कोलकाता. लोकसभा के पूर्व स्पीकर सोमनाथ चटर्जी का निधन हो गया है. वह किडनी की बीमारी के चलते कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती थे, जहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. सोमनाथ चटर्जी लंबे समय से बीमार से जूझ रहे थे. 89 वर्षीय चटर्जी का आज सुबह निधन हुआ.  उन्हें 10 अगस्त को इलाज के लिए दुबारा अस्पताल लाया गया था. वामपंथी वटवृक्ष की जड़ रहे सोमनाथ चटर्जी ने राजनीति में कभी अपने उसूलों से समझौता नहीं किया और संसदीय लोकतंत्र की मजबूती उनकी पहली प्राथमिकता रही. 25 जुलाई 1929 को असम के तेजपुर में जन्मे चटर्जी ने जीसस कालेज से स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई की.

राजनीति में प्रवेश से पूर्व वह कलकत्ता उच्च न्यायालय में एक अधिवक्ता के रूप में प्रैक्टिस करते रहे. 1968 में वह माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) में शामिल हुए. पहली बार उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप माकपा के सहयोग से लोकसभा चुनाव लड़ा और सांसद निर्वाचित हुए.चटर्जी ने नौ बार चुनाव जीता , हालांकि 1984 में जाधवुर संसदीय सीट से सुश्री ममता बनर्जी के हाथों चुनाव हार गये. 1989 से 2004 तक वह लोकसभा में अपनी पार्टी के नेता रहे. वह बतौर सांसद दसवीं बार 2004 में बोलपुर संसदीय सीट से निर्वाचित हुए.

चार जून 2004 में चटर्जी सर्वसम्मति से 14वीं लोकसभा का अध्यक्ष नियुक्त किया गया और 2009 तक इस पद पर रहे. 2008 में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने जब अमेरिका के साथ परमाणु समझौता किया तो माकपा ने सरकार से समर्थन वापस ले लिया था औरचटर्जी से लोकसभा अध्यक्ष का पद छोडऩे को कहा , लेकिनचटर्जी ने यह कहते हुए पद से हटने से इंकार कर दिया था कि लोकसभा अध्यक्ष के रूप में वह किसी पार्टी के साथ नहीं है. उसके बाद माकपा ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था. पिछले 10 साल से वह राजनीति से अलहदा रहे.

इसे भी पढ़ें:- 10 बार सांसद रहे लोकसभा के पूर्व स्पीकर सोमनाथ चटर्जी का निधन  

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।