शाजापुर. आगर के निपानिया बैजनाथ में गमगीन माहौल के बीच दुआओं का दौर जारी है, वहीं प्रशासन द्वारा राहत और बचाव के कार्य भी किए जा रहे है, लेकिन अब तक बोरवेल में गिरे बालक को बाहर निकालने में प्रशासन सफल नहीं हो पाया. सोमवार को ग्राम निपानिया बैजनाथ निवासी अजय पिता कमल सूर्यवंशी 6 वर्ष अपनी मां संगीताबाई के साथ खेत पर गया था. तभी शाम 7 बजे खेलते खेलते बालक समीप स्थित एक खेत पर खुले पड़े 270 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरा था.
गत दिवस शाम साढ़े 5 बजे से शुरू हुआ राहत और बचाव कार्य दूसरे दिन भी जारी रहा.इस दिन रात मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम भी दूसरे दिन मासूम अजय को बोरवेल से बाहर निकालने में सफल नहीं हो पाई. हालांकि बचाव कार्य में लगे जिला प्रशासन और रेस्क्यू दल भोपाल ने पोकलेन और जेसीबी मशीन से सफलता नहीं मिलने के बाद मंगलवार रात 9 बजे उज्जैन से हाईड्रोलोजिकल रिंग मशीन बुलाकर खुदाई कार्य चालू रखा. 270 फीट गहरे इस बोरवेल में फंसे मासूम बालक को निकालने के लिए प्रशासन ने मशक्कत जारी रखी. इस दिन बोरवेल में सीसीटीवी कैमरे के माध्यम् से देखने पर करीब 65 फीट की गहराई पर कीचड़ अधिक दिखाई दिया, जिसे राड डालकर निकालने के बाद बोरवेल में पानी आ गया. 65 फीट की गहराई पर पानी दिखाई तो दिया, लेकिन बालक देर रात 9 बजे तक राहत दल को दिखाई नहीं दिया. पानी बोरवेल में आना चिंता का विषय होने से प्रशासन ने पानी को पीएचई विभाग की मशीनरी के माध्यम् से ऊपर खिचने का प्रयास भी जारी रखा. बोरवेल खनन करने वाले से पुछताछ में यह बोरवेल की 80 फीट ऊपर से नीचे तक 8 इंच की चौड़ाई होना सामने आया. जिस पर बालक के बोरवेल में 65 से 80 फीट के बीच गहराई में कहीं फंसा होना सामने आया है. इधर 28 घंटे के बाद भी बोरवेल में फंसे बालक को निकालने में सफलता नहीं मिलने से दिनभर गम का माहौल बना रहा और बालक की सलामती के लिए दुआओं का दौर भी जारी रहा. मंगलवार को भोपाल से रेस्क्यू दल के कंमान्डर जीतेश अरोड़ा और नीरज रजावत के साथ दो दर्जन से अधिक सैनिक मौके पर पहुंचे और उनके द्वारा भी बचाव कार्य किया गया. इस दिन बोरवेल के समीप दो पोकलेन और तीन जेसीबी मशीन से की जा रही खुदाई करीब 50 फीट तक हो सकी, इसके बाद पत्थर आ जाने से खुदाई की गति धीमी हो गई. हालांकि प्रशासन द्वारा उज्जैन से हाईड्रोलोजिकल रिंग मशीन बुलाकर खुदाई कार्य चालू रखा. अब यह मशीन बोरवेल के समीप तीन फीट रेडियस का करीब 70 फीट गहरा गड्डा करेगी और उसके बाद बोरवेल में फंसे बालक को निकालने के प्रयास किए जाएंगे.
अवैध रूप से हाल ही में कराया था यह उत्खनन
सोमवार को ग्राम निपानिया बैजनाथ में जिस बोरवेल में बालक गिरा वह हाल ही में खेत मालिक द्वारा करवाया जाना सामने आ रहा है. खेत मालिक द्वारा दीपावली के बाद यह उत्खनन करवाया गया था. जिस दौरान क्षेत्र को जल आभावग्रस्त क्षेत्र घोषित कर कलेक्टर द्वारा ऐसे उत्खनन पर प्रतिबंध लगाया गया था. इस अवैध उत्खनन की जानकारी सामने आने के बाद कलेक्टर द्वारा खेत मालिक के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ ऐसे अवैध रूप से हुए उत्खनन पर भी जांच के लिए अधिनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया है.


************************************************************************************

बॉलीवुड       कारोबार        दुनिया       खेल        इन्फो      राशिफल

************************************************************************************



पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.


Comments-
0

अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स