नई दिल्ली. आर्थिक विकास के मोर्चे पर सरकार ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) साल 2016-17 में 7.1 फीसदी रहने का अनुमान है वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी वृद्धि दर 7.1 फीसदी रहने का अनुमान दिया गया है जबकि वर्ष 2015-16 में यह 7.6 फीसदी पर थी. आपको बता दें कि पिछली क्रेडिट पॉलिसी में आरबीआई ने भी ग्रोथ की रफ्तार के अनुमान को 0.5 फीसदी घटाकर 7.1 फीसदी कर दिया था. 7.1 फीसदी विकास दर का अनुमान पिछले 3 साल का निचला स्तर है. जीडीपी ग्रोथ का अनुमान कारोबारी साल के पहले 7 महीने के औद्योगिक उत्पादन के आधार पर लगाया गया है, यानि नोटबंदी के असर को इसमें शामिल नहीं किया गया है.

वित्त वर्ष 2016-17 में प्रति व्यक्ति आय इससे पिछले साल के मुकाबले 10.4 फीसदी बढ़कर 1,03,007 रुपये होने का अनुमान है. सीएसओ ने वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी वृद्धि दर 7.1 फीसदी रहने का अनुमान दिया है जबकि वर्ष 2015-16 में जीडीपी 7.6 फीसदी पर थी. सीएसओ की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक साल 2011-12 के आधार वर्ष पर मौजूदा मूल्य के हिसाब से जीडीपी का स्तर 121.55 लाख करोड़ का है जबकि आधार वर्ष 2015-16 पर जीडीपी का प्रोविजन एस्टीमेट 113.50 लाख करोड़ का है. वहीं वित्त वर्ष 2017 में जीवीए ग्रोथ का अनुमान भी घटाकर 7 फीसदी कर दिया गया है जो कि पहले 7.2 फीसदी बताया गया था.

जीडीपी ग्रोथ में सुस्ती का ये कारण

जीडीपी ग्रोथ का अनुमान कारोबारी साल के पहले 7 महीने के औद्योगिक उत्पादन के आधार पर लगाया गया है, यानि नोटबंदी के असर को इसमें शामिल नहीं किया गया है. एस्टीमेट के मुताबिक जीडीपी ग्रोथ में सुस्ती की वजह मैन्युफैक्चरिंग, माइनिंग और कंस्ट्रक्शन सेक्टर में कमजोरी रही. हालांकि इस एस्टीमेट को तैयार करते समय नोटबंदी के बाद बदले हालात को अलग रखा गया है. इस संबंध में इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने जीडीपी ग्रोथ पर ग्लोबल इकोनॉमिक स्लोडाउन का असर पड़ने की बात कही. गौरतलब है कि नोटबंदी का फैसला बीते 8 नवंबर को लिया गया था.

जीवीए ग्रोथ का अनुमान भी घटा

साथ ही वित्त वर्ष 2017 में जीवीए ग्रोथ का अनुमान भी घटाकर 7 फीसदी कर दिया गया है. पहले वित्त वर्ष 2017 में जीवीए ग्रोथ का अनुमान 7.2 फीसदी था. जीडीपी ग्रोथ का अनुमान कारोबारी साल के पहले 7 महीने के औद्योगिक उत्पादन के आधार पर लगाया गया है. गौर करने वाली बात यह है कि इसमे नोटबंदी के असर को शामिल नहीं किया गया है.

कृषि की स्थिति बेहतर होने के आसार

कृषि की स्थिति बेहतर होने के आसार हैं. सरकार की ओर से जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक कृषि के हालात बीते साल के मुकाबले बेहतर रह सकते हैं. आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2017 में कृषि सेक्टर की ग्रोथ 4.1 फीसदी रहने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2016 में कृषि सेक्टर की ग्रोथ 1.2 फीसदी रही थी.


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए 2017 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. मोदी सरकार हर नागरिक को देगी घर बैठे सैलरी!

2. जियो को टक्कर देने के लिए यह कंपनी 99 रुपये में देगी अनलिमिटेड कॉल और 2 GB डाटा

3. तमिलनाडु... अभी तो राजनीति शुरू हुई है!

4. मोदी के मंच पर नहीं मिली लालू को जगह

5. एयर इंडिया, अब राजधानी एक्सप्रेस से भी कम किराए में करें हवाई सफर

6. सपा का दंगल: अखिलेश के पक्ष में 200 विधायकों ने किया दस्तखत

7. 1 किलो गैस में 130 किमी चलेंगे ये CNG किट से लैस स्कूटर

8. दागी नेताओं के चुनाव लडऩे पर लग सकती है रोक!

9. गिनती के बाद जारी किए जाएंगे पुराने नोटों की सही संख्या: आरबीआई

10. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश: समय पर पूरी हो विमान 'घोटाले' की जांच

11. खबरंदाजी 'कमाल की धमाल, ओपिनियन पोल के जाल!

12. जिसकी तर्जनी और छोटी उंगली बराबर होती है वो लोग बहुत अधिक बुद्धिमान होते

13. दंगल की रियल लाईफ पहलवानों का ये धाकड़ फोटोशूट 3 करोड़ लोग देख चुके है

14. मोटो G टर्बो एडिशन पर मिल रही है भारी छूट

15. राजिम के मदिर में रोज आते हैं श्रीहरि, तो वहां अमर आल्हा करते हैं पूजा

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स