मुंबई. प्रमुख निजी बैंक आईसीआईसीआई बैंक के मुनाफे में वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में 49.63 फीसदी गिरावट दर्ज की गई है. बैंक के मुताबिक, समीक्षाधीन तिमाही में उसका मुनाफा 1,020 करोड़ रुपये रहा, जबकि वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही में यह 2,025 करोड़ रुपये रहा.

हालांकि इस दौरान आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज आय में मामूली तेजी दर्ज की गई और 31 मार्च, 2018 को खत्म तिमाही में यह 6,022 करोड़ रुपये रही, जबकि 31 मार्च, 2017 को खत्म हुई तिमाही में यह 5,962 करोड़ रुपये थी.

समेकित आधार पर, वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में कंपनी के मुनाफे में 45.17 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 2,083 करोड़ रुपये थी. कंपनी द्वारा बम्बई स्टॉक एक्सचेंज में दाखिल रपट के मुताबिक, 15,737 करोड़ रुपये की सकल फंसे हुए कर्जे (एनपीए या गैर-निष्पादित संपत्तियां) के अतिरिक्त, इसमें 9,968 करोड़ रुपये का कर्ज भी शामिल है, जो आरबीआई योजनाओं के तहत थे और 2017 के 31 दिसंबर को मानक के रूप में वर्गीकृत किए गए थे. वहीं, वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कुल 4,234 करोड़ रुपये के कर्ज की वसूली हो पाई.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. कनार्टक चुनाव हिन्दुत्व से लोगों को बचाने का आखिरी मौका: शशि थरूर

2. जब पेड़ ने बचाई 22 श्रद्धालुओं की जान

3. बॉम्बे HC के जज ने सुबह 3.30 बजे तक लगाई अदालत

4. भारतीय टीम को हराना माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने जैसा: आस्ट्रेलियाई कोच लैंगर

5. खाने में मिला था जिंदा कीड़ा, रेलवे को लगा 10,000 रुपये का जुर्माना

6. राजस्थान के राजघाट गांव में 22 साल बाद बजी शहनाई

7. पाक की आर्थिक हालत का सच सबकुछ बेचकर भी नहीं खरीद सकता भारत की एक कंपनी

8. फिर पनपा कैश संकट पूर्वोत्तर राज्यों में खाली हुए एटीएम

9. अमेरिका में भारतीय मूल की महिला बनी जज, कर दिया देश का नाम रोशन

10. मंगल आये अपनी उच्च राशि में, 26 जून से 27 जुलाई तक वक्री रहेंगे

11. प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के अनुसार 12 ज्योर्तिलिंगों में पहला है सोमनाथ मंदिर

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।