द मुस्लिमा सेक्स मैनुअल: ए हलाल गाइड टू माइंड ब्लॉइंग सेक्स’ नामक एक किताब एक बार फिर चर्चा में है. वैसे इस का प्रकाशन  पिछले वर्ष ही हुआ था, जिसके बारे में काफी चर्चाएं हुईं थीं. इस पुस्तक के बारे में कहा जा रहा है कि यह मुस्लिम महिलाओं के वैवाहिक जीवन में क्रांतिकारी बदलाव ला सकती है. यह किताब लिखने वाली खुद एक महिला हैं, हालांकि उन्होंने अपने असली नाम से यह किताब नहीं लिखी है, बल्कि छद्म नाम ‘उम मुलाधत’ का इस्तेमाल किया है. लेखिका का कहना है, ‘यह किताब आपके वैवाहिक जीवन को बदलकर रख देगी.’ कहा जा रहा है कि ‘द मुस्लिमा सेक्स मैनुअल’शादीशुदा मुस्लिम महिलाओं को सेक्स सिखाने वाली अपनी तरह की पहली किताब है.

इस्लामिक मजहब के अधीन शरीयत कानून में हलाला जैसे नियम है जिसका अक्सर मुस्लिम समुदाय की औरते निंदा करती है और कहती है यह नियम मुस्लिम औरतो के प्रति हिंसा है. पिछले वर्ष  हलाला जैसे मुद्दे पर देशव्यापी चर्चा छिड़ी थी और इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट को भी टिप्पणी  करना पड़ा था. बताते चले कि समाज में सेक्स को लेकर खुलेआम बात करने को संस्कारों के खिलाफ माना जाता है. महिलाएं सेक्स, संबंध जैसी चीजों पर लेकर खुलेआम बात नहीं करती. अगर मुस्लिम महिलाओं की बात करें तो वहां पाबंदियां और भी ज्यादा है, लेकिन पहली बार मुस्लिम महिलाओं को लिए सेक्स गाइड आ गई है. इस किताब में शादीशुदा मुस्लिम महिलाओं को उसके सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए कई टिप्स दिए गए हैं.

‘हलाल सेक्स गाइड’ मुस्लिम समाज में फैले उस मिथक को भी झुठलाती है,  जिसके तहत माना जाता है कि एक सच्चा मुसलमान बिस्तर पर अश्लील नहीं हो सकता है. बहुत से युवा मुसलमान मानते हैं कि नमाज पढ़ने वाली और बुर्का व हिजाब पहनने वाली मुस्लिम महिलाओं की सेक्स लाइफ बहुत नीरस है. इस किताब के जरिए यह संदेश देने का प्रयास किया गया है कि मुस्लिम महिलाओं को भी भरपूर यौन जीवन का आनंद उठाना चाहिए.

लेखिका ने इस किताब में अपनी एक दोस्त का जिक्र किया है, जिससे वो शादी के कुछ दिनों बाद मिली. लेखिका की दोस्त के चेहरे पर खुशी नहीं थी. बातचीत के दौरान दोस्त ने स्वीकार किया कि उसकी सेक्स लाइफ नहीं के बराबर है. ऐसा तब था जब लेखिका की मित्र मेडिकल फील्ड से आती थी और उसे स्त्री-पुरुष शरीर का पूरा ज्ञान था. लेखिका के मुताबिक,  उसे सेक्स के बारे में नहीं पता था.

अपनी वेबसाइट पर लेखिका ने अपनी मित्र के बारे में लिखा, ‘वह मैकैनिक्स (सेक्स प्रकिया) तो जानती थी, मसलन पेनट्रेशन, क्लाइमेक्स विद्ड्रॉ, लेकिन असल में सेक्स क्या है इसकी जानकारी उसे नहीं थी. वह यह नहीं जानती थी कि कैसे अपने पति को बिस्तर पर खुद के लिए तरसाए. वह नहीं जानती थी कि पति को क्या पसंद है. यहां तक कि उसे खुद की भी पसंद पता नहीं थी.’ तब लेखिका ने अपनी शादीशुदा जिंदगी के दौरान के सेक्स अनुभवों को उसे बताया. सेक्स को लेकर तमाम जानकारियां अपनी दोस्त के साथ शेयर कीं.

लेखिका के मुताबिक, एक महीने बाद जब उसकी दोस्त दोबारा मिली तो इस बार उसके चेहरे पर मुस्कान थी. दोस्त ने तब लेखिका से कहा कि इन सारी बातों को लिखे और मुस्लिम लड़कियों के साथ शेयर करे. लेखिका ने सबकुछ लिखकर एक वर्ड डॉक्यूमेंट बनाया और अपनी दोस्त को भेजा. दोस्त ने उस डॉक्यूमेंट को दूसरी नई शादीशुदा दोस्तों के साथ शेयर किया. इसके बाद लेखिका से किताब लिखने को कहा गया. इस तरह से किताब की पृष्ठभूमि तैयार हुई.

 मुलाधत ने अपनी किताब में सेक्स के करीब 100 आसन भी बताए हैं, मसलन ‘काउ गर्ल’, ‘रिवर्स काउ गर्ल’, ‘फाइनल फरलांग’ और ‘अमेजॉन’इत्यादि. वह कहती हैं कि कुछ कपल ऐसे होते हैं जो बेसिक आसनों से आगे नहीं जाते. अगर उन्हें इसी में संतुष्टि मिलती है तो यही उनके लिए ठीक है,लेकिन नए आसनों के इस्तेमाल से संबंधों और प्रगाढ़ता आती है.

मुलाधत के मुताबिक, हलाल सेक्स के कुछ महत्वपूर्ण नियम हैं. उदाहरण के लिए, एनल सेक्स न करना, मासिक धर्म के दौरान सेक्स न करना और विवाहेतर संबंधों से परहेज. वह यह भी लिखती कि पोर्नोग्राफी भी वर्जित है. उनका मानना है कि पोर्नोग्राफी सेक्स के बारे में जानने के सबसे बुरे तरीकों में से एक है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।