शिवभक्तों के अनुसार विश्व की उत्पत्ति शिव की कृपा से हुई है और एक दिन यह शिव में ही विलीन हो जाएगी. उनके विवाह, तपस्या और भक्तों पर कृपा की कई कथाएं प्रचलित हैं.और ये कथाएं जहाँ जहाँ घटी हैं वे जगह आज तीर्थस्थलों के रूप में प्रसिद्द हैं.

भारत के उत्तरांचल राज्य में बसा रुद्रप्रयाग जिला वैसे तो कई कारणों से प्रसिध्द है, लेकिन यहां भगवान शिव का एक मंदिर विशेष रूप से विख्यात है. इस मंदिर को लेकर ऐसी मान्यता है कि यहीं पर भगवान शिव और आदि शक्ति पार्वती का विवाह हुआ था. 

गौरतलब है कि मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए माता पार्वती ने इसी स्थान पर तपस्या की थी,  जिसके बाद महादेव ने इसी मंदिर में उनसे विवाह किया था. वैसे आप माने या ना माने लेकिन वहां के निवासियों के अनुसार हवन कुंड में जलने वाली अग्नि उसी दिव्य विवाह का प्रतीक  है.

 यहाँ के कई स्थल सिर्फ पर्यटक स्थल के रूप में ही नहीं, पवित्र तीर्थस्थलों के रूप में भी लोकप्रिय हैं. यह पवित्र राज्य कई नदियों और संगमों का भी उद्गम स्थल है, और हर एक स्थान के पीछे एक रहस्य भी जुड़ा हुआ है.

यहाँ का त्रियुगीनारायण मंदिर ऐसे ही पौराणिक मंदिरों में से एक है, जो उत्तराखंड के त्रियुगीनारायण गाँव में स्थित है. यह गाँव रुद्रप्रयाग जिले का ही एक भाग है. त्रियुगीनारायण मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यह स्थल भगवान शिव जी और पार्वती जी का विवाह स्थल है.

इस मंदिर की एक खास विशेषता है, मंदिर के अंदर जलने वाली अग्नि जो सदियों से यहाँ जल रही है. ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव जी और देवी पार्वती जी ने इसी अग्नि को साक्षी मानकर विवाह किया था.

इसलिए इस जगह का नाम त्रियुगी पड़ गया जिसका मतलब है, अग्नि जो यहाँ तीन युगों से जल रही है. जैसा कि यह अग्नि नारायण मंदिर में स्थित है, इसलिए इसे पूरा त्रियुगीनारायण मंदिर कहा जाता है.

त्रियुगीनारायण मंदिर कथाओं के अनुसार, देवी पार्वती अपने पिछले जन्म में देवी सती के नाम से भगवान शिव जी की पत्नी थीं, पर उनके पिता द्वारा जब भगवान शिव जी का अपमान किया गया, उनहोंने वहीं आत्मदाह कर अपने प्राणों की आहुति दे दी.

मृत्यु के बाद अपने अगले जन्म में उन्होंने राजा हिमवत की पुत्री के रूप में जन्म लिया और भगवान शिव जी को अपनी सुंदरता से लुभाने के लिए हर एक कोशिश की.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. राजस्थान में भारतीय सेना ने किया ‘एयर कैवलरी’ कॉन्सेप्ट का परीक्षण

2. बिहार: परीक्षा में प्रवेश से पूर्व कैंची से काटी गयी लड़कियों की समीज के आस्तीन

3. देश के कई राज्यों में आज फिर से आ सकता आंधी-तूफान, 150 लोगों की मौत

4. बीजेपी ने ली चुटकी, तेजप्रताप की शादी में क्यों नहीं पहुंचे सोनिया-राहुल-ममता

5. किसकी जेब में जा रहे हैं पेयजल के करोड़ों रुपये?

6. ट्रेन में महिलाओं के लिए होगी विशेष सुरक्षा, हर बोगी में लगेगा 'पैनिक बटन'

7. इस्‍लाम नहीं देता बिना जरूरत तस्‍वीरें खिंचवाने की इजाजत

8. प्रेमिका ने प्रेमी के चेहरे पर फेंका एसिड, ठुकराये जाने से थी खफा

9. शादी के लिए बिल्कुल सही है यह उम्र, रिश्ता होता है मजबूत

10. साप्ताहिक भविष्यफल : 13 मई से 19 मई 2018, किन राशियों के चमकेंगे सितारे

11. राहु से मुसीबत में फंसे व्यक्ति जानें पुराणों और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।