सूर्य और चंद्र पर पड़ने वाले ग्रहण के समय की पक्ष कुंडलियों का अध्ययन राजनीति, मौसम, कृषि, युद्ध, भूकंपन आदि की भविष्यवाणियों के लिए सदियों से किया जाता रहा है. ग्रहण के समय सूर्य-चन्द्रमा की राशि-नक्षत्र की स्थिति और राहु-केतु के अक्ष के आधार पर यह पता लगाया जाता है कि किस दिशा और क्षेत्र में इस खगोलीय घटना के क्या प्रभाव होंगे.

कहां-कहां दिखेगा चन्द्र और सूर्यग्रहण:

अगस्त के महीने में श्रवण पूर्णिमा (7/8 अगस्त) को आंशिक चंद्र ग्रहण लगेगा जो कि भारत के साथ-साथ दक्षिण-पूर्व एशिया, यूरोप, अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा. बाद में भाद्रपद अमावस्या (21 /22 अगस्त) को पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई देगा जो कि केवल नार्थ-अमेरिका में ही दृश्य होगा. अमेरिका में दिखाई देने वाला यह सूर्य ग्रहण अपने आप में विशेष है जो कि इस बड़े भूभाग के 48 राज्यों, अलास्का और हवाई को छोड़कर, पश्चिम से पूर्वी तट तक सम्पूर्ण रूप से दिखाई देगा.

हो सकती हैं ये घटनाएं:

सिंह राशि में पड़ रहा यह सूर्य ग्रहण अमेरिका की कुंडली तथा इसके वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लग्न को प्रभावित करेगा. संजोग से अमेरिका और डोनाल्ड ट्रम्प दोनों की कुंडली सिंह लग्न की है. सिंह राशि में पड़ रहे इस सूर्य ग्रहण के प्रभाव से अमेरिका अगस्त के अंतिम सप्ताह में या सितम्बर में उत्तर-कोरिया के विरुद्ध कोई बड़ा कदम उठा सकता है. 21 /22 अगस्त के सूर्य ग्रहण के समय सिंह राशि पर पड़ रही शनि की दृष्टि युद्ध और आग लगने की घटनाओं की ओर संकेत दे रही है.

भारत पर ग्रहण का प्रभाव:

मघा नक्षत्र को पीड़ित कर रहा यह ग्रहण दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में जोरदार भूकंपन भी ला सकता है. भारत पर इस सूर्य ग्रहण का प्रभाव देखे तो पराशर ऋषि के उक्ति के अनुसार भाद्रपद महीने में पड़ने वाले सूर्य ग्रहण से बंगाल, उड़ीसा, मगध (वर्तमान बिहार और झारखण्ड ) में खेती का नाश हो सकता है और अमंगलकारी घटनाएं घटित हो सकती हैं. ग्रहण के समय मंगल जलीय राशि कर्क तथा शनि वृश्चिक में गोचर कर रहा होगाl 21 /22 अगस्त की अमावस्या के आसपास किसी सुमद्री तूफान से उड़ीसा, बंगाल और बिहार में अतिवृष्टि होने के योग बन रहे हैं.

पाकिस्तान और चीन के साथ क्या होगा:

इससे पहले श्रवण पूर्णिमा के दिन होने वाले ग्रहण के विषय में अद्धभुतसागर ग्रन्थ पराशर के मत अनुसार यह कहता है कि चीन, कश्मीर, पुलिंद और गांधार (वर्तमान पाकिस्तान और अफगानिस्तान) में अशुभ घटनाएं हो सकती हैं l 7 /8 अगस्त को पड़ने वाली श्रवण पूर्णिमा का ग्रहण पाकिस्तान, चीन और अफगानिस्तान के लिए अमंगलकारी होगा. मकर राशि में पड़ रहे इस चंद्र ग्रहण के प्रभाव से भारत को कश्मीर और तिब्बत से लगी सीमा पर पाकिस्तान और चीन की ओर से किसी सैन्य आक्रमण का भी सामना करना पड़ सकता है ऐसी आशंका है. श्रवण पूर्णिमा के ग्रहण के 15 दिन के भीतर कश्मीर में आतंकी घटनाएं और सीमा पर युद्ध के हालत भारत सरकार के लिए चिंता का कारण बन सकते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. महिला सशक्‍त‍िकरण के ज़माने में महिला शक्ति का कारनामा, खोद डाले 190 कुए

2. महिला टीवी एंकर ने घूंघट में किया लाइव शो, वीडियो हुआ वायरल

3. अच्छी खबर: अब बैंकों में ही बनेंगे और अपडेट होंगे आधार कार्ड

4. भारत में अगस्त तक उपलब्ध होंगे Nokia 5 व Nokia 6 स्मार्टफोन

5. VIDEO: लव एट फर्स्ट साईट, कभी-कभी गलत भी हो जाता है, देखें वीडियो

6. अदरक के इस्तेमाल से पाए डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा

7. क्या रहस्य है शिव की तीसरी आंख में, जानते हैं उनसे जुड़ें प्रतीक चिह्नों का महत्व

8. #lipstickrebellion कैम्पन को सपोर्ट करता 'काम्या पंजाबी' का ये टॉपलेस फोटोशूट

9. एलिजाबेथ ने न्यूड फोटो शेयर कर फैंस को किया मदहोश

10. यदि चैन की नींद सोना चाहते हैं तो इन वास्तु नियमों का अवश्य ध्यान दें

11. सालों बाद ऐसा संयोग: सोमवार को शुरू हो, सोमवार को ही खत्म होगा सावन

12. ब्रिटिश सिंगर 'एड शीरन' ने 'ट्विटर' को कहा बाय-बाय; जानिए क्या था कारण

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।