हर इंसान के अपने कर्म होते हैं और उनके कर्म कहीं ना कहीं उनकी कुंडली और उनके ग्रहों के साथ जुड़े रहते हैं. ग्रहों का गतिमान रहना यह उनकी नियति है. और जब यह गतिमान रहते हैं तो इसे सिर्फ मनुष्य पर ही नहीं बल्कि प्रकृति पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है. अपनी गति के चलते वह कई बार एक ही राशि में बहुत सारे ग्रहों के रूप में एकत्रित हो जाते हैं.

जिसके कारण उस राशि में या तो बहुत ही अच्छा होता है या तो बहुत ही बुरा होता है या तो उन ग्रहों की आपसी मैत्री यानी कि आप से मित्रता हो जाती है या तो फिर उनकी शत्रुता होती है. यह तो उन पर निर्भर करता है. अगर कुंडली में बहुत सारे ग्रह आपस में मित्र है तो लाजमी सी बात है कि परिणाम अच्छा ही होगा. परंतु अगर उन सभी ग्रहों का स्वभाव अलग अलग है तो परिणाम बुरा भी हो सकता है.

कुछ राशियां बुरी तरह प्रभावित होंगी

इस महीने में चार ग्रह एक ही राशि के अंदर एकत्रित हो रहे हैं और वह चार ग्रह है सूर्य, बुध, शुक्र और केतु. और यह सारे ग्रह मकर राशि में एकत्रित हो रहे हैं. जिसकी वजह से चतुर्ग्रही योग बन रहा है. यह राशि के अंदर अपने ही एक अलग प्रभाव छोड़ेंगे यह चतुर्ग्रही योग 28 जनवरी से मकर राशि में प्रवेश करने वाला है और यह उस राशि के अंदर 6 फरवरी तक रहेगा. यानी कि 10 दिन तक यह उस राशि के अंदर वास करेगा.

यह योग 10 दिनों तक प्रभावी रहेगा

जैसा कि आप सब ने पहले ही पढ़ा होगा कि मकर राशि के अंदर केतु पहले से ही घर बना कर बैठा हुआ है परंतु 13 जनवरी से शुक्र भी मकर राशि के अंदर प्रवेश करने वाला है. उसके बाद 14 जनवरी को सूर्य मकर राशि के अंदर प्रवेश करेगा. उसके बाद 27 जनवरी को रात्रि 3:00 बजे बुद्ध भी मकर राशि में प्रवेश करने वाला है. जिस वजह से मकर राशि के अंदर चतुर्ग्रही योग बनने वाले हैं. इस योग की समाप्ति 6 फरवरी को होगी और 6 फरवरी को शुक्र मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेगा और 10 दिनों तक मकर राशि प्रभावित रहने वाली है.

ये पांच राशियां होंगी प्रभावित

क्योंकि यह चार ग्रह सूर्य, बुध, शुक्र और केतु मकर राशि में प्रवेश करने वाले हैं इसलिए इनसे जुड़ी हुई सभी राशियों और उनसे जुड़े हुए सभी जातक पर प्रभाव दिखाई देगा. इसकी वजह से चार राशियां भी प्रभावित होंगी. जैसे कि सूर्य की राशि सिंह और बुध की राशि मिथुन और कन्या. शुक्र की राशि तुला है और वृषभ भी है. इस वजह से यह 5 राशियां अभी 10 दिन तक प्रभावित रहने वाली हैं. इसलिए इन राशि वालों को 10 दिन तक संभल कर चलना पड़ेगा. वैसे 10 दिन तक उन लोगों को ज्यादा संभालने की जरूरत है जो व्यापार से जुड़े हुए हैं. क्योंकि इन 10 दिनों के बीच में उन्हें कोई बड़ा नुकसान या निवेश करना पड़ सकता है.

स्वामी शुक्र चतुर्ग्रही योग

तुला और वृषभ राशि का स्वामी शुक्र माना जाता है. और इसके अंदर भी चतुर्ग्रही योग बन रहा है. इसलिए इन राशि वालों कामवासना पर ध्यान देना होगा और नियंत्रण करके रखना पड़ेगा. अगर उन्होंने इस तरह नहीं किया तो उन्हें समाज और परिवार में अपमान भी सहना पड़ सकता है. क्योंकि इस राशि के अंदर सूर्य की एंट्री भी है. तो इस वजह से मान सम्मान की कमी भी हो सकती है इस राशि के जातक को आलस्य महसूस होगा और नेत्र और हड्डी संबंधित बीमारियां झेलनी पड़ सकती है.

मकर राशि के लिए क्या फल

मकर राशि के अंदर यह चार ग्रह प्रवेश कर रहे हैं. तो इससे जुड़ी सभी जातक भी प्रभावित होंगे. परंतु सबसे अच्छी बात तो यह होगी कि इस राशि पर कोई खास पूरा परिणाम दिखाई नहीं देता बल्कि सूर्य की प्रवेश की वजह से इस राशि को सम्मान मिलेगा. बुद्ध की वजह से बौद्धिक कौशल मिलेगा और शुक्र की वजह से इसे धन लाभ भी हो सकता है. मकर राशि वाले जातकों को 10 दिनों के अंदर शुभ समाचार मिलने का संकेत दिखाई दे रहा है और अन्य राशि वाले जातकों को कभी हानि और कभी नुकसान दोनो झेलने पड़ सकते हैं.

इस दौरान क्या उपाय करें

क्योंकि 5 राशि चतुर्ग्रही योग के कारण प्रभावित होने वाली है तो इसलिए इन राशि के लोगों को सूर्य गणेश और लक्ष्मी की पूजा आराधना करनी चाहिए.यदि आप भी प्रभावी राशि के जातक हैं तो इस बुरे परिस्थिति से निकलने का उपाय अवश्य जान लें. बता दें कि यदि इस चतुर्ग्रही के दिन आप सूर्य, गणेश और माता लक्ष्मी की उपासना में लीन रहें तो जिंदगी में बुरा प्रभाव पड़ने की बजाय खुशियों का आगमन होगा.

12 राशियों पर क्या होगा शनिदेव के उदय का प्रभाव पड़ेगा

लेकिन सबसे पहले हम बता दे की इन 5 राशियों को मेष,मिथुन,सिंह,तुला,कुम्भ मिलेगी बड़ी खुशखबरी 7जनवरी 2018 के बाद*

 *शनि शांति के 15 अचूक उपाय* 

1 . काले रंग की चिड़िया खरीदकर उसे दोनों हाथों से आसमान में उड़ा दें. आपकी दुख-तकलीफें दूर हो जाएंगी. 

2- लोहे का त्रिशूल महाकाल शिव, महाकाल भैरव या महाकाली मंदिर में अर्पित करें. शनि दोष के कारण विवाह में विलंब हो रहा हो, तो 250 ग्राम काली राई, नए काले कपड़े में बांधकर पीपल के पेड़ की जड़ में रख आएं और शीघ्र विवाह की प्रार्थना करें. 

3 शनिवार को पुराना जूता चौराहे पर रखें. 

4. आर्थिक वृद्धि के लिए आप सदैव शनिवार के दिन गेंहू पिसवाएं और गेहूं में कुछ काले चने भी मिला दें....

कुंडली में दोष है? टेंशन नहीं लें और परामर्श  के लिए संपर्क करें -

पं.प्रदीप मिश्रा शास्त्री 

मोबाइल: 94251-61406

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. नोटबंदी और जीएसटी देश के लिए 2 बड़े झटके, अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया : राहुल

2. श्रेयन और अंजलि बने ज़ी टीवी 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017' के विजेता

3. अनुच्छेद-35A पर सुनवाई 8 हफ्ते के लिए टली, सरकार ने कहा-नियुक्त किया वार्ताकार

4. जेएनयू व डीयू के कई प्रोफेसर यौन शोषण के आरोपी, फेसबुक पर जारी की सूची

5. सरकार ने करदाताओं को बड़ी राहत, GST रिटर्न दाखिल करने की अवधि बढ़ी

6. महिला हॉकी : एशिया कप में भारत ने चीन को दी मात

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप : मनोज कुमार और शिव थापा फाइनल में पहुंचे

9. चीन का नया प्लानः ब्रह्मपुत्र के पानी को मोड़ने के लिए बनाएगा हजारों किमी की सुरंग

10. राजस्थान : समाप्त हुआ भूमि समाधि लेने वाले किसानों का आंदोलन

11. अशोक वृक्ष को घर के उत्तर में लगाकर रोज करें जल अर्पित, पड़ेगा चमत्कारिक प्रभाव

12. महादशा से भविष्य में कब क्या होगा , इसका अनुमान भी आप भी लगा पाएंगे

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।