हर व्यक्ति यह जानना चाहता है कि उसकी कुल आयु कितनी है. अगर आप भी यह जानना चाहते हैं तो बहुत आसानी से इस रहस्य को जान सकते हैं क्योंकि जीवन के साथ ही व्यक्ति अपनी मृत्यु भी साथ लेकर आता है. व्यक्ति कहीं भी रहे मृत्यु सदा उसके पीछे-पीछे चलती है समय पूरा होने पर उसे अपने साथ लेकर चल देती है. इसलिए मृत्यु से डरने की बजाय अपनी कुल आयु का ज्ञान प्राप्तकर हर व्यक्ति जीवन का आनंद प्राप्त कर सकता है. यहां एक बात बता दें कि व्यक्ति अपने कर्मों से अपनी आयु कुछ कम या ज्यादा भी कर सकता है. जिसका उल्लेख शास्त्रों और पुराणों में भी हुआ है.

यहां हम आपको हस्तरेखा विज्ञान की उन चार विधियों को बता रहें जिनसे आप अपनी आयु का रहस्य जान सकते हैं. आयु का रहस्य जानने के लिए सबसे पहले तो आयु रेखा को देखा जाता है.

हथेली में नीच मंगल स्थान से शुक्र पर्वत को गोल घेरते हुए मणिबंध तक पतली स्पष्ट और अटूट रेखा जा रही हो तो यह पूर्ण आयु रेखा होती है. ऐसे में व्यक्ति 70 साल से अधिक जीवित रह सकता है. लेकिन आयु रेखा को कोई रेखा कहीं पर काट रही हो और जीवन रेखा आगे नही बढ़ रही हो तो यह शुभ सूचक नहीं होता है. अगर रेखा कटने के बाद आगे बढ़ रही हो तो जीवन में कष्ट होगा लेकिन खतरा टल जाएगा.

कई लोगों की हथेली में जीवनरेखा पर बहुत से कट के चिह्न होते हैं ऐसे में जीवन रेखा को समझना कठिन होता है. इसलिए कुछ आसान तरीका भी है जिनसे आप अपनी आयु का रहस्य जान सकते हैं.

हथेली मे सबसे ऊपर कलाई के पास गोल रेखाएं होती हैं जिन्हें मणिबंध रेखा कहते हैं. मणिबंध रेखा से आयु का काफी हद तक अनुमान निकाल सकते हैं. हस्तरेखा विज्ञान में प्रत्येक मणिबंध रेखा की आयु 25 वर्ष मानी गयी है यानी कलाई में जितनी संख्या में मणिबंध रेखा होती है व्यक्ति की आयु उसी अनुरूप होती है. ध्यान देने वाली बात है कि इनकी संख्या किसी भी व्यक्ति की हथेली में अधिकतम चार हो सकती है. यानी किसी की हथेली में दो मणिबंध रेखा है तो यह माना जाता है कि उनकी आयु 45 से 50 साल हो सकती है.

अपनी आयु के बारे मे जानने का तीसरा तरीका है माथे की लकीरों को देखें. मणिबंध रेखा की तरह माथे की लकीरों को देखकर भी आयु का अनुमान लगाया जा सकता है. माथे की हर रेखा 20 वर्ष की आयु को दर्शाती है. यानी माथे पर जितनी साफ, स्पष्ट और अटूट रेखा होगी जो माथे के एक सिरे से दूसरे सिरे तक जाती हो तो व्यक्ति की आयु उतनी ही 20 साल होगी. यानी तीन ऐसी रेखा होने पर व्यक्ति की आयु 50 से 55 साल हो सकती है.

अपनी आयु को जानने का एक अन्य तरीका है जिसमे में आप अपनी उंगली की लंबाई से यह रहस्य जान सकते हैं. भविष्य पुराण में बताया गया है कि अपनी उंगली से शरीर नापने पर जो व्यक्ति 108 उंगली का होता है वह दीर्घायु होता और ऐसे व्यक्ति 70 से अधिक साल तक जीने वाले होते हैं. शरीर की लंबाई 100 उंगली होने पर मध्यम आयु होती है जबकि 90 उंगली या उससे कम होने पर व्यक्ति अल्पायु होता है

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. महिला सशक्‍त‍िकरण के ज़माने में महिला शक्ति का कारनामा, खोद डाले 190 कुए

2. महिला टीवी एंकर ने घूंघट में किया लाइव शो, वीडियो हुआ वायरल

3. अच्छी खबर: अब बैंकों में ही बनेंगे और अपडेट होंगे आधार कार्ड

4. भारत में अगस्त तक उपलब्ध होंगे Nokia 5 व Nokia 6 स्मार्टफोन

5. VIDEO: लव एट फर्स्ट साईट, कभी-कभी गलत भी हो जाता है, देखें वीडियो

6. अदरक के इस्तेमाल से पाए डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा

7. क्या रहस्य है शिव की तीसरी आंख में, जानते हैं उनसे जुड़ें प्रतीक चिह्नों का महत्व

8. #lipstickrebellion कैम्पन को सपोर्ट करता 'काम्या पंजाबी' का ये टॉपलेस फोटोशूट

9. एलिजाबेथ ने न्यूड फोटो शेयर कर फैंस को किया मदहोश

10. यदि चैन की नींद सोना चाहते हैं तो इन वास्तु नियमों का अवश्य ध्यान दें

11. सालों बाद ऐसा संयोग: सोमवार को शुरू हो, सोमवार को ही खत्म होगा सावन

12. ब्रिटिश सिंगर 'एड शीरन' ने 'ट्विटर' को कहा बाय-बाय; जानिए क्या था कारण

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।