ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शिव की आराधना से कुंडली के बहुत सारे दोषों की शांति की जा सकती है. जीवन में सुख-समृद्धि की प्राप्ति के लिये भी राशिनुसार शिव की आराधना करने का विधान बताया जाता है. भगवान शिव यूं तो मात्र जल और बिल्वपत्र से प्रसन्न हो जाते हैं लेकिन उनका पूजन अगर अपनी राशि के अनुसार किया जाए तो अतिशीघ्र फल की प्राप्ति होती है. तो आइये जानते हैं किस राशि के जातको को किस प्रकार के पूजन का लाभ मिल सकता है.

मेष 

रक्तपुष्प से पूजन करें तथा अभिषेक शहद से करें. ‘ॐ नम: शिवाय’ का जप करें. इस राशि के जातक को  गुड़ और गुलाब के जल से भी रुद्राभिषेक करना चाहिये. इसके साथ मीठी रोटी का भोग लगाएं, लाल चंदन चढ़ाएं.

वृषभ 

राशि वाले  श्वेत पुष्प तथा दुग्ध से पूजन-अभिषेक करें. महामृत्युंजय का मंत्र जपें. इ  स राशि के जातक को  दही और केवड़े से रुद्राभिषेक करना चाहिए. इसके साथ शक्कर, चावल, सफेद चंदन, सफेद फूल से पूजा करनी चाहिए.

मिथुन 

अर्क, धतूरा तथा दुग्ध से पूजन-अभिषेक करें. शिव चालीसा पढ़ें.  इस राशि के जातक को गन्ने के रस से भगवान का रुद्राभिषेक करना चाहिए. इसके साथ शिवजी पर मूंग, दूब और कुश चढ़ाएं.

कर्क 

श्वेत कमल, पुष्प तथा दुग्ध से पूजन-अभिषेक करें. शिवाष्टक पढ़ें..  इस राशि के जातक को घी से रुद्राभिषेक करना चाहिये. इसके साथ चावल, कच्चा दूध, सफेद आक व शंखपुष्पी को शिवलिंग पर अर्पित करें.

सिंह 

रक्त पुष्प तथा पंचामृत से पूजन-अभिषेक करें. शिव महिम्न स्त्रोत पढ़ें. इस राशि के जातक को जल में गुड़ मिलाकर अभिषेक करना चाहिये. इसके साथ  गुड़ चावल से बनी खीर का भोग लगाएं और गेहूं के चूरे और मदार के फूल अर्पित करें.

कन्या

हरित पुष्प, भांग तथा सुगंधित तेल से पूजन-अभिषेक करें. शिव पुराण में वर्णित कथा का वाचन करें. इस राशि के जातक को गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिएं. असके साथ भांग, दूब व पान का अर्पण करना चाहिएं.

तुला 

श्वेत पुष्प तथा दुग्ध धारा से पूजन अभिषेक करें. महाकाल सहस्त्रनाम पढ़ें. इस राशि के जातक को  सुगंधित तेल या इत्र से भगवान का अभिषेक करना चाहिए. इसके साध दही, शहद व श्रीखंड का भोग लगा कर सफेद फूल भगवान को अर्पित करें.

वृश्चिक 

रक्त पुष्प तथा सरसों तेल से पूजन-अभिषेक करें. शिव जी के 108 नामों का स्मरण करें.  इस राशि के जातक को पंचामृत से अभिषेक करना चाहिएं. इसके साथ लाल फुल से शिव  की पूजा करनी चाहिए.

धनु 

पीले पुष्प तथा सरसों तेल से पूजनअभिषेक करें. 12 ज्योतिर्लिंगों का स्मरण करें.  इस राशि के जातक को हल्दी मिले दूध से अभिषेक करनी चाहिए. इसके साथ मिश्री और बेसन की मिठाई का भोग लगाकर गेंदे के फूल अर्पित करने चाहिए.

मकर 

नीले-काले पुष्प तथा गंगाजल से पूजन अभिषेक करें. शिव पंचाक्षर मंत्र का जप करें. इस राशि के जातक को नारियल पानी से शिव का अभिषेक करना चाहिए. इसके साथ उड़द की मिठाई का भोग लगाकर नीलकमल के फूलों को अर्पित करें.

कुंभ 

जामुनिया-नीले पुष्प तथा जल से पूजन-अभिषेक करें. शिव षडाक्षर मंत्र का 11 बार स्मरण करें.  इस राशि के जातक को  तिल के तेल से रुद्राभिषेक करना चाहिए. इसके साथ उड़द की मिठाई का भोग लगाकर शमी के फूल अर्पित करें.

मीन

पीले पुष्प तथा मीठे जल से पूजन-अभिषेक करें. रावण रचित शिव तांडव का पाठ करें.

इस राशि के जातक को केसर मिला दूध से शिव का अभिषेक करना चाहिएं. इसके साथ दही-चावल का भोग लगाकर पीली सरसों और नागकेसर को अर्पित करना चाहिये.

भोलेनाथ को बिल्वपत्र, भांग, अर्क पुष्प, धतूरे के पुष्प-फल भी चढ़ाए जाते हैं. जो वस्तु कम हो, उस वस्तु की जगह अक्षत का प्रयोग करें.

* पंडित भवानी शंकर वैदिक

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।