नई दिल्ली. केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने नागरिकता संशोधन विधेयक को पारित करने पर जोर दिया है जिससे नागरिकता अधिनियम, 1955 में संशोधन किया जा सके. ऐसा होने पर अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाईधर्म के सभी अवैध प्रवासियों को भारतीय नागरिकता दी जा सकेगी.

सोमवार को यहां एक कार्यक्रम  में प्रसाद ने कहा, ‘जो लोग इस विधेयक के अंतर्गत नहीं आते हैं वे शरण के लिए अन्य देशों में जा सकते हैं.’ 2016 में रखा गया यह प्रस्ताव पारित होने के लिए आने से पहले राज्य सभा की सेलेक्ट कमिटी के सामने है. एनडीए की सहयोगी असम गण परिषद ने पहले ही धमकी दी है कि यदि संशोधित बिल पास हुआ तो वह गठबंधन से बाहर आ जाएगी.

कानून मंत्री ने कहा, ‘यदि हिंदुओं और सिखों पर दुनिया में कहीं भी अत्याचार होगा तो वे सबसे पहले भारत आएंगे. दूसरे लोगों के लिए दुनिया में कई स्थान (देश) हैं. मैं कोई सांप्रदायिक टिप्पणी नहीं कर रहा. भारत जितना हिंदुओं का है, उतना ही मुसलमानों का भी है. लेकिन यदि कोई सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद NRC के तहत अवैध घुसपैठियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का विरोध करता है, तब इसका अर्थ यह निकलता है कि इस पर सियासत हो रही है. एनआरसी का मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है. इसे जनता को तय करने दीजिए.’

प्रसाद ने कहा, मैं पूछना चाहता हूं कि देश के नागरिकों का रजिस्टर क्यों नहीं होना चाहिए. क्या भारत कोई धर्मशाला है ? ये तो नहीं होना चाहिए.’ यह पूछे जाने पर कि नागरिकता संशोधन बिल के मामले में आगे क्या होगा, प्रसाद ने कहा, ‘यह मामला अभी संसदीय समिति के सामने है, वह इस पर विचार कर रही है, लेकिन कृपया इसे एनआरसी के मुद्दे से मत जोड़िए.

तीन तलाक विधेयक के मसले पर केंद्रीय मंत्री ने खुलासा किया कि इसे पटल पर रखने से पहले सरकार ने गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा जैसे कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को विश्वास में लिया था. उन्होंने कहा, पहले 5 दिनों तक तो कांग्रेस के नेता इस विधेयक के मसले पर टाल-मटोल करते रहे, और आखिरी दिन इसे सदन में पटल पर रखा जाना था.

कानून मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मॉब लिंचिंग के प्रति सख्त रुख अपनाया हुआ है और राज्य सरकारों को दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने कहा, ‘लेकिन उसी तरह सभी को उन लोगों की भावनाओं को भी समझना चाहिए जो गाय की पूजा करते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।