नई दिल्ली. कार वाशिंग का जिक्र आते ही आपको लगता होगा इसका बिजनेस बहुत ही समान्य सा होता है. इसमें बहुत ज्यादा तकनीक का प्रयोग नहीं किया जाता है. और हर जगह कमोबेश एक ही तरीके से काम होता है. लेकिन ठहरिए, अगर ऐसा आप सोचते हैं, तो अपनी राय बदल लीजिए. दरअसल, हम आपको जिसकी जानकारी दे रहे हैं, उसके बारे में जानेंगे, तो आप भी अपने दांतों तले उंगली दबा लेंगे.

 लिव इंडिया ग्रुप संभवतः भारत की वो पहली कंपनी है, जिसने कार वाशिंग के क्षेत्र में अपना ब्रैंड बनाया है. कंपनी अब विदेशों में भी अपना पैर पसार रही है. श्रीलंका, बांग्लादेश और नेपाल तक उनकी पहचान बन रही है. उसके बाद सार्क के अन्य देशों में भारत के इस बिजनेस मॉडल को ले जाने की योजना बनाई गई है. कंपनी का दावा है कि इससे न सिर्फ लोगों को रोजगार मिल रहा है, बल्कि नए क्षेत्र में भारत की यह कंपनी अपनी पहचान भी बना रही है. 

कंपनी प्रमुख जसमीत सिंह कहते हैं कि यह सचमुच अपने आप में अनूठा है. उन्होंने कहा कि उनके यहां स्पीड कार वाश, कोजी कार्स (ड्राइ वाश), डिटेलिंग डैडी (प्रीमियम कार के लिए) पैकेज हैं. ये सभी कार वाशिंग के तरीके हैं. उन्होंने बताया कि तकनीक के साथ-साथ पर्यावरण का भी ध्यान रखना पड़ता है. इसलिए भारत में उन्होंने पहली बार ऐसी तकनीक का प्रयोग किया, जिससे नुकसान न हो. पानी की खपत कम हो. जसमीत के अनुसार मात्र 60 से 70 लीटर पानी में कार वाश कर दी जाती है. 

सामान्य सर्विस सेंटर पर 400 लीटर पानी तक खर्च हो जाता है. उन्होंने कहा कि उन्हें जर्मनी से प्रेरणा मिली. उनके अनुसार भारत में अभी इस तरह के सर्विस सेंटर बड़ी संख्या मे नहीं हैं. लिहाजा, आने वाले समय में वो लोगों की सोच में बदलाव ला देंगे. 

उनका ये भी कहना है कि जिस तरह से ओला कैब की सर्विस है, उसी तरह से आप फोन कर देंगे, तो हमारे आदमी आपके घर तक पहुंच जाएंगे और सर्विस उपलब्ध करवाएंगे. इसके लिए कार मालिक को बाजार या सेंटर पर आने की जरूरत नहीं है. कंपनी की ओर से जानकारी दी गई है कि इन्होंने फोफो, फ्रेंचाइजी ऑन्ड फ्रेंचाइजी ऑपरेटेड, मॉडल की तर्ज पर पूरे देश में बिजनेस को फैलाया है. इससे लोग एंटरप्रेन्योरशिप भी शुरू कर सकते हैं. आप कंपनी की वेबसाइट पर जाकर डिटेल जानकारी ले सकते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।