इनदिनों. बिहार में क्या होगा? के सवाल पर अलग-अलग संभावनाएं सामने आ रही हैं, लेकिन राजनीतिक जानकारों का मानना है कि सियासी दबाव बनाने के लिए भले ही बिहार के सीएम नीतीश कुमार तेवर दिखाते रहे हों, वे भाजपा के साथ ही रहेंगे!

हालांकि, राजनीति में कुछ भी संभव है, परंतु जिस भरोसे के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि- जदयू और भाजपा का गठबंधन टूटने नहीं जा रहा है? यह साफ हो गया कि सत्ता के बंटवारे का रास्ता निकल आएगा!

उनका कहना था कि सीएम नीतीश कुमार हमारे साथ हैं और हमारे साथ ही रहेंगे. जिस तरह से हमारे गठबंधन को तोडऩे की कोशिशें चल रही हैं, मैं कह देना चाहता हूं कि आगामी लोकसभा चुनाव में हम 40 की 40 सीटें जीतने जा रहे हैं! 

दरअसल, भाजपा और जदयू, दोनों के लिए आम चुनाव 2019 बेहद महत्वपूर्ण हैं, जो दोनों ही दलों की दशा और दिशा तय करेंगे? जहां भाजपा गठबंधन के लिए 33 से ज्यादा सीटें जीतने की चुनौती है, वहीं जदयू के लिए बंटवारे में अधिकतम सीटें प्राप्त करने की परेशानी है, यही नहीं नीतीश कुमार के लिए बिहार का चेहरा बने रहने की भी जरूरत है!

उल्लेखनीय है कि 2014 लोकसभा चुनाव में राजग 40 सीटों में से कुल 31 सीटें जीता थी, जबकि अलग चुनाव लड़े जदयू को 2 सीट मिली थी, अब जदयू, राजग के साथ है, लिहाजा 33 सीटें इनके पास हैं, शेष विपक्ष के पास हैं!

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि इस तरह से भाजपा और जदयू के बीच सत्ता की समीकरण तैयार हो सकती है...

* देश हमारा, प्रदेश आपका की तर्ज पर भाजपा-जदयू में समझौता हो सकता है, मतलब... लोकसभा में अधिकतम सीटें भाजपा को तो विधानसभा में ज्यादा सीटें जदयू को!

* विपक्षी 7 सीटें, 2 जदयू की सीटें और करीब 6 मुश्किल सीटें जिन पर भाजपा बहुत कम वोटों से जीती थी, जदयू को दी जा सकती हैं!

* इनके अलावा राजस्थान, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में जहां समाजवादियों का असर है और भाजपा के लिए सीट निकालना कठिन है, ऐसी सीटें भी जदयू को दी जा सकती हैं!

फिलहाल सियासी संकेत यही हैं कि भाजपा किसी भी तरह से जदयू को अपने साथ रखने की कोशिश करेगी तो नीतीश कुमार सत्ता के समीकरण में अधिकतम हिस्सा हांसिल करने की कोशिश करेंगे, यदि सीटों का संतोषजनक संतुलित बंटवारा नहीं हो पाया तो ही भाजपा-जदयू अलग हो सकते हैं, क्योंकि महागठबंधन में भी अब नीतीश कुमार के लिए कोई अच्छी संभावना नहीं बची है! यह बात अलग है कि नीतीश कुमार के वोट बैंक का नेचर भाजपा से ज्यादा महागठबंधन के करीब है?

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।