अस्ताना. शंघाई सहयोग संगठन के बैठक में हिस्सा लेने गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवाज शरीफ के बाद शुक्रवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिले. भारत हाल ही में सीमा विवाद के चलते सीपीईसी और बन बेल्ट वन रोड का विरोध कर चुका है ऐसे में यह मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है. 

मोदी ने जिनपिंग से कहा कि शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन के दौरान आपसे मिलने का एक और अवसर मिला. साथ ही पीएम ने एससीओ मेंबरशीप के लिए चीन की ओर से भारत के समर्थन पर भी उनकी सराहना की.

दोनों नेताओं ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे और परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत की सदस्यता के मुद्दे पर बढ़ते मतभेदों के बीच दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को सुधारने के तरीकों पर चर्चा की.

भारत द्वारा बेल्ट एंड रोड फोरम का बहिष्कार किए जाने के बाद दोनों नेताओं के बीच की यह पहली मुलाकात है. पिछले माह बीजिंग में आयोजित इस फोरम का भारत ने बहिष्कार किया था. इसमें विश्व के 29 नेताओं ने हिस्सा लिया था. बेल्ट एंड रोड पहल के तहत बनने वाले 50 अरब डॉलर के चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे से जुड़ी अपनी चिंताओं को रेखांकित करने की वजह से भारत इस सम्मेलन में नहीं गया था. यह गलियारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में गिलगित और बाल्टिस्तान से होकर गुजरता है.

प्रधानमंत्री मोदी और शी यहां शंघाई सहयोग संगठन के वार्षिक शिखर सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे हैं. शी के साथ मुलाकात के बाद मोदी ने ट्वीट किया, हमने भारत और चीन के संबंधों पर तथा इन्हें सुधारने पर चर्चा की. चीन 48 सदस्यीय परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत का प्रवेश रोकने के अपने रूख को लेकर मुखर है. उसने संयुक्त राष्ट्र से जैश-ए-मुहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के भारत के प्रयास को भी अवरूद्ध कर दिया था.

अस्ताना के बाद मोदी और शी अगले माह जर्मनी के हैम्बर्ग में होने वाले जी20 सम्मेलन में भी मिल सकते हैं. इसके बाद सितंबर में ब्रिक्स सम्मेलन का आयोजन चीन में होगा. एससीओ से इतर मोदी ने उज्बेक राष्ट्रपति शावकत मिजीर्योयेव से भी मुलाकात की. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्ताना में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन से इतर आज चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की. 

दोनों देशों के बीच चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे और परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत की सदस्यता के मुद्दे पर बढ़ते मतभेदों

बेल्ट एंड रोड पहल के तहत बनने वाले 50 अरब डॉलर के चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे से जुड़ी अपनी चिंताओं को रेखांकित करने के लिए भारत इस सम्मेलन में नहीं गया. यह गलियारा पाक अधिकृत कश्मीर में गिलगित और बाल्टिस्तान से होकर गुजरता है. प्रधानमंत्री मोदी और शी यहां शंघाई सहयोग संगठन के वार्षिक शिखर सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे हैं.  

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बाग्ले ने ट्वीट किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्ताना में एससीओ सम्मेलन से पहले चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की.

वहीं इससे पहले SCO में भाग लेने गुरुवार को कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना पहुंचे पीएम मोदी ने कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबाऐव द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में भी शिरकत किया. इस समारोह में पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ भी शामिल थे. गौरतलब है कि SCO सम्मेलन में इस बार भारत और पाकिस्तान को भी बतौर पूर्ण सदस्य शामिल किया जा रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. भारत हर स्थिति में अफ्रीका के साथ खड़ा रहेगा: पीएम मोदी

2. कोलगेट मामले में कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल को समन जारी

3. नौशेरा में भारतीय 'कार्रवाई' का पाक ने किया खंडन

4. लोन डिफॉल्टरों की सूची सार्वजनिक करने से आरबीआई का इंकार

5. अमरनाथ यात्रा पर मंडरा रहा खतरा!, गृह मंत्रालय ने की हाई लेवल मीटिंग

6. तांत्रिक चंद्रास्वामी का निधन, नेता से लेकर अभिनेता तक झुकाते थे सिर

7. घरेलू स्तर पर वैवाहिक मांग आने से सोने-चांदी की कीमतों में उछाल

8. दिल्ली एमसीडी उपचुनाव: आप व कांग्रेस प्रत्याशी जीते, भाजपा प्रत्याशियों को मिली करारी हार

9. स्पाइसजेट कराएगी सिर्फ 12 रुपए में हवाई सफर

10. वायुसेना का विमान सुखाई-30 लापता, सर्च ऑपरेशन जारी

11. इस तरह साजएं बेकार पड़ी वाइन बोतल से घर

12. अच्छे लड़के के साथ डेटिंग करना चाहती हैं एमी शूमर

13. 2 बच्चों की मां ने चौथी बार एवरेस्ट चढ़कर किया भारत का सिर गर्व से ऊंचा, रचा नया इतिहास!

14. सूर्य की पुत्री के साथ भगवान हनुमान की हुई थी शादी, तेलंगाना में पत्नी के साथ एक मंदिर

15. यदि कुंडली में सूर्य शनि हों एक साथ तो झेलने पड़ेंगे दुष्परिणाम

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।