पल पल इंडिया ब्यूरो, बुरहानपुर. जिस शिक्षा के मंदिर में शिक्षण ग्रहण करवाने वाले शिक्षक एवं शिक्षिकाएं अपने कर्तव्य बोध की पूर्ति ईमानदारीपूर्वक करते हो तो निश्चित ही उस शिक्षा के मंदिर में शिक्षण ग्रहण करने के लिए क्षेत्र का हर बच्चा उस स्कूल में पढऩे के लिए उत्सुक होगा. क्योंकि जिस मंशा अनुरूप प्रदेश के हर क्षेत्र का कोई भी बच्चा शिक्षा ग्रहण करने से वंचित न रह जाये. उक्त उदगार जनजाग्रती संस्था के सदस्य महेन्द्र जैनने स्कूल चले हम अभियान के अवसर पर व्यक्त कियेऔर स्कूल द्वारा सभी के सहयोग से इसी उद्देश्य की पूर्तिहेतु बुरहानपुर शहर में सोमवार को सुबह 9 बजे जन जाग्रती संस्था बुरहानपुर एवं शासकीय कन्या प्राथमिक एवं कन्या माध्यमिक शाला चौक की छोटी-छोटी बालिकाओं ने रैली के माध्यम से जन-जन में यहसंदेश पहुंचाने का प्रयास किया कि कोई भी ब'चाबिना शिक्षा के रह न जाये और किसी ने सच ही कहा हैकि बच्चे भगवान का स्वरूप होते है और उनकी आवाजईश्वर अल्लाह की आवाज होती है. रैली के अवसर पर जनजाग्रति संस्था के संरक्षकरामधारी मि ाल, इस अभियान के नोडल अधिकारी वसंस्था प्रमुख महेन्द्र जैन, वार्ड पार्षद प्रदीप राजे, शालाप्रबन्धन समिति दोनों शालाओं के अध्यक्ष कल्पनासोनवणे एवं अनिता गायकवाड, एवं सदस्य, डॉ अषोकगुप्ता, अंजली गडे, मनीषा भोकरदनकर, रजनी गट्टानी,साधना पवार, राजेश भगत आदि मौजुद थे.



Comments-
0