ऐस्ट्रो पॉलिटिकल एनालिसिस. आसाराम और अरविंद केजरीवाल की नाम राशि एक ही है, जो की मेष कहलाती है दोनों को जनता ने सर आंखों में रखा इसके अलावा दोनों का दशाक्रम भी एक जैसा ही है, दोनों की पत्रिका में सबसे  मुख्य बात जो अरविंद केजरीवाल को डराने वाली है वो यह है की दोनों की पत्रिका में शनि महाराज अपनी नीच राशि मेष में है जो की दोनों की अरविंद और आसाराम की नीच राशि है. 

*नीच के शनि से अभिप्राय*-

शनि महाराज न्याय के देवता है, दंड और लोकप्रिय न्याय देने में वे किसी को भी नहीं छोड़ते है चाहे वो नामी गिरामी व्यक्ति हो या कोई लोकप्रिय शख्सियत, मेष राशि में सूर्य अपनी उच्च राशि में रहता है जिस कारण ऐसे लोग राजसी मान सम्मान तथा ऊंचा पद पाते है, यह राशि शनि की नीच राशि है, शनि और सूर्य में आपस में शत्रुता है, फलस्वरूप सूर्य की स्वराशि और उच्च राशि वाले लोगों की शनि महाराज न्याय के मामले में विशेष खबर लेते है, यदि उपरोक्त राशि वालों के जीवन में शनि की दशा आ जाये तो शनि महाराज उन्हें भयानक संताप देते है. 

*आसाराम और अरविंद की दशा*

-आसाराम गुरु की दशा में धर्म के क्षेत्र में मानी हुई हस्ती थे, उनकी लोकप्रियता का लोहा  नेता  भी मानते थे' शनि उनकी पत्रिका में नीच राशि का है इसीलिये शनि जो की न्याय के कारक है जिन्होंने शनि की दशा लगते ही उन्हें कोर्ट कचहरी में उलझाया और अब शायद वे जीवन भर जेल में ही रहे. 

*अरविंद केजरीवाल*-

अरविंद केजरीवाल 2020 तक गुरु की दशा में है उनकी पत्रिका में भी शनि नीच राशि का  है जिसकी दशा 2020 से उन्हें लगने वाली  है, वैसे  भी अरविंद कोर्ट के मामलों में माफी मांग मांगकर काम चला रहे है, लेकिन 2020 का  बाद  नीच  की शनि की दशा उन्हें लगने वाली है जो की निश्चित रूप से उनके लिये खतरे की घंटी है, राजनीति के जिस दलदल में वे है ऐसे माहौल में उनके लिये  कब बुरा  समय उन्हें आने वाले कल में कहीं बड़े कानूनी पचड़े में उलझा दे इसके लिये उन्हें सम्भलकर रहना पड़ेगा. 

संपर्क(व्हाट्सएप): 9893280184, 7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. बड़ा फैसला: केन्द्र ने मेघालय से पूरी तरह से हटाया अफस्पा तो अरुणाचल में दी ढील

2. पंजाब बोर्ड 12वीं का रिजल्ट घोषित, पूजा जोशी बनीं टॉपर, 65.97 फीसदी स्टूडेंट्स पास

3. बढ़त के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, इंडसइंड टॉप गेनरstrong>

5. भारत का इकलौता बच्चों के दिल का प्राइवेट अस्पताल, जहां कैश काउंटर ही नहीं है!

6. महाराष्ट्र और आंध्र में 31 मई और 21 जून को होंगे चुनाव

7. टाटा ग्रुप में ग्लोबल काॅरपोरेट हेड बनाये गये पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर

8. बांसवाड़ा में रामदेव बोले: इसी सदी में भारत आध्यात्मिक और आर्थिक महाशक्ति बनेगा!

9. जरूर जाएं अमृतधारा, नहीं करेगा वापस लौटने का मन

10. मिट्टी के कारण देखते ही देखते बदलने लगेगी आपकी किस्मत

11. कुछ बातों को ध्यान रख करना चाहिए शिवलिंग की परिक्रमा

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।