इस दुनिया में जितने ज्यादा इंसान हैं, उनसे कहीं अधिक उनकी जरूरतें हैं. हमारे भारत को संस्कारी देशों में से एक माना जाता है. यहाँ लोग एक दुसरे की मदद करने में अपनी ख़ुशी महसूस करते हैं. आपने अक्सर देखा होगा कि जब आपके घर चाय पत्ती या फिर चीनी आदि खत्म हो जाती है तो आप अपने पड़ोसियों से मांग कर अपनी उस जरूरत को कुछ समय के लिए पूरा कर लेते हैं. हम जिन्हें अपने दिल के करीब समझते हैं, उनके साथ अपनी चीज़ें बांटना भी अधिक पसंद करते हैं. ऐसे में आपका अपने पड़ोसियों और रिश्तेदारों के साथ चीज़ों का लेन देन चलता ही रहता है. परंतु, क्या आपने कभी सोचा है कि कुछ चीज़ों को बांटना आपके लिए बुरा सिद्ध हो सकता है? जी हाँ, आपने सही पढ़ा, दरअसल ज्योतिष शास्त्रों का मानना है कि कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जिनका सूर्यास्त के बाद लेन-देन करना आपके लिए गलत साबित हो सकता है.

शास्त्रों के अनुसार कईं चीज़ों को बांटना अपशगुन माना जाता है. ऐसे में आज हम आपको ऐसी चार चीज़ों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें अगर आप किसी के साथ सूर्यास्त होने के बाद बाँटेंगे तो  वह चीजें आपका बुरा समय आपके निकट ले आएँगी. तो चलिए जानते हैं उन 4 चीज़ों के बारे में…

धन का लेन-देन न करें

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि धन हर मनुष्य की पहली जरूरत है.  इस दुनिया में धन के बिना कोई भी चीज होना असंभव है.  इस बात में कोई दो राय नहीं है कि इस दुनिया में उन्हीं लोगों का सिक्का चलता है जिनके पास अपार धन होता है.  कहते हैं कि लक्ष्मी मां धन की देवी है और अगर सच्चे मन से उनकी पूजा की जाए तो वह खुश होकर हमें धन की कृपा बरसाती है.  हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार सूर्यास्त के बाद धन का लेन देन करना अशुभ माना जाता है.  ऐसी मान्यता है कि इस समय में धन का आदान-प्रदान करने से लक्ष्मी मां का अपमान होता है और मैं घर में प्रवेश नहीं करती.

झाड़ू

झाड़ू हम इंसानों की निजी जरूरत है.  यह ना केवल घर की सफाई के काम आता है बल्कि लक्ष्मी मां का भी प्रतीक होता है.  पुराने समय के बुजुर्गों के अनुसार झाड़ू को खड़ा रखना अशुभ माना जाता है. इसके साथ ही अगर सूर्यास्त के बाद आप चालू किसी को दें तो घर में धन की बरकत नहीं रहती.

दूध

मनुष्य शरीर को स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक तत्वों की जरूरत रहती है.  ऐसे में दूध को सबसे उत्तम पौष्टिक आहार माना जाता है.  इन सबके दूध को शुक्र ग्रह का प्रतीक माना जाता है और सूर्यास्त के बाद किसी को दूध शेयर करने से मानसिक चिंताएं बढ़ जाती है.  तो इसलिए दोस्तों को उनसे भी दूध को शाम के समय किसी के साथ ना बांटे.

हल्दी

हल्दी एक ऐसा मसाला है जो तकरीबन हर सब्जी में स्वाद और रंगत बढ़ाने के काम आती है.  हिंदी धर्म के ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हल्दी का संबंध सीधा गुरु ग्रह से है.  जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि गुरु ग्रह को भाग्य का सूचक माना जाता है इसलिए सूर्यास्त के बाद हल्दी का लेनदेन दुर्भाग्य का कारण बनता है.

अगर आप अपने घर में लक्ष्मी की कृपा बनाए रखना चाहते हैं तो इन 4 चीजों को भूल से भी किसी के साथ ना बांटे.  वरना आपको महंगा पड़ सकता है.

कुंडली में दोष है? टेंशन नहीं लें और परामर्श के लिए संपर्क करें

-पं.प्रदीप मिश्रा शास्त्री

मोबाइल: 94251-61406

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. नोटबंदी और जीएसटी देश के लिए 2 बड़े झटके, अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया : राहुल

2. श्रेयन और अंजलि बने ज़ी टीवी 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017' के विजेता

3. अनुच्छेद-35A पर सुनवाई 8 हफ्ते के लिए टली, सरकार ने कहा-नियुक्त किया वार्ताकार

4. जेएनयू व डीयू के कई प्रोफेसर यौन शोषण के आरोपी, फेसबुक पर जारी की सूची

5. सरकार ने करदाताओं को बड़ी राहत, GST रिटर्न दाखिल करने की अवधि बढ़ी

6. महिला हॉकी : एशिया कप में भारत ने चीन को दी मात

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप : मनोज कुमार और शिव थापा फाइनल में पहुंचे

9. चीन का नया प्लानः ब्रह्मपुत्र के पानी को मोड़ने के लिए बनाएगा हजारों किमी की सुरंग

10. राजस्थान : समाप्त हुआ भूमि समाधि लेने वाले किसानों का आंदोलन

11. अशोक वृक्ष को घर के उत्तर में लगाकर रोज करें जल अर्पित, पड़ेगा चमत्कारिक प्रभाव

12. महादशा से भविष्य में कब क्या होगा , इसका अनुमान भी आप भी लगा पाएंगे

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।