बेस्ट ऑफ हनीमनी. वो जमाना लद गया जब सफेद बालों की चर्चा होती थी, क्योंकि अब काले बाल होना कोई बहुत बड़ी खासियत नहीं रही. अब तो कई रंगों के बाल बाजार में आ गए हैं. बेचारे बाल की तो खाल ही निकल आई है. कोई कटवा रहा है, कोई छंटवा रहा है, कोई सीधे करवा रहा है, कोई जुल्फे लहरा रहा है तो कोई नए उगा रहा है? ऐसा लगता है जैसे खोपड़ी न हो, कोई गार्डन हो जिसे सजाने-संवारने का स्थाई काम हाथ लग गया हो! खोपड़ी को संवारने के नए-नए उपकरण बाजार में आ गए हैं, तो खाद-बीज की तरहा तेल-शेंपू छा गए हैं. खैर, जमाना भले ही बदल जाए पर प्रकृति के दिए स्वस्थ बालों की जरूरत कभी कम नहीं होती? आइए, जाने कि क्या है बालों की हकीकत... बाल हमारी शख्सियहत का महत्वपूर्ण अंग होते हैं.

अच्छे, स्वस्थ बाल हमारी खूबसूरती में चार चांद लगा देते हैं पर झड़ते-पकते बाल, रूसी, दो मुंहे, रूखे और बेजान बाल, इत्यादि कई समस्याएं बालों को स्वस्थ नहीं रहने देती. आजकल की जीवनशैली में हम इतने व्यस्त हैं कि अपने बालों पर पूरा ध्यान नहीं दे पाते और महंगे कॉस्मेटिक प्रोडेक्ट्स व ब्यूटी ट्रीटमेंट्स पर पैसा बहाते हैं, जबकि थोड़ी से केयर और स्पा ट्रीटमेंट से हम बालों को सुंदर और स्वस्थ रख सकते हैं.

सबसे पहले तो बाल क्यों रोगग्रस्त होते हैं इसका कारण जानना जरूरी है-

1. आनुवांशिक प्रभाव.

2. शरीर में आयरन व प्रोटीन की कमी.

3. खुशबूदार तेलों व रसायन युक्त शैंपुओं का बेतहाशा प्रयोग.

4. स्टारल बनने बनाए रखने के लिए तेल नहीं लगाना.

5. कैप- हैलमेट का नित्य प्रयोग.

6. सबसे प्रमुख कारण रक्त संचार का कमजोर पडऩा.

7. गर्म पानी से बाल धोना आदि!

इन समस्याओं से कैसे निपटा जाए? क्या करें, क्या न करें?

1. पानी खूब पीएं.

2. आंवला चूर्ण या मुरब्बा अपनी दिनचर्या में शामिल करें.

3. हरी सब्जियां नित्य खूब खाएं.

4. तेल की मालिश और स्टीम ताकि रक्त संचार बढ़े और सिर में खुश्की न रहे, जो रूसी का प्रमुख कारण है और बालों की जड़ें कमजोर करता है. तेल की मालिश हमेशा रात में करें. रात भर तेल बालों में लगा रहने दें. सुबह उठ कर कोई भी अच्छा शैम्पू (बालों की प्रकृति के अुनसार) करें तथा फिर बालों में तेलों की जगह सीरम का प्रयोग करें. तेल डस्ट को सक करता है, इसलिए दिन में तेल न लगाएं.

5. कंडीशनर न करें और यदि करें तो बालों की जड़ों में ना लगाएं सिर्फ बालों के ऊपरी हिस्से में लगाएं.

6. हैलमेट या कैप पहनते समय किसी पतले सूती कपड़े से बालों को कवर करें.

7. बाल हमेशा नॉर्मल पानी से धोएं. इन सभी उपायों को आजमाएं फिर देखिए आपके बाल कैसे सुंदर, स्वच्छ, चमकदार बने रहते हैं. इन सबमें जो सबसे महत्वपूर्ण उपाय है वह है मसाज (तेल मालिश) सिर की चम्पी के लिए आप कोई-सा भी अच्छा आयुर्वेदिक तेल, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल (ग्रीष्म ऋतु में) या आंवले का तेल और अगर उपलब्ध हो सके तो शुद्ध बादाम का तेल प्रयोग में ले सकते हैं. ध्यान रहे सेंटेड ऑयल यूज न करें. मालिश से खोपड़ी की नाड़ी-नसों में उत्तेजना का संचार होता है.

रक्त प्रवाह तेजी से बढ़ता है. सिर की त्वचा को स्निग्धता मिलती है, जिससे खुश्की कम होती है तथा बालों की जड़ें मजबूत होती है. सिर दर्द में भी आराम मिलता है, नींद अच्छी आती है तथा बालों के स्वास्थ्य के लिए भी यह रामबाण है ही! तो बस... इन उपायों को आजमाएं, महंगे ब्यूटी ट्रीटमेंट्स को अलविदा कहें तथा बालों के स्वास्थ्य की तरफ से निश्चिंत हो जाएं.

* मनीष मिश्रा

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।