लंदन: प्रथम महिला सिख सांसद और प्रथम पगड़ीधारी सांसद चुने जाने के साथ ब्रिटेन के आम चुनाव के नतीजों में ‘हाउस ऑफ कॉमंस' में भारतीय मूल के सांसदों की संख्या में कुछ इजाफा हुआ है. ताजा नतीजों से संकेत मिलता है कि लेबर पार्टी ने भारतीय सांसदों के मामले में अपना रिकाॅर्ड बेहतर किया है. इस बार यह संख्या बढ़ कर पांच से सात हो गयी है.

टोरी ने भारतीय मूल के पांच सांसदों की संख्या कायम रखी है. इस तरह साल 2015 में रही भारतीय मूल के सांसदों की संख्या अब बढ़ कर 12 हो गयी है. लेबर पार्टी की प्रीत कौर गिल ने बर्मिंघम एजबास्टन सीट 24,124 वोटों से जीती है. उन्होंने कंजरवेटिव पार्टी के उम्मीदवार को 6,917 वोटों के अंतर से हराया है.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुश हूं कि मुझे एजबास्टन का अगला सांसद बनने का अवसर दिया गया. यहां मेरा जन्म और मेरी परवरिश हुई है. मैं मेहनत और लगन के साथ एजबास्टन की जनता के साथ सहयोग बढ़ाना चाहती हूं. मुझे लगता है कि हम मिल कर बड़े लक्ष्य हासिल कर सकते हैं.

जीत दर्ज करने वाले दूसरे उम्मीदवार तनमनजीत सिंह देसाई, जिन्हें तान के नाम से भी जाना जाता है, ने स्लोघ सीट 34, 170 मतों से जीती है. वह लेबर पार्टी के प्रथम सिख सांसद बन गये हैं. उन्हाेंने कंजरवेटिव पार्टी के प्रतिद्वंद्वी को 16,998 वोटों से हराया. देसाई ने कहा कि वह वह उस शहर की सेवा करना चाहते हैं, जहां उनका जन्म हुआ है.

सिख फेडरेशन यूके ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘सारा श्रेय लेबर पार्टी को जाता है, जिसने सिखों को जीतनेवाली सीटों पर चुनाव लड़ने का अवसर देने का साहसिक कदम उठाया.'' लेबर पार्टी के दूसरे पगड़ीधारी सिख कुलदीप सहोता को कंजरवेटिव पार्टी के अपने प्रतिद्वंद्वी से महज 720 वोटों से शिकस्त का सामना करना पड़ा. कंजरवेटिव पार्टी की प्रीति पटेल ने एसेक्स के विथम में अपना कब्जा कायम रखा है. आलोक शर्मा रीडिंग वेस्ट में और शैलेश वारा कैम्ब्रिजशायर नार्थ वेस्ट से जीते हैं. ऋषि सुनाक और सुएला फर्नांडीस (टोरी) ने भी अपनी सीट पर कब्जा कायम रखा है. 

लेबर पार्टी के सबसे लंबे समय से भारतीय मूल के सांसद कीथ वाज ने अपनी सीट लीसेस्टर ईस्ट पर अपना कब्जा कायम रखा, जबकि उनकी बहन वलेरी वाज ने वलसाल साउथ सीट पर जीत दर्ज की. लेबर पार्टी की लीजा नंदी विगान से, सीमा मल्होत्रा फेल्थम एंड हेस्टन से और वीरेंद्र शर्मा ने ईलिंग साउथहॉल सीट पर जीत दर्ज की है. वहीं, दूसरी ओर शिकस्त का सामना करने वाले भारतीय मूल के प्रमुख उम्मीदवारों में लेबर पार्टी के डॉ नीरज पाटिल शामिल हैं. वह ब्रिटेन के शिक्षा मंत्री जस्टिन ग्रीनिंग (कंजरवेटिव) से 1,554 वोटों से हारे हैं. गौरतलब है कि लेबर पार्टी ने भारतीय मूल के 15 और कंजरवेटिव पार्टी ने 13 नेताओं को अपने-अपने उम्मीदवार के तौर पर उतारा था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. भारत हर स्थिति में अफ्रीका के साथ खड़ा रहेगा: पीएम मोदी

2. कोलगेट मामले में कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल को समन जारी

3. नौशेरा में भारतीय 'कार्रवाई' का पाक ने किया खंडन

4. लोन डिफॉल्टरों की सूची सार्वजनिक करने से आरबीआई का इंकार

5. अमरनाथ यात्रा पर मंडरा रहा खतरा!, गृह मंत्रालय ने की हाई लेवल मीटिंग

6. तांत्रिक चंद्रास्वामी का निधन, नेता से लेकर अभिनेता तक झुकाते थे सिर

7. घरेलू स्तर पर वैवाहिक मांग आने से सोने-चांदी की कीमतों में उछाल

8. दिल्ली एमसीडी उपचुनाव: आप व कांग्रेस प्रत्याशी जीते, भाजपा प्रत्याशियों को मिली करारी हार

9. स्पाइसजेट कराएगी सिर्फ 12 रुपए में हवाई सफर

10. वायुसेना का विमान सुखाई-30 लापता, सर्च ऑपरेशन जारी

11. इस तरह साजएं बेकार पड़ी वाइन बोतल से घर

12. अच्छे लड़के के साथ डेटिंग करना चाहती हैं एमी शूमर

13. 2 बच्चों की मां ने चौथी बार एवरेस्ट चढ़कर किया भारत का सिर गर्व से ऊंचा, रचा नया इतिहास!

14. सूर्य की पुत्री के साथ भगवान हनुमान की हुई थी शादी, तेलंगाना में पत्नी के साथ एक मंदिर

15. यदि कुंडली में सूर्य शनि हों एक साथ तो झेलने पड़ेंगे दुष्परिणाम

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।