पाठकों के सवाल व उनके जवाब.

सवाल:- मुझे सफलता कब मिलेगी? कल्पेश, मुंबई.

जवाब:- आपका जन्म संघर्ष के लिए हुआ है. सफलता मिलने में परेशानी हैं.

24 अप्रैल से 11 अक्टूबर तक समय सही हैं. आपको सफलता ना

मिलने के पीछे कारण आपका असमंजस मे रहना सही निर्णय ना

लेना और निर्णय को बदल देना हैं. हर निर्णय के पीछे आपके दो

विचार होते हैं, करूँ या ना करूँ. सफल होने के लिए आपको अपने

निर्णय पर दृढ रहना होगा किसी योग्य व्यक्ति से काउंसलिंग

लेनी होगी तथा एक 6 रत्ती का पन्ना छोटी ऊंगली में बुधवार के

दिन शुभ मुहुर्त में पहनना होगा.

सवाल:- मेरी प्रमोशन कब होगी ? रामानुज

जवाब:- आपकी प्रमोशन एक वर्ष के अन्दर-2 हो जाऐगी बशर्ते आप अपने

आप को थोडा सा बदल लें. आप प्रोटेक्टिव होकर चलते हैं. एक दायरे

में एक लाईन खिंचकर चलते हैं. थोडा सा ओपन माईंडेड हो जाइए

थोड़े से खुले विचार रखें आपकी प्रमोशन एक वर्ष में

हो जायेगी.

नोट:- पाठक कृपया अपना सवाल स्पष्ट रूप से पूछें. जैसे सफलता कब मिलेगी

की जगह व्यापार में सफलता या रिश्तों में सफलता है. या नौकरी में सफलता कब मिलेगी.

क्या आप रेकी सीखना चाहते हैं ?

. रेकी का मतलब क्या है ?

. रेकी एक जापानी शब्द है जो दो अक्षरों से बना है. र-का मतलब होता है

. वैश्रिक प्राण ऊर्जा और की- का मतलब होता है हमारे शरीर की प्राण ऊर्जा.

. यानि की रेकी का मतलब हुआ- हमारे स्वयं के प्राण ऊर्जा को इस ब्रहमांड की प्राण ऊर्जा के साथ जोडना

. रेकी की सभी साधनायें इसी एक सिद्धांत पर आधारित है.

. इसे सीख कर आप स्वयं तथा अपने परिवार के लोगो पर रेकी का इस्तेमाल कर सकेंगे.

. इस कोर्स को सीख कर आप रेकी का कहां- कहां उपयोग कर पाएंगे?

. किसी भी तरह की बीमारी, दर्द को दूर करने के लिए

. तनाव मुक्त और संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए.

. मन और आत्मा के उत्थान के लिए जैसे कुण्डलिनी जागरण, चक्रों को जागृत करने के लिए.

. मन का स्वास्थ्य उत्तम रखने, नकारात्मक विचारों से छुटकारा पाने, एंव मनोशांति प्राप्त करने के लिए.

. वास्तु में कोई दोष हो तो उनके निवारण के लिए

. कुण्डली में कोई ग्रहदोष हो जैसे, कालसर्प दोष, मंगल दोष, साढेसाती आदि के लिए.

रेकी कोर्स (लेवल1 और 2) में आपको सिखाया जायेगा.........

. रेकी का परिचय

. रेकी क्या है

. रेकी काम कैसे करती है

. शरीर की ऊर्जा प्रणाली

. सात चक्र एंव उनके मानव जीवन पर प्रभाव

. सात चक्रों की चिकित्सा

. रेकी के साथ मैडिटेशन

. रेकी द्वारा स्पर्श चिकित्सा

. रेकी द्वारा दूसरों को स्पर्श चिकित्सा देने की विधि

. कुण्ड्लिनी जागरण एंव चक्र हीलिंग सेशन

. रेकी के चिन्ह (Reiki symbols) और उनके उपयोग

. तृतीय नेत्र / थर्ड आय जागरण (Third eye opening)

. रेकी द्वारा डिस्टेंस हेलिंग (जब मरीज आपसे दूर हो तब उसे ऊर्जा देने का तरीका...)

. रेकी द्वारा आकर्षण विधि/साधना

. नकारात्मक विचार, व्यसन,क्रोध,चिंता आदि को को दूर करने की रेकी विधि

. रेकी द्वारा वास्तु हीलिंग

. और रेकी के सेशन आपके सुविधानुसार लिए जाएंगे

टैरट कार्ड व रेकी के लिए संपर्क करें:

डॉ. रश्मि कौशिक

टैरट कार्ड रीडर और स्प्रिचुअल हिलर

वॉटसएप नम्बर- 9266621050

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. कनार्टक चुनाव हिन्दुत्व से लोगों को बचाने का आखिरी मौका: शशि थरूर

2. जब पेड़ ने बचाई 22 श्रद्धालुओं की जान

3. बॉम्बे HC के जज ने सुबह 3.30 बजे तक लगाई अदालत

4. भारतीय टीम को हराना माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने जैसा: आस्ट्रेलियाई कोच लैंगर

5. खाने में मिला था जिंदा कीड़ा, रेलवे को लगा 10,000 रुपये का जुर्माना

6. राजस्थान के राजघाट गांव में 22 साल बाद बजी शहनाई

7. पाक की आर्थिक हालत का सच सबकुछ बेचकर भी नहीं खरीद सकता भारत की एक कंपनी

8. फिर पनपा कैश संकट पूर्वोत्तर राज्यों में खाली हुए एटीएम

9. अमेरिका में भारतीय मूल की महिला बनी जज, कर दिया देश का नाम रोशन

10. मंगल आये अपनी उच्च राशि में, 26 जून से 27 जुलाई तक वक्री रहेंगे

11. प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के अनुसार 12 ज्योर्तिलिंगों में पहला है सोमनाथ मंदिर

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।