भोपाल. कांग्रेस की कमान राहुल गांधी के हाथ में आने के बाद पार्टी की कार्यशैली में बदलाव नजर आने लगा है, जमीनी और मेहनती कार्यकर्ताओं को महत्व मिलने लगा है. मध्य प्रदेश में भी ऐसा ही कुछ नजर आने लगा है, चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने समिति का समन्वयक एक जमीनी कार्यकर्ता को बनाया है. आमतौर पर माना जाता है कि कांग्रेस में राजनीति वही व्यक्ति कर सकता है, जिसका कोई गॉडफादर हो, पद और टिकट उसी व्यक्ति को मिलता है जो खानदानी या राजनेता का करीबी हो. मगर बीते दिनों हुए कुछ फैसले इससे इतर रहे हैं. युवक कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव यादव को बनाया गया, केशव लंबे समय तक जमीनी स्तर पर काम करते रहे हैं. केशव को मध्य प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था और अब सिंधिया ने प्रचार अभियान समिति का समन्वयक मनीष राजपूत को बनाया है.

मनीष राजपूत को बनाया प्रचार समिति का समन्वयक

कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख मानक अग्रवाल ने चर्चा के दौरान इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि सिंधिया ने प्रचार समिति का समन्वयक राजपूत को बनाया है. शनिवार को हुई समिति की बैठक में राजपूत का सदस्यों से परिचय भी कराया. प्रचार अभियान समिति के सदस्य और विधायक रामनिवास रावत ने कहा कि समिति की बैठक में निर्णय हुआ है कि प्रचार के लिए निचले स्तर पर समितियां बनाई जाएंगी. राजपूत की पहचान राज्य आदिवासी इलाकों में एक सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर है

पिछले 25 सालों से इस इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं राजपूत

मनीष राजपूत लगभग 25 साल से अधिक समय से इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं. वह एकता परिषद् के राजनीतिक समन्वयक के तौर पर भी काम कर चुके हैं. वह पी.वी. राजगोपाल के करीबियों में गिने जाते हैं. राजपूत अरसे से सिंधिया के संसदीय क्षेत्र गुना और विधानसभा चुनावों में जमीनी काम करते रहे हैं. हाल ही में कोलारस और मुंगावली के विधानसभा उपचुनाव के दौरान उन्होंने सहरिया आदिवासियों के बीच शराब बंदी अभियान चलाया था, जिसमे 100 से अधिक गांव में लोगों ने शराब छोड़ने के साथ पैसा बांटने वाले को वोट न देने का संकल्प लिया था.

जमीनी स्तर के लोगों को बड़ी जिम्मेदारी

कांग्रेस राज्य के आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उन लोगों पर दाव लगाने की तैयार कर रही है, जिनकी जमीन पर पकड़ है और जिनका कोई गॉड फॉदर नहीं है. इसके साथ ही समाज के विभिन्न वर्गो से जुड़े लोगों केा भी पार्टी से जोड़ने की रणनीति बन रही है. इतना ही नहीं पार्टी जमीनी स्तर पर उन कार्यकर्ताओं की तलाश में लगी है, जो अरसे से उपेक्षित हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।