्यों न देश के उन मशहूर व्यंजनों का जायका लें जिसके देशी-विदेशी लोग दीवाने हैं. 

मोदुर पुलाव (कश्मीर): कश्मीर की खूबसूरत वादियों में खुशबूदार चावल 'मोदुर पुलाव' काफी मशहूर है. मोदुर पुलाव एक मीठा पुलाव होता है. इसका हल्का हल्का भगवा रंग आपको तिरंगे के भगवा रंग की याद दिलाएगा. इसमें मसाले, ड्राय फ्रूट्स, काफी सारा घी, सेब, अनानास, अनार डलते हैं. घाटी के इस मशहूर व्यंजन को पनीर मसाला ग्रेवी और भारतीय अचार के साथ भी खाया जाता है. 

मोदक (महाराष्ट्र): भारतीय मिठाई मोदक महाराष्ट्र में काफी लोकप्रिय है. गणेश चतुर्थी उत्सव के दौरान भगवान गणेश को नारियल व गुड़ से बने मोदकों का भोग लगाया जाता है. ज्यादातर यहां घी वाले लड्डू वाले पंसद किए जाते हैं. 

स्वतंत्रता दिवस

मुरुक्कू (तमिलनाडु और केरल): इसे चाय के साथ स्नैक्स के तौर पर खाया जाता है. इसे दक्षिण की नमकीन भी कह सकते हैं. पोंगल के शुभ अवसर पर यह नमकीन जरुर बनाई जाती है. मुरुक्‍कू बनाने के लिये बेसन, मूंग या उरद दाल का इस्तेमाल होता है. इसमें कई मसाले भी डाले जाते हैं जैसे, हींग, जीरा, मिर्च पाउडर आदि.

नरीकोल (असम): यह असम की काफी फेमस डिश है. बीहू के दौरान इसे खूब खाया जाता है. नारियल से बनाई गई इस डिश को एक हफ्ते से ज्यादा समय तक आसानी से रखा जा सकता है. 

सरसो दा साग (पंजाब एवं हरियाणा): मक्के की रोटी के साथ सरसो के साग का कॉम्बिनेशन देश भर मे मशहूर है. इसके साथ लस्सी भी काफी पसंद की जाती है. 

मैसूर पाक (कर्नाटक): यह दक्षिण भारत की मशहूर मिठाई है. चीनी, घी, इलायची और बेसन से इसे बनाया जाता है. 

रसगुल्ला (पश्चिम बंगाल): रसगुल्ला की लोकप्रियता आप इस बात से लगा सकते हैं कि कुछ दिनों पहले पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच इस बात को लेकर लड़ाई थी कि यह किसका आविष्कार है. इसे किसने दिया है पश्चिम बंगाल ने या फिर ओडिशा ने. इस विवाद में आखिरकार पश्चिम बंगाल की जीत हुई. पश्चिम बंगाल को जीआई टैग यानि जियोग्राफिकल इंडिकेशन मिल गया है.

माना जा चुका है कि रसगुल्ले की उत्पत्ति बंगाल में हुई थी. ओडिशा का दावा था कि रसगुल्ला बनाने की विधि वहां से पश्चिम बंगाल पहुंची थी. खैर, बंगाल हो ओडिशा, दोनों राज्य के हर उत्सव में रसगुल्ला प्रमुख मिठाई होती है. हर पर्यटक यहां का रसगुल्ला जरूर खाकर जाता है.

घेवर व चूरमा दाल बाटी (राजस्थान): मावा, घी और मलाई घेवर राजस्थान में खूब पसंद किए जाते हैं. तीज, रक्षा बंधन जैसे उत्सवों पर इसे खूब खाया जाता है. यहां के दाल बाटी चूरमा का देश में हर कोई दीवाना है. 

ढोकला (गुजरात) : यह गुजरात का फेमस स्नैक्स है. इसे पूरी तरह से भाप में पकाया जाता है और इसी वजह से इसमें बहुत ही कम तेल का इस्तेमाल होता है. इसके अलावा यहां की पूरन पोली, कढ़ी, खांडवी, खाखरा भी काफी प्रसिद्ध है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।