जगत जननी माँ दुर्गा के तीन स्वरूपों में महाकाली, महालक्ष्मी और महासरस्वती की आराधना करने से हमें माँ दुर्गा से शक्ति, महाकाली से पवित्रता, महलक्ष्मी से वैभव के साथ महासरस्वती से ज्ञान को अपने जीवन में उतारने का संदेश मिलता है. शास्त्रों में विद्या को सबसे बड़ा धन माना गया है क्योंकि विद्या ही इंसान के सारे संस्कार, मर्यादा, गुणों से जोड़कर उसके चरित्र, व्यवहार और कर्म को दर्शाता है.

एक यही कारण है जो कि हर माता- पिता अपनी संतान का जीवन व भविष्य संवारने के लिए न जाने कितनी कठोर मेहनत करते हैं. वह चाहते हैं कि उनके बच्चे अधिक से अधिक विद्या प्राप्त कर अपने जीवन के लक्ष्यों को बिना कठिनाईयों के पा सके. ज्ञान के लिए या ज्ञान को प्राप्त करने के लिए माँ सरस्वती की आराधना  के साथ-साथ आप सरस्वती मंत्र का उचारण भी कर सकते हैं जो कुछ इस प्रकार हैं-

महासरस्वती मंत्र – 1

देवी सरस्वती का मूल मंत्र निम्न है

ॐ ऐं सरस्वत्यै ऐं नमः

संपूर्ण सरस्वती मंत्र: ॐ ऐं ह्रीं क्लीं महासरस्वती देव्यै नमः

महासरस्वती मंत्र – 2

यदि बच्चें परीक्षा में डरते है तो इस मंत्र के जाप उनको काफी लाभ हो सकता हैं.

ॐ ऐं ह्रीं श्रीं वीणा पुस्तक धारिणीम् मम् भय निवारय निवारय अभयम् देहि देहि स्वाहा

महासरस्वती मंत्र – 3

याद करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए इस मंत्र का जाप करें

ऐं नमः भगवति वद वद वाग्देवि स्वाहा

महासरस्वती मंत्र – 4

उच्च शिक्षा और बुद्धिमत्ता के लिए माँ सरस्वती के इन मंत्रों का जाप करें

शारदा शारदाभौम्वदना. वदनाम्बुजे

सर्वदा सर्वदास्माकमं सन्निधिमं सन्निधिमं क्रिया तू

श्रीं ह्रीं सरस्वत्यै स्वाहा

ॐ ह्रीं ऐं ह्रीं सरस्वत्यै नमः

महासरस्वती मंत्र -5

कला और साहित्य के क्षेत्र में सफलता पाने के लिए इस मंत्र का जाप करें

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमां आद्यां जगद्व्यापिनीं

वीणा पुस्तक धारिणीं अभयदां जाड्यान्धकारापाहां

हस्ते स्फाटिक मालीकां विदधतीं पद्मासने संस्थितां

वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धि प्रदां शारदां

महासरस्वती मंत्र – 6

बाधाओं से निवारण के लिए माँ सरस्वती के इस मंत्र का जाप करें

ऐं ह्रीं श्रीं अंतरिक्ष सरस्वती परम रक्षिणी

मम सर्व विघ्न बाधा निवारय निवारय स्वाहा

बुद्धि को बढ़ाये सरस्वती मंत्र के साथ

देखा गया है की बढ़ती उम्र के साथ बच्चों के आस-पास का वातावरण उनकी को बुद्धि को काफी प्रभावित करता है, इसलिए घर के माहौल में सकारात्मक वातावरण बनाए रखने से जीवन सुधार में भी सहयक हैं. अगर घर में कहीं भी नकारात्मक वातावरण के कारण बच्चा पढ़ाई में मन नहीं लगा पता या यादाशत में कमी होने वाली जैसी समस्या पैदा हो जाती हैं तो कहीं न कहीं उसके जीवन सुधार में भी कुछ बाधक उत्पन हो सकती हैं. इसके लिए भी माँ सरस्वती के मंत्र द्वारा निजात पा सकते हैं.

हिन्दू पंचांग के माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि यानी बसंत पंचमी को बच्चे को स्नान करवाएं और फिर उनके हाथों से महासरस्वती की मूर्ति को सफेद फूल चढ़वाएं. सफेद मिठाई का भोग लगवाएं, धूप-दीप से पूजा करवाएं और साथ ही इन मंत्रों को बच्चों से बुलवाएं या फिर स्वयं अपनी संतान की बुद्धि के लिए कामना करें.

सरस्वती मंत्र कुछ इस प्रकार हैं-

ॐमहाविद्यायैनम:

ॐवाग्देव्यैनम:

ॐज्ञानमुद्रायै नम:

माँ सरस्वती के मंत्र को रोज़ाना उचारण करें जिससे आपको मन की शांति भी मिलेगी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।