इनदिनों. मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के तमाम बेहतर प्रयासों के बावजूद मध्य प्रदेश में भाजपा 2013 जैसी बेहतर स्थिति में नहीं है! दरअसल, केन्द्र सरकार की गलतियों के कारण बढ़ी जनता की नाराजगी ने प्रादेशिक सरकार की कोशिशों पर असर डाला है?

केन्द्र सरकार के नोटबंदी, जीएसटी जैसे निर्णयों ने मध्यम वर्ग को विशेष तौर पर प्रभावित किया है, ऐसी स्थिति में उन्हें साधने की विशेष जरूरत है, क्योंकि यही वर्ग गरीबों का चुनावी मार्गदर्शक है!

वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में भाजपा को 44.88 प्रतिशत वोटों के साथ 165 सीटें मिली थी और उसे 22 सीटों का फायदा हुआ था तो कांग्रेस को 36.36 प्रतिशत वोटों के साथ 58 सीटें मिली थीं और उसे 13 सीटों का घाटा हुआ था जबकि बसपा को 6.29 प्रतिशत वोट के साथ 4 सीटें मिली थी और उसे 3 सीटों का घाटा हुआ था.

अब सियासी हालात बदल गए हैं, उपचुनावों के नतीजे बताते हैं कि भाजपा पहले जैसी मजबूत स्थिति में नहीं है और यदि कांग्रेस-बसपा गठबंधन हो गया तो भाजपा की मुश्किलें और भी बढ़ जाएंगी! वजह? वर्ष 2013 के हिसाब से ही प्राप्त प्रतिशत वोट के मामले में कांग्रेस-बसपा गठबंधन, भाजपा के करीब पहुंच जाएगा! नतीजा? कम अंतर से भाजपा के जीत वाले क्षेत्रों पर प्रश्रचिन्ह लग जाएगा!

खबर है कि... मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों में गठबंधन की संभावनाओं पर चर्चा के लिए मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और बसपा अध्यक्ष मायावती ने दिल्ली में मुलाकात की. इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मानक अग्रवाल ने प्रेस को बताया कि... प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और बसपा प्रमुख मायावती की दिल्ली में मुलाकात हुई. यह मुलाकात प्रदेश में आसन्न विधानसभा चुनाव के लिए गंठबंधन की संभावनाओं पर चर्चा के लिए हुई!

उनका कहना था कि... प्रदेश अध्यक्ष पहले ही कह चुके हैं कि भाजपा को सत्ता से हटाने के लिये कांग्रेस, बसपा जैसे समान विचारधारा वाले दलों के साथ चुनाव पूर्व तालमेल के लिये तैयार है.

उधर, एमपी में विधानसभा चुनावों को लेकर हलचलें बढ़ती जा रही हैं, जहां कांग्रेस को मात देने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा है तो इसके जवाब में कांग्रेस का- पोल खोल अभियान! मध्य प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी के नेतृत्व में पोल खोल अभियान वहीं चलेगा जहां से शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा निकल रही है? 

जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान अपनी आशीर्वाद यात्रा में जनता को अपने कार्यों की जानकारी दे कर जीत का आशीर्वाद मांग रहे हैं वहीं पोल खोल अभियान शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करेगा? 

इस बार के विधानसभा चुनाव में जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान के समक्ष एक बार फिर कामयाबी का परचम लहराने की चुनौती है, वहीं कांग्रेस के सामने कैसे भी एमपी की सत्ता हांसिल करने का सवाल है? इस बार वर्ष 2013 के मुकाबले भाजपा थोड़ी कमजोर नजर आ रही है तो कांग्रेस मजबूत, लेकिन भाजपा के चुनाव प्रबंधन के सामने कांग्रेस का चुनाव प्रबंधन कितना दमदार रहता है? इसी पर निर्भर है एमपी विधानसभा चुनाव की हार-जीत!

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।