ज्यादातर महिलाओं में मेनोपॉज की उम्र 45 से 50 साल होती है. मेनोपॉज एक ऐसी अवस्था है जब महिलाओं में पीरियड्स बंद हो जाते हैं. कई बार कुछ महिलाओं में 30-40 साल में ही मेनोपॉज हो जाता है, जिसके कारण उन्हें कई तरह की शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है. मेनोपॉज कोई बीमारी नहीं है बल्कि महिलाओं के शरीर की एक अवस्था है जिसके बाद महिलाओं में कई तरह के हार्मोनल बदलाव नजर आते हैं.

भारतीय महिलाओं में ज्यादा खतरा

एक अध्ययन से पता चला है कि लगभग एक-दो प्रतिशत भारतीय महिलाएं 29 से 34 साल के बीच रजोनिवृत्ति के लक्षणों का अनुभव करती हैं. इसके अतिरिक्त, 35 से 39 साल की उम्र के बीच की महिलाओं में यह आंकड़ा आठ प्रतिशत तक बढ़ जाता है.

मेनोपॉज के दौरान परेशानियां

मेनोपॉज के वक्‍त कुछ समस्‍यायें हो सकती हैं, वजन बढ़ना, चिड़चिड़ापन, थकान, लगातार खाते रहने की चाहत आदि मेनोपॉज के प्रमुख लक्षण हैं. हालांकि यह समस्‍या सभी महिलाओं में एक जैसे नहीं हो सकते. घबराहट ज्‍यादातर महिलाओं में होने वाली आम समस्‍या है. यह समस्‍या रात के समय बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है.

पोस्ट मेनोपॉजल ऑस्टियोपोरोसिस

इसके अलावा मेनोपॉज के बाद स्त्रियों को भी ऐसी समस्या होती है, जिसे पोस्ट मेनोपॉजल ऑस्टियोपोरोसिस कहा जाता है. दरअसल मेनोपॉज के बाद स्त्रियों के शरीर में फीमेल हॉर्मोन एस्ट्रोजेन का स्राव कम हो जाता है. यह हॉर्मोन उनकी हड्डियों के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है. इसकी मात्रा घटने की वजह से हड्डियों से कैल्शियम का रिसाव होने लगता है. यह शरीर का अपना मेकैनिज्म है, जब खून में कैल्शियम की कमी होती है तो उसे पूरा करने के लिए हड्डियों से रक्त कैल्शियम खींचने लगता है, नतीजतन हड्डियां कमजोर पड़ जाती हैं. इसके अलावा कैल्शियम के मेटाबॉलिज्म में भी यह हॉर्मोन मददगार साबित होता है.

प्रीमेच्योर मेनोपॉज के लक्षण

अनियमित पीरियड्स या पीरियड्स का मिस हो जाना

सामान्य से बहुत ज्यादा या कम पीरियड्स आना

खून में असंतुलन होने के कारण गर्मी लगती है और पसीना आता है.

अक्सर दिल की धड़कन तेज हो जाती है.

प्राइवेट पार्ट में कई तरह के बदलाव आते हैं

त्वचा में रूखेपन की समस्या हो जाती है

स्वभाव में चिड़चिड़ापन हो जाता है.

नींद नहीं आती है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।