रविवार सूर्य देव की पूजा का विशेष दिन है. अगर आपके जीवन में कोई भी परेशानी है तो सूर्य देव को प्रसन्न कर अपनी सारी परेशानियों से निजात पा सकते है . सूर्य की कृपा से व्यक्ति को समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है. साथ ही, नौकरी और भाग्य संबंधी परेशानियां भी सूर्य पूजा से दूर हो सकती हैं.

शास्त्रों में सूर्य पूजा के लिए कई मंत्र बताए गए हैं, इन मंत्रों का जप सुबह-सुबह करना चाहिए. रविवार से शुरू करके हर रोज सूर्य मंत्रों का जप करें और सूर्य को जल अर्पित करें. ये उपाय सभी सुख प्रदान करने वाला माना गया है और सूर्य नमस्कार करने से बल, बुद्धि, विद्या, वैभव, तेज, ओज, पराक्रम व दिव्यता आती है.आज हम आपको बता रहे है रविवार के दिन किस तरह पूजा करनी चाहिए जिससे कि सूर्य भगवान जल्द ही आप पर प्रसन्न हो जाए.सूर्य देव का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है क्योंकि यह व्रत सुख और शांति देता है.पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में भगवान सूर्य के अर्घ्यदान की विशेष महत्ता बताई गई है.प्रतिदिन प्रात:काल में तांबे के लोटे में जल लेकर और उसमें लाल फूल, चावल डालकर प्रसन्न मन से सूर्य मंत्र का जाप करते हुए भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर देनी चाहिए.इस अर्घ्यदान से भगवान सूर्य प्रसन्न होकर आयु, आरोग्य, धन, धान्य, पुत्र, मित्र, तेज, यश, विद्या, वैभव और सौभाग्य को प्रदान करते हैं.

सूर्य पूजा में करें इन नियमों का पालन

प्रतिदिन सूर्योदय से पहले ही शुद्ध होकर और स्नान से कर लेना चाहिए.

नहाने के बाद सूर्यनारायण को तीन बार अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

संध्या के समय फिर से सूर्य को अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

सूर्य के मंत्रों का जाप श्रद्धापूर्वक करें.

आदित्य हृदय का नियमित पाठ करें.

रविवार को तेल, नमक नहीं खाना चाहिए तथा एक समय ही भोजन करना चाहिए.

इस तरह आप सूर्य देव की आराधना कर अपने सारे कष्टों से मुक्ति पा सकते है.

सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए पांच नियम

1 – स्नान का उपाय

यदि गोचर के दौरान आपको सूर्य के अशुभ फल मिल रहे हैं तो आप स्नान के पानी में खसखस या लाल रंग के फूल अथवा केसर डालकर स्नान करें. ये सभी वस्तुएं सूर्य देव से संबंधित हैं. इनसे आप सूर्य के अशुभ प्रभाव से बच सकते हैं साथ ही अनके रोगों से भी मुक्ति मिलती है.

2 – सूर्य की वस्तुओं का दान

किसी भी ग्रह की शांति के लिए उससे संबंधित वस्तुओं का दान किया जाता है. सूर्य दोष को खत्म करने के लिए तांबा, गुड़, गेहूं, मसूर की दाल दान करनी चाहिए. रविवार और सूर्य संक्रांति के दिन इनका दान करने से विशेष फल मिलता है. सूर्य ग्रहण के दिन भी सूर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करने से लाभ मिलता है.

3 – सूर्य के मंत्रों का जाप

सूर्य देव के मंत्रों का जाप करके भी आप इसके प्रकोप से बच सकते हैं. प्रतिदिन सूर्य देव के मंत्र – ऊं घूणि: सूर्य आदित्य: का जाप करें. सूर्य देव को समर्पित रविवार के दिन इस मंत्र का जाप करने से सब दुख दूर हो जाते हैं. आप 10, 20 या 108 की संख्या में मंत्रों का जाप कर सकते हैं.

4 – सूर्य यंत्र की स्थापना

आपको बाज़ार से तांबे का सूर्य यंत्र मिल जाएगा. आपको इसे अपने घर के पूजन स्थल में स्थापित करना है. रोज़ सूर्य यंत्र की पूजा करें और इसे धूप-दीप और नैवेद्य दें.

5 – सूर्य देव का हवन करना

सूर्य की शांति के लिए आप हवन भी करवा सकते हैं. यदि सूर्य के गोचर के दौरान आपको अशुभ फल प्राप्त हो रहे हों तो सूर्य देव का हवन जरूर करवाएं.

सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए – सूर्य देव की कृपा पाने के लिए आप उपरोक्त दिए गए उपाय कर सकते हैं. इससे कुंडली में अशुभ प्रभाव दे रहे सूर्य को बल मिलता है और वह प्रसन्न होकर आपके सब दुख दूर करते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. इंतजार खत्म,1 नवंबर से 48 ट्रेनों को सुपरफास्ट बनाने की योजना होगी लागू

2. केंद्र सरकार के रडार पर 2.1 लाख फर्जी कंपनियां, राज्यों से मांगी जानकारी

3. गुजरात चुनाव: आडियो क्लिप ने मचाई सनसनी,शाह के खिलाफ हो रही थी साजिश

4. गोधरा कांड का आरोपी लश्कर आतंकी फरहान गिरफ्तार

5. मासूम बच्ची की बीमारी को देख हरभजन सिंह ने दिए 32 लाख

6. ताज में नमाज पर लगे रोक, नहीं तो शिव पूजा की भी इजाजत मिले: संघ

7. बैंकों को नोटबंदी की तैयारी के लिये समय दिया जाना चाहिए था: अरुंधति भट्टाचार्य

8. किसी रोबोट को नागरिकता देने वाला पहला देश बना सऊदी अरब

9. बंद होगा RCom का वायरलेस बिजनेस, हजारों लोग होंगे बेरोजगार

10. राम रहीम के चेले का खुलासा, हनीप्रीत को मिला था पंजाब पुलिस का संरक्षण

11. जानिये कुंडली के प्रत्येक भाव एवं लग्न में उपस्थित शनि के कष्ट निवारण के उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।