गर्मियों के पौधे

सूरजमुखी: पीले और सफ़ेद फूल.

* पोर्चुलाका या नाइन-ओ-क्लाक: घास की तरह फैलने वाला पौधा जो लाल, बैंगनी, सफ़ेद, पीले और मिक्स रंगों के छोटे छोटे फूल देता बहुत ही आसानी से लगता है. इसे बहुत कम पानी और छिछले गमले चाहिए. 

तिठोनिया:  बैंगनी और पीले फूल.

* जेनिया: कागज़ जैसे सफ़ेद, लाल, बैंगनी और गुलाबी बड़े फूल जो कभी नहीं सूखते.

गेराल्डिया: पीले और सुनहरे फूल.

* लेमन घास, कोचिया, लिली, कासमिया या कोसमोस, रात की रानी. 

बरसात के पौधे

* erjestard: 15-20 सेमी लम्बा सफ़ेद, पीले फूलों वाला पौधा.

emaranthas: 60-80 सेमी लम्बा पीला, हरा और लाल फूल वाला पौधा 

गेंदा: 100-115 सेमी लम्बा, पीले, बसंती, लाल-पीला मिक्स, मैरून रंग के फूलों वाला पौधा.

* टेरेनियम- 30-35 सेमी पीले, नीले फूल.

* बालसम या गुल मेहँदी: सफ़ेद,लाल, गुलाबी, बैंगनी और नीले फूल.

* गम्फरिना: गुलाबी और सिन्दूरी लाल फूल.

* सुदर्शन, नींबू घास, अलिमुन्दा, फेरन, कंटीली चंपा, गुल दाउदी , गुडहल, एक्जोरा, श्रिम्प, मुसंडा, हेलीकोनिया, मुर्गकेश,कोलिया, ameranthus, gultarra, जेनिया, एक्जोरा लिली कोर्न फ्लावर और बिगोनिया आदि. 

शीत ऋतू के पौधे

Kelendula: अगस्त-सितम्बर में बोते है. पीला सुंदर फूल.  

गुलदाउदी: सफ़ेद, पीला, लाल.

दहेलिया : यदि ठीक से खाद दी जाय तो कई रंगों के काफी बड़े फूल मिलते हैं जो की कई दिनों तक दल पर रहते है. 

गुलाब: अक्टूबर माह में इसकी कलम लगायी  जाती है. पुराने पौधों की कटिंग भी की जाती है.  पौधे की सभी शाखाओं को करीब नौ इंच छोड़ कर काट देना चाहिए कटिंग पर कोई कीटनाशक जरूर लगाना चाहिए ताकि कीड़ा लगने की संभावना न रहे. कलम लगाने के करीब तीन हफ्ते बाद उनमे जड़े फूट जाएँगी. इन कलमों को बड़े गमलों में लगा देना चाहिए. गमले में कम से कम आधी खाद और आधी मिटटी मिलाकर भर देना चाहिए. दो तीन दिन पानी डालते रहना चाहिए. अब गमला गुलाब की कलम लगाने के लिए तैयार है. गुलाब में कीड़ा बहुत जल्दी लगता है, जिससे जड़ों के पास से पौधा काला दिखने लगता है और सूख जाता है. इसलिए कीट नाशक जरूर डालते रहना चाहिए. 

कारनेशन: डबल रंगों वाले फूल देता है. 

* कोलिअस: रंगीन पत्तियों वाले पौधे - तरह तरह के फूलों से भी सुंदर पौधे होते है.

* स्वीट पी या डाग फ्लावर या लायन फ्लावर (इसके फूलों में कुत्ते या शेर का चेहरा बना रहता है.

* शीत ऋतू में तो फूलों की बहार रहती है. अनगिनत फूलों के पौधे अपनी छटा बिखेरते रहते हैं. कुछ पौधे जैसे रात की रानी, कनेर, बेला, हरसिंगार, गुलाब, गुलमेहंदी जाड़े के शुरू में खिलते हैं फिर तेज सर्दी में खिलना बंद कर देते है. सर्दियाँ कम होने पर फिर से फूलने लगते हैं. 

गेंदा: सारे जाड़े कई रंगों के फूलों से बगिया को भरे रहता है. पीले, बसंती, कोकाकोला कलर, मिक्स कलर, सिंगल पत्तियों वाला, हजारा, छोटे छोटे फूलों वाला यह पौधा अपने आपमें सम्पूर्ण बगिया है. 

नेस्तेसियम: सुनहला, नीला, पीला, और हरे रंग के फूल देता है.फरवरी से फूल देना शुरू करता है.

सेपेर्निया: सफ़ेद और गुलाबी.

* लाखफिल, लार्कसपूत, स्ताल्क, लेडिस लेस, डेज़ी, कलिकाप्सिस, काल्विंस, कारनेशन(बहुत सुंदर डबल रंग के फूल), कैंडीसपूत, ईस्टर, लेडी लक्स, केलेदेनियम(फरवरी), नर्गिस, पितुनिया, गुलाबी केसिया, लिनेरिया, स्वीट सुल्तान.

* बड़े पौधों और वृक्ष की ऊँचाई लेने वाले फूलों में - असोका, अमलतास, हरसिंगार, गुलमोहर.  

छोटे पौधे: क्रिसंठेमम, मक्सिकन टयूब रोज़,

* ग्लादुलुस, काक्स काम्ब, कोर्न केमोमिल, कस्मास, बीच सन फ्लावर, हालिहाक्स, ऑस्टर, बिगोनिया, कालादियम, पौपी, आइस फ्लोवेर.

सभी मौसमों के पौधे

* अजाला ओनिमा, अम्ब्रेला पाम, देफेंबेकिया, सनाय, गेरेनियम, मनी प्लांट, ब्राह्मी, केवाच, क्रोटन, तुलसी, गेरेल्डिया या नवरंग, केक्टस, चमेली, चांदनी 

सदा बहार: (बिना बोये अपने आप उगता है, सफ़ेद और बैंगनी फूल होते हैं. औषधीय गुण वाला पौधा है. सफ़ेद सदाबहार के पांच फूल खाने से कई बीमारियाँ ठीक हो जाती है.), गुलाबांस, चंपा, पाम (ये ताड़ के पौधे कई किस्मों के होते हैं. इनकी ज्यादा देखभाल भी नहीं करनी पार्टी. केवल थोडा सा पानी देते रहनी से ये आपकी बगिया की सुन्दरता को चार चाँद लगते रहते है. इनमे से कुछ हैं - अम्ब्रेला पाम, फिश पाम- इसके पत्ते फिश की तरह कटे रहते हैं, फैन पाम, सागो पाम, सीलिंग वैक्स पाम, मेजेस्टी पाम, फिज्जी पाम.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. नोटबंदी और जीएसटी देश के लिए 2 बड़े झटके, अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया : राहुल

2. श्रेयन और अंजलि बने ज़ी टीवी 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017' के विजेता

3. अनुच्छेद-35A पर सुनवाई 8 हफ्ते के लिए टली, सरकार ने कहा-नियुक्त किया वार्ताकार

4. जेएनयू व डीयू के कई प्रोफेसर यौन शोषण के आरोपी, फेसबुक पर जारी की सूची

5. सरकार ने करदाताओं को बड़ी राहत, GST रिटर्न दाखिल करने की अवधि बढ़ी

6. महिला हॉकी : एशिया कप में भारत ने चीन को दी मात

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप : मनोज कुमार और शिव थापा फाइनल में पहुंचे

9. चीन का नया प्लानः ब्रह्मपुत्र के पानी को मोड़ने के लिए बनाएगा हजारों किमी की सुरंग

10. राजस्थान : समाप्त हुआ भूमि समाधि लेने वाले किसानों का आंदोलन

11. अशोक वृक्ष को घर के उत्तर में लगाकर रोज करें जल अर्पित, पड़ेगा चमत्कारिक प्रभाव

12. महादशा से भविष्य में कब क्या होगा , इसका अनुमान भी आप भी लगा पाएंगे

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।