बुरहानपुर. नगर में चल रही श्रीमद भागवतकथा का शुक्रवार को पांचवां दिनथा। इस दौरान श्रीकृष्ण.रुक्मणि का विवाह कराया गया। विधि विधान से हुए अनुष्ठान के दौरान श्रद्धालु भाव वि भोर होकर झूम उठे। पंडाल में श्रीकृष्ण.रुक्मणिके पहुंचते ही हरतरफ से फूल बरसा । व्यास पीठपर वि राजित नारायण महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण और रुक्मणि केवि वाह की कथा सुनाई। महाराजश्री ने कहा वि दर्भ के राजा की कन्याथी रुक्मणि । पिता बेटी की शादी शिशुपाल से करना चाहते थे। लेकि नरुक्मणि श्रीकृष्ण को मन ही मनअपना पति मान चुकी थी। इसलि एरुक्मिणी को घर में बंद कर दिया गयाथा। यहीं से रुक्मणि ने पहला प्रेमपत्र श्रीकृष्ण को लि खा था। पत्र पातेही भगवान श्रीकृष्ण वि दर्भ पहुंचे।स्वयंवर के दिन रुक्मणि को अपनेसाथ लेकर चल दिए। रुक्मणि केहरण की बात जानकर शिशुपाल वरुक्मणि के भाई अपनी सेना लेकर श्रीकृष्ण से युद्ध करने गए। लेकि न श्रीकृष्ण ने पराजित कर दिया।


************************************************************************************

बॉलीवुड       कारोबार        दुनिया       खेल        इन्फो      राशिफल

************************************************************************************



पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.


Comments-
0

अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स