मॉस्को. रूस के रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि आतंकी संगठन इसलामिक स्टेट का सरगना अबू बकर अल बगदादी सीरियाई शहर रक्का के पास उसके एक हवाई हमले में मारा गया होगा. रूसी सरकारी मीडिया की खबरों के मुताबिक रूसी सुखोई लड़ाकू विमानों ने 28 मई की रात रक्का के पास आइएस की एक कमान चौकी पर 10 मिनट तक हवाई हमला किया. वहां संगठन के शीर्ष नेताओं की बैठक हो रही थी.

तास समाचार एजेंसी ने मंत्रालय के हवाले से कहा, सूचना के अनुसार, जिसकी विभिन्न माध्यमों से पुष्टि करने की कोशिश की जा रही है, बैठक में आईएस का सरगना इब्राहिम अबू बकर अल बगदादी भी मौजूद था, जो हमले में मारा गया. मंत्रालय ने कहा कि आइएस के नेता तथाकथित दक्षिणी कॉरिडोर के जरिये शहर से निकलने की योजना बनाने के लिए एकत्र हुए थे. हमले के बारे में अमेरिका को सूचना दे दी गयी है. ड्रोन विमानों की मदद से आतंकी परिषद की बैठक के ठिकाने की पुष्टि होने के बाद हवाई हमला किया गया. 

अन्य सरकार संचालित मीडिया ने कहा कि 300 से अधिक आतंकवादी मारे गये.हालांकि, पहले भी बगदादी के मारे जाने की खबरें आती रही हैं. पर, यह पहली बार है जब रूस ने कहा है कि उसके हमले में आइएस सरगना के मारे जाने की संभावना है. इससे पहले कई बार मीडिया की खबरों में कहा जा चुका है कि बगदादी अमेरिका नीत गंठबंधन के हवाई हमलों में मारा गया या बुरी तरह घायल हो गया. बगदादी की उम्र 40 से 50 के बीच बतायी जा रही है. 

तीन साल पहले इराकी शहर मोसुल का खुद को खलीफा घोषित करने के बाद से उसे सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया था.अक्तूबर 2011 में अमेरिका ने बगदादी को आधिकारिक रूप से एक आतंकवादी घोषित कर दिया था. उसने उसे पकड़वाने या मारने के लिए किसी तरह की सूचना देनेवाले के लिए 2.5 करोड डॉलर के इनाम की पेशकश की थी. खबरों पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लैवरोव ने संवाददाताओं से कहा कि अभी इस बारे में शत प्रतिशत पुष्टि नहीं की जा सकी है कि इसलामिक स्टेट का सरगना अल बगदादी मारा गया है. लैवरोव ने कहा, अभी तक मेरे पास सूचना की शत प्रतिशत पुष्टि नहीं है. 

वहीं, अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने कहा कि वे फिलहाल खबरों की पुष्टि नहीं कर सकते.सीरिया और इराक में आइएस के खिलाफ अमेरिका नीत गंठबंधन के अभियान के प्रवक्ता कर्नल रेयान डिल्लन ने कहा, इस समय इन खबरों की पुष्टि नहीं कर सकते. बीबीसी के अनुसार सीरिया सरकार की ओर से कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं आयी है. इसने कहा कि बगदादी की मौत की खबर पर अब तक आइएस के समर्थकों की ओर से बहुत कम प्रतिक्रया आयी है. आइएस से सहानुभूति रखनेवाले आम तौर पर इस तरह की खबरों की अनदेखी करते हैं या उनका मजाक उड़ाते हैं क्योंकि पहले भी बगदादी के मारे जाने के बारे में कई बार खबरें आ चुकी हैं. आतंकी संगठन के एक बड़े समर्थक ने मेसेजिंग एप टेलीग्राम पर एक पोस्ट साझा कर बगदादी के मारे जाने की खबर का खंडन किया और कहा कि जब भी आइएस का कोई नेता मारा जाता है तो संगठन इस बारे में खबर को छिपाता नहीं है. उसने उम्मीद जतायी कि बगदादी यह साबित करने के लिए जल्द दिखेगा कि वह जिंदा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. बापू को चतुर बनिया कहने पर अमित शाह के खिलाफ राजनैतिक विवाद शुरु

2. अतीत के यादों में दफन हो जायेगी धनबाद-चंद्रपुरा रेललाईन, ट्रेनों का परिचालन होगा बंद

3. बढ़ती जनसंख्या से परेशान पाकिस्तान, तीन पुरूषों के 96 बच्चे

4. ममता की चेतावनी, कानून का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करेगी सरकार

5. तमिलनाडु में गर्भवती महिलाओं का रजिस्‍ट्रेशन होगा अनिवार्य

6. कर्नाटक में कांग्रेस सरकार ने बनाया किसान का मजाक, दिया 1 रुपये मुआवजा

7. कुमार विश्वास बोले - जो धान की कीमत दे न सका, वो जान की कीमत क्या जाने

8. दीपिका पादुकोण की जुड़वा तो नहीं है ये साउथ एक्ट्रेस

9. मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज को राज्यभंग का योग, शांति होगी

10. जानिये स्वर्ण मंदिर के अनसुने तथ्य

11. भगवान ऋण मुक्तेश्वर के पूजन से ही मनुष्य ॠणों से मुक्त हो जाता, देखें वीडियो

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।