भोपाल. मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि भीषण गर्मी के समय प्रदेशभर में पेयजल संकट गहरा गया है और सरकार अभी कार्ययोजना ही बना रही है. पेयजल के लिए आने वाले करोड़ों रुपये आखिर कहां खर्च हो जाते हैं और किसकी जेब में चले जाते हैं? उन्होंने कहा कि तापमान 40 डिग्री से ऊपर पहुंच गया है और अब कार्ययोजना बनाई जा रही है. सरकार को वास्तव में कार्ययोजना जनवरी में ही बना लेनी चाहिए थी.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने रविवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि बुंदेलखंड में तो हालत यह है कि आधी आबादी रोजगार के लिए पलायन को मजबूर है. वैसे भी इस सरकार ने बुंदेलखंड के साथ हमेशा सौतेला व्यवहार ही किया है. हर साल पेयजल के लिए करोड़ों रुपये बहाए जाते हैं, लेकिन उसका असर जमीन पर नजर नहीं आता. हर साल यह समस्या खड़ी हो जाती है. ज्यादातर कुएं और हैंडपंप सूख चुके हैं. चेकडैम में पानी नहीं है. 

कमलनाथ ने कहा कि रोजगार के लिए संचालित होने वाली मनरेगा योजनाएं ठप्प हैं. आमदनी का कोई जरिया न होने से लोग या तो गांव से पलायन कर रहे हैं या कर्ज ले रहे हैं और कर्ज न चुका पाने के कारण किसान आत्महत्या के लिए विवश हो रहे हैं. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. भाषा के सन्दर्भ में फड़नवीस की अनूठी पहल

2. पीएम उद्घाटन करें या नहीं, 1 जून से जनता के लिए खोलें ईस्टर्न एक्सप्रेस वे- सुप्रीम कोर्ट

3. महंगा हुआ सोना, चांदी ने भी दिखाए तेवर

4. आधार की अनिवार्यता पर सुनवाई पूरी, सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुरक्षित

5. अब ऑनलाइन ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिये सुरक्षित होगा डेटा

6. ईरानी ने कहा मीडिया में कायदे कानून तय करने का समय

7. 150 अंक ऊपर खुलने के बाद 73 अंक गिरकर बंद हुआ शेयर बाजार

8. मोदी ने कहा नेपाल के साथ हमारे रिश्ते उच्च प्राथमिकता पर

9. BSNL यूजर्स के लिए बंद नहीं होगी फ्री में अनलिमिटेड कॉलिंग की सर्विस

10. बृहस्पति देव 10 मई 2018 की रात करेंगे 4 राशियों के भाग्य में प्रवेश, मिलेगी अपार खुशियां

11. मंगल की रात से पंचक, इन बातों का रखें ध्यान वरना भुगतना पड़ सकता खतरनाक परिणाम

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।