क्रिटिक रेटिंग- 4/5
स्टार कास्ट- वरुण धवन और बनिता संधू
डायरेक्टर- शुजीत सरकार
प्रोड्यूसर- शुजीत सरकार
संगीत- शांतनु मोइत्रा, अनुपम रॉय और अभिषेक अरोड़ा
जॉनर- रोमांटिक ड्रामा
डायरेक्टर शुजीत सरकार की फिल्म 'अक्टूबर' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. इसे आपको जरूर देखना चाहिए.वरुण धवन और बनिता संधू स्टारर यह फिल्म एक संवेदनशील लव स्टोरी है, जो खुद को दूसरी फिल्मों से अलग करती है. फिल्म का स्क्रीनप्ले जूही चतुर्वेदी ने लिखा है और वाकई यह एक यूनिक स्टोरी नजर आती है. क्या है 'अक्टूबर' की कहानी...

कहानी- फिल्म की कहानी दिल्ली के एक होटल से शुरू होती है जहां पर दानिश उर्फ डैन (वरुण धवन) अपने दोस्तों के साथ इंटर्नशिप करता है. अपनी ही दुनिया में रहने वाला डैम बेफिक्री की जिंदगी जीता है. तभी होटल में शिउली (बनिता संधू ) की एंट्री होती है और वह भी एक इंटर्न के तौर पर वहां काम करने लगती है. शिउली को हर एक काम परफेक्ट करने की आदत है. वहीं दूसरी तरफ डैन के काम को देखते हुए उसे अक्सर एक डिपार्टमेंट से दूसरे डिपार्टमेंट में शिफ्ट कर दिया जाता है. कहानी में मोड़ तब आता है जब एक दिन होटल के चौथे माले से शिउली गिर जाती है और डैन की जिंदगी में सब कुछ बदल जाता है. फिर डैन ज्यादा समय हॉस्पिटल में बिताने लगता है, किन्हीं कारणों से उसे होटल से निकाल दिया जाता है. जिसकी वजह से वह मनाली जाकर एक मैनेजर के तौर पर होटल में काम करने लगता है. कहानी एक बार फिर से डैन को मनाली से दिल्ली ले आती है. उसके पीछे का कारण क्या है यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

डायरेक्शन-  जहां कहानी पर जूही चतुर्वेदी की पकड़ जबर्दस्त है तो वहीं, इसे पर्दे पर उतारने में शुजीत सरकार की मेहनत भी साफ दिखाई देती है. सरकार ने इतने आत्मविश्वास के साथ कहानी को पर्दे पर उतारा है कि उन्हें स्ट्रेसफुल सिचुएशन में भी गैरजरूरी मेलोड्रामा और वल्गैरिटी का सहारा लेने की जरूरत नहीं पड़ी. कहानी धीरे-धीरे आगे बढ़ती है और शिउली के एक्सीडेंट के बाद उनके प्रियजनों की जिंदगी में आई स्थिरता को बेहतर तरीके से पेश करती है.

एक्टिंग- शुरुआत में ऐसा लगता है कि वरुण धवन इस रोल के लिए परफेक्ट नहीं थे. लेकिन फिल्म पूरी होते-होते उनकी सिंसेरिटी और डायरेक्टर की प्रति समर्पण साफ़ दिखाई देता है. उन्होंने अपने किरदार के साथ पूरा न्याय किया है. जाहिरतौर पर वरुण यह भलीभांति जानते हैं कि उनके लिए कौनसा सब्जेक्ट सही रहेगा और वे डायरेक्टर को पूरा सपोर्ट करते हैं. न्यूकमर बनिता संधू के पास ज्यादा कुछ करने को नहीं था. एक्सीडेंट के बाद वे ज्यादातर वक्त बेड पर ही दिखीं. हालांकि, उन्हें जितना मौक़ा मिला, उतने में जबर्दस्त काम किया है. बनिता की मां के रोल में विद्या अय्यर ने भी बढ़िया काम किया है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. आधार होगा और सुरक्षित, अब देनी होगी 'वर्चुअल आईडी'

2. भारतीय सेना ने 28 सैनिकों की शहादत पर 138 पाकिस्तानी सैनिक मारे

3. पहले IIT और अब CAT में 100 प्रतिशत नंबर ला कर हासिल किया पहला रैंक

4. यूपी के इस होटल में वेटर से लेकर मैनेजर तक सब होंगी महिलाएं

5. भगवान के दर्जे पर संकट में पेशा!

6. राजधानी एक्सप्रेस में बुजुर्ग को चूहे ने काटा, साढ़े तीन घंटे निकलता रहा खून

7. नहीं बंद होंगी मुफ्त बैंकिंग सेवाएं, सरकार ने खबरों का किया खंडन

8. CES 2018 : पहले दिन लॉन्च किए गए ये शानदार प्रोडक्ट्स

9. विक्रम भट्ट की हॉरर फिल्म के दौरान कैमरे में कैद हुआ भूत, तस्वीरें देखकर उड़ जाएंगे होश

10. हाइक ने लांच की Hike ID, बिना नंबर के भी कर सकेंगे चैट

11. राशि के अनुसार शादी की ड्रेसों का करें चयन, ग्रहों और रंगों का खुशियों से सीधा संबंध

12. पापों से मिलेगी मुक्ति,अगर करते हैं षट्तिला एकादशी का व्रत

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।