ग्वालियर. मासूम मायरा को बचाने की कोशिश में उसकी मौसी समरीन की गुरुवार को जान चली गई. इसके बाद भी मायरा नहीं बची. करीब 14 घंटे जिंदगी और मौत के बीच अस्पताल में लड़ने के बाद शुक्रवार को मायरा की सांसें थम गईं. इधर उसकी मौसी का जनाजा उठने की तैयारी चल रही थी, उसी बीच मायरा की मौत की खबर ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया.

पूरे क्षेत्र में मातम पसर गया. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था. समरीन की मां रेहाना बार-बार खुद को कोस रही थी कि उसने अमरीन को घर क्यों बुलाया. गुरुवार रात को ही मायरा और उसकी मां अमरीन वापस अपने घर जाने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही हादसा हो गया.

कंपू स्थित छुट्टा की बजरिया में रहने वालीं रेहाना पत्नी मकसूद अली के घर का ऊपरी हिस्सा गिर पड़ा. जिस समय ऊपरी हिस्सा गिरा उस समय रेहाना की बेटी समरीन अपनी 2 साल की भांजी मायरा को गोद में लेकर खिला रही थी. मायरा अपनी मां अमरीन निवासी आपागंज के साथ दो दिन पहले ही नानी के घर आई थी. समरीन ने अपनी भांजी को बचाने के लिए गोद से उछाल दिया लेकिन फिर भी वह मलबे के नीचे दब गई. समरीन की तो गुरुवार को ही मौत हो गई, मायरा को गंभीर हालत में जेएएच में भर्ती कराया गया था.

पिता के पहुंचने से पहले हो गया हादसा:शुक्रवार सुबह 9.30 बजे उसकी मौत हो गई. मायरा के पिता जावेद खान ऑटो चलाते हैं. मायरा अपने पिता की लाड़ली थी. इसके चलते जावेद गुरुवार रात को ही उसे लेने जाने वाले थे, लेकिन समय को कुछ और ही मंजूर था. वह पहुंचते इससे पहले ही यह दुखद हादसा हो गया और उनकी बेटी हमेशा के लिए उनसे दूर चली गई. अमरीन और जावेद की शादी 4 साल पहले हुई थी. मायरा से बड़ी एक और बेटी है.

शव पहुंचते ही मच गई चीख-पुकार:मायरा की मां को किसी ने नहीं बताया था कि उसकी मौत हो चुकी है. वह अपनी मां के घर पर ही थी. दोपहर करीब 1 बजे समरीन का शव पोस्टमार्टम के बाद घर पहुंचा. उसे शमशान घाट ले जाने की तैयारी चल रही थी, तभी मायरा का शव पहुंच गया. इसके बाद तो वहां चीख पुकार मच गई. मायरा के शव का परिजनों ने पीएम नहीं कराया. उसके शव को नानी के घर से उसके पिता आपागंज ले गए.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।