वाशिंगटन. भारतीय छात्रों के बीच अमेरिकी विश्वविद्यालयों में पढ़ने का आकर्षण लगातार बढ़ रहा है. एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के विभिन्न विश्वविद्यालयों में दो लाख से ज्यादा भारतीय छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. अमेरिका में विदेशी छात्रों की संख्या के मामले में भारत का स्थान चीन के बाद दूसरा है.

अमेरिकी गृह विभाग की स्टूडेंट एंड एक्सचेंज विजिटर प्रोग्राम रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका में दो लाख 11 हजार 703 भारतीय विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं. चीन के छात्रों की संख्या तीन लाख 77 हजार 70 है.

49 फीसद छात्र भारत या चीन के-

इस द्विवार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि एफ-1 और एम-1 वीजा पर अमेरिका आए छात्रों में 49 फीसद चीन और भारत के हैं. यही नहीं, अमेरिका में पढ़ रहे विदेशी छात्रों में 77 फीसद एशिया के हैं.

क्या है एफ-1, एम-1 वीजा-

एफ-1 और एम-1 अमेरिकी सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले स्टूडेंट वीजा हैं. एफ-1 वीजा में बेचलर, मास्टर, डॉक्टरेट या प्रोफेशनल डिग्री के लिए छात्र अमेरिका आते हैं. एम-1 वीजा पर व्यावसायिक या तकनीकी कार्यक्रम में जूनियर, कम्युनिटी कॉलेज और ट्रेड स्कूल में पढ़ने के लिए विद्यार्थी आते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. केंद्र की दो महिला मंत्रियों ने विश्व में बजाया भारत का डंका, तस्वीरें हुई वायरल

2. आक्रोश रैली में बोले मनमोहन सिंह

3. इंडियन पोस्‍ट पेमेंट्स बैंक की 650 शाखाएं मई तक हो जाएंगी चालू: मनोज सिन्हा

4. BCCI लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड लेने से डायना इडुल्जी का इनकार

5. नीतीश ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, लोहिया को 'भारत रत्न' दिए जाने की मांग

6. नेपाल में ब्रह्मशक्ति का घोष- ब्राह्मणों की उपेक्षा करने वाले कामयाब नहीं हो सकते!

7. कांग्रेस का 'हिंदुत्व कार्ड', अब कैलाश मानसरोवर जाएंगे राहुल, मांगी 15 दिन की छुट्टी

8. अंतरिक्ष से भारत पर निगरानी करने की तैयारी में पाक, शुरू करेगा स्पेस प्रोजेक्ट!

9. वास्तु के अनुसार जानें घर की किस दिशा में लगाएं परिवार के सदस्यों की तस्वीर

10. सत्यविनायक पूर्णिमा आज: यमराज देंगे अकाल मृत्यु से मु्क्ति का वरदान

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।