नवीन कुमार, मुंबई. हिंदी मनोरंजन चैनलों के बीच इस साल के नंबर वन नन-फिक्शन शो के रूप में दर्शकों के दिलों पर राज करने वाले और देश के सबसे प्रतिभाशाली बाल गायकों की एक से बढ़कर एक सुरीली और धमाकेदार परफमेंर्स पेश करने वाले ज़ी टीवी के टप रेटेड सिंगिंग रियलिटी शो 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' का इस वीकेंड रोमांचक समापन हो गया. जयपुर में हुए इस शो के भव्य फिनाले में इन बेमिसाल गायकों में शामिल श्रेयन भट्टाचार्य और अंजलि गायकवाड़, 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' के विजेता घोषित किए गए. इस वीकेंड कोलकाता के प्रतिभाशाली श्रेयन और अहमदनगर की पावर हाउस ऑफ टैलेंट अंजलि को 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' की ट्रॉफी से नवाजा गया. इस तरह वे दोनों बन गए गायिकी के सुपरस्टार्स. जयपुर जैसे खूबसूरत शहर में हुए इस फिनाले में एक्टर कपिल शर्मा भी नजर आए, जो इस शो में अपनी फिल्म 'फिरंगी' को प्रमोट करने पहुंचे. इसके साथ ही शो के शानदार होस्ट आदित्य नारायण और जजों की बेमिसाल तिकड़ी-हिमेश रेशमिया, नेहा कक्कर और जावेद अली ने भी इस शाम मनोरंजन का मजा दोगुना कर दिया.

अपनी इस जीत को लेकर श्रेयन भट्टाचार्य ने कहा, ''सारेगामापा लिटिल चैंप्स मेरे लिए सीखने का एक शानदार अनुभव रहा. मेंटर्स और ग्रैंड ज्यूरी ने हर कदम पर हमारा साथ दिया और हमारा हौसला बढ़ाया. इससे मुझे मेरी परफामेंर्स संवारने में बहुत मदद मिली. हमारी ट्रेनिंग और प्रैक्टिस सेशन ने हमारे हुनर को बेहतर बना दिया. इस दौरान कुछ ज्यूरी सदस्यों के साथ मेरा गहरा रिश्ता भी बन गया है, जिसे मैं जिंदगी भर याद रखूंगा. मैं सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017 की यह ट्रॉफी जीतकर बेहद रोमांचित महसूस कर रहा हूं और इस शानदार अवसर के लिए ज़ी टीवी का शुक्रिया अदा करता हूं.''

अंजलि गायकवाड़ ने कहा, ''सारेगामापा लिटिल चैंप्स जीतना सपना सच होने जैसा है. मैं अपनी किस्मत को धन्यवाद देती हूं कि मैं ऑडिशन के दूसरे राउंड में चैलेंजर के रूप में चुनी गई और तब से अब तक का यह सफर शानदार रहा. मैंने सभी ज्यूरी सदस्यों और अपने प्रतियोगी साथियों से बहुत कुछ सीखा. हमारे जज और मेंटर-नेहा मैम, जावेद सर और हिमेश सर ने अपने मार्गदर्शन से हमारी प्रतिभा को निखारने में हमारी बहुत मदद की. इस अनुभव से एक व्यक्ति के तौर पर भी मेरा विकास हुआ. मुझे यह अवसर देने के लिए मैं ज़ी टीवी और 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' के प्रतिष्ठित मंच की शुक्रगुजार हूं.''

'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' के एक और सफल सीजन का जश्न मनाते हुए ज़ी टीवी के डिप्टी बिजनेस हेड दीपक राजाध्यक्ष ने कहा, ''ज़ी टीवी पर हमने हमेशा अपने दर्शकों को नई-नई सामग्री दिखाने का प्रयास किया है. सारेगामापा ऐसा ही हमारा एक प्रतिष्ठित शो है. इस शो के जरिये हमने हमेशा नन्हीं प्रतिभाओं को एक ऐसा प्रतिष्ठित मंच देने का प्रयास किया है,जहां पर वे अपना हुनर दिखा सकें. इस शो के दौरान सभी प्रतिभागियों ने कड़ी चुनौतियों का सामना किया, जिससे उनकी गायन प्रतिभा मैं और निखार आया और अंत में इन सभी को बहुत कुछ सीखने को मिला. यह बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं और 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' इन बच्चों के टैलेंट को बढ़ावा देकर उनके एक सफल भविष्य का निर्माण करता है. यह हमारी ब्रांड विचारधारा 'आज लिखेंगे कल' का प्रतीक है. हमें इस बात की खुशी है कि इस सीजन में हमें एक नहीं बल्कि दो विजेता मिले हैं-श्रेयन भट्टाचार्य और अंजलि गायकवाड़. मैं इन नन्हें सितारों को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं.''

इस शो के मेंटर के रूप में अपना अनुभव बताते हुए गायक जावेद अली ने कहा, ''इन बच्चों को बड़ी आसानी से हर चुनौती का मुकाबला करते हुए और उन्हें स्टार परफर्मर के रूप में आगे बढ़ते देखना वाकई खुशी देता है. मैं 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने देश के कोने-कोने से इन प्रतिभाशाली गायकों को चुना और उन्हें अपना हुनर दिखाने का मौका दिया. इस शो के दौरान मैंने इन बच्चों से बहुत कुछ सीखा. यह देखकर सुखद आश्चर्य हुआ कि यह बच्चे बहुत धैर्यवान है और हर प्रतिक्रिया को सहज रूप से लेते हैं. मैं इस अवसर पर हमारे विजेता श्रेयन भट्टाचार्य और अंजलि गायकवाड़ को बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं. जज हिमेश रेशमिया ने कहा, ''सारेगामापा लिटिल चैंप्स का यह सीजन हम सभी के लिए एक मस्ती भरा सफर रहा. इस शो को जज करने से ज्यादा मजा मुझे 'भूकंपों' और 'तूफानों' के बीच संगीत का युद्घ देखने में आया. श्रेयन भट्टाचार्य और अंजलि गायकवाड़ इस जीत के काबिल हैं. मैं इन दोनों को उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं. बेमिसाल गायिका नेहा कक्कर ने कहा, ''मुझे इन बच्चों के साथ गुजारा हुआ हर पल याद रहेगा. हर प्रतिभागी मेरे दिल के करीब है और सही मायनों में इनमें हर एक प्रतिभागी विजेता है लेकिन कहते हैं ना कि केवल एक ही विजेता हो सकता है. हालांकि यह सीजन बेहद खास है क्योंकि हमें दो विजेता मिले हैं. श्रेयन भट्टाचार्य और अंजलि गायकवाड़ सही मायनों में जीत के इस ताज के हकदार हैं.''

'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' के छठवें सीजन ने दर्शकों के साथ एक खास रिश्ता बनाकर उनके दिलों को छू लिया है. हर हफ्ते बच्चों की मधुर आवाज सुनते हुए दर्शक इन सभी प्रतिभाओं से बेहद प्रभावित हुए. इस सीजन में एक से बढ़कर एक प्रतिभाएं देखने को मिलीं जिसके चलते बड़ी संख्या में दर्शकों ने इस शो के लिए अपनी फाइनल वोटिंग की. देश भर से इसे दर्शकों के 1,30,50,000 वोट हासिल हुए जिसके जरिये दर्शकों ने अपने पसंदीदा लिटिल चैंप को वोट दिया. श्रेयन और अंजलि को 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स' की प्रतिष्ठित ट्रफी के साथ 5-5 लाख रुपए का नगद पुरस्कार दिया गया. अन्य रनर अप प्रतिभागियों को 2-2 लाख रुपए की ईनाम राशि से नवाजा गया, क्योंकि इन्हीं प्रतिभागियों ने मुकाबले को और कड़ा कर दिया था. पहले ही हफ्ते से यह शो भारत का नंबर वन सिंगिंग रियलिटी शो बन गया और यही इस शो की जबर्दस्त सफलता का प्रमाण है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. भारत में 431 पाकिस्तानी हिन्दुओं को मिला लंबी अवधि का वीजा, बनवा सकेंगे पैन और आधार कार्ड

2. अब दिल्ली से एक रुपया निकलेगा तो गरीब को 100 पैसे पहुंचेंगे

3. NIA को आदेश, हुर्रियत के गिलानी के प्रति नरम रवैया अपनाए

4. ताज विवाद: राष्ट्र निर्माण सेना ने किया शिव पूजा का ऐलान

5. अंतरिक्ष में दिखी एक रहस्यमयी चीज, वैज्ञानिक भी हैरान

6. अब क्रिकेटरों का भी होगा डोप टेस्ट: खेल मंत्रालय

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. चीन का नया पैंतरा: शी जिनपिंग ने तिब्बती चरवाहों को कहा- बार्डर के पास घर बनाओ

9. फ्रेंच ओपन: किदांबी श्रीकांत ने जापानी खिलाड़ी निशिमोटो को हराकर जीता खिताब

10. कोहली ने तोड़ा विलियर्स का विश्व रिकॉर्ड, कई दिग्गजों को छोड़ा पीछे

11. 31 अक्टूबर देवउठनी एकादशी के साथ शुभ काम शुरू,अब भी विवाह मुहूर्त में है देरी

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।